नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है, जिसमें 100 डॉलर के अमेरिकी नोट पर भीमराव अंबेडकर की तस्वीर लगी हुई है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है, ‘जो काम इंडिया में होना चाहिए था, वह काम अमेरिका ने कर दिखाया। It’s a real respect।’

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह तस्वीर गलत साबित होती है। 100 डॉलर के नोट की अब तक कि किसी भी सीरीज पर अंबेडकर की कोई तस्वीर नहीं छपी है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में कहा गया है, ‘जो काम इंडिया में होना चाहिए था, वह काम अमेरिका ने कर दिखाया। It’s a real respect।’ फेसबुक पर इस पोस्ट को अजय प्रताप गौर बस्ती (Ajay Pratap Gaur Basti) ने शेयर किया है, जिसे पड़ताल किए जाने तक 136 बार साझा किया जा चुका है। इस पोस्ट को करीब 1000 लोगों ने लाइक किया है।

पड़ताल

अमेरिकी केंद्रीय बैंक पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, फेडरल रिजर्व फिलहाल 1, 2, 5, 10, 20, 50 और 100 डॉलर के नोट जारी करता है। अमेरिकी करेंसी की छपाई से जुड़े ”ब्यूरो ऑफ एनग्रेविंग एंड प्रिटिंग” के मुताबिक, 100 डॉलर के नोटों की अब तक चार सीरीज आ चुकी है। ”ब्यूरो ऑफ एनग्रेविंग एंड प्रिटिंग”, यूएस डिपार्टमेंट ऑफ ट्रेजरी के अंतर्गत आता है।

100 डॉलर के नोटों की सबसे पहली सीरीज 1914 से 1990 के बीच की थी, जिसमें बेंजामिन फ्रैंकलिन की तस्वीर लगी हुई है, जबकि नोट के पिछले हिस्से पर पोट्रेट फोटोग्राफ की तस्वीर लगी हुई है, जिसे 1929 में बदल दिया गया। 1929 में इसकी जगह इंडिपेंडेंस हॉल ने ले ली। महान दार्शनिक और चिंतक बेंजामिन फ्रैंकलिन संयुक्त राज्य अमेरिका के संस्थापक जनक में से एक थे।



100 डॉलर के नोटों की पहली सीरिज, जिसमें बेंजामिन फ्रैंकलिन की तस्वीर लगी हुई है।

100 डॉलर के नोटों की यह पहली सीरीज थी, जो 1914-1990 के बीच सर्कुलेशन में रहा। इसके बाद इसमें कुछ बदलाव किए गए और दूसरी सीरीज सामने आई, जो 1990-1996 के बीच सर्कुलेशन में रहा। इसके मुताबिक 1920 में अमेरिकी नोटों में डिजाइन को लेकर पहली बार व्यापक बदलाव किया गया, जिसमें अन्य नोटों के साथ 100 डॉलर का नोट भी शामिल था।

100 डॉलर के नोटों की दूसरी सीरीज, जिसमें बेंजामिल फ्रैंकलिन की ही तस्वीर है।

दूसरी सीरीज में नोट के पिछले हिस्से पर इंडिपेंडेंस हॉल की तस्वीर देखी जा सकती है। नोटों की तीसरी सीरीज 1996-2013 के बीच की है, जिसमें सबसे ज्यादा बदलाव सुरक्षा फीचर्स को लेकर किए गए। हालांकि, दूसरी और तीसरी सीरीज में भी नोट के अगले हिस्से पर बेंजामिल फ्रैंकलिन की तस्वीर में कोई बदलाव नहीं हुआ।

100 डॉलर के नोटों की तीसरी सीरीज, जिसमें बेंजामिन फ्रैंकलिन की तस्वीर को देखा जा सकता है।

नोटों की चौथी सीरीज 2013 में जारी हुई, जो अब तक चली आ रही है। इस सीरीज में 100 डॉलर के नोटों में सुरक्षा संबंधी कई बदलाव किए गए। 2013 सीरीज के नोटों में 3-D सिक्योरिटी रिबन और कलर शिफ्टिंग बेल जैसे फीचर्स को शामिल किया गया। इसमें बेंजामिन फ्रैंकलिन का वाटरमार्क पोट्रेट लगाया गया, जिसे रोशनी में नोटों के दोनों तरफ से देखा जा सकता है।

100 डॉलर के नोटों की चौथी सीरीज, जिसमें बेंजामिन फ्रैंकलिन की 3D तस्वीर लगी हुई है।

चौथी सीरीज के नए नोटों में भी बेंजामिल फ्रैंकलिन की तस्वीर ही है। 100 डॉलर के अब तक की सभी सीरीज में नोट के अगले हिस्से पर बेंजामिन फ्रैंकलिन की ही तस्वीर छपती रही है। केवल पहली सीरीज के नोटों में पिछले हिस्से में बदलाव किया गया।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में अंबेडकर की तस्वीर के साथ वायरल हो रहा 100 डॉलर का नोट फर्जी साबित होता है। 100 डॉलर की सभी सीरीज के नोटों पर बेंजामिन फ्रैंकलिन की ही तस्वीर छपती रही है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : 100 डॉलर के नोट पर छपी अंबेडकर की तस्वीर
Claimed By : FB User-Ajay Pratap Gaur Basti‎
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here