X

Fact Check: यह तस्वीर मनाली और लेह को जोड़ने वाली अटल सुरंग की नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: October 7, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा अटल सुरंग का उद्धाटन किए जाने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक तस्वीर को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह उसी सुरंग की तस्वीर है।

क्या हो रहा है वायरल?

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। जिस तस्वीर को भारत के अटल सुंरग का बताकर वायरल किया जा रहा है वह वास्तव में भारत के किसी भी सुरंग की तस्वीर नहीं है।

ट्विटर यूजर ‘Sunil Bharti (west delhi president at MPS’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”पीएम श्री Narendra Modi जी को दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग ‘अटल सुरंग’ के लिए बधाई। यह सुरंग हमारे देश की सीमाओं की रक्षा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। मनाली और लेह के बीच की दूरी भी 4 से 5 घंटे कम हो जाएगी जिससे अर्थव्यवस्था और पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा।”

ट्विटर यूजर ‘Chhail Bihari’ ने भी वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”पीएम श्री @narendramodi जी को दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग ‘अटल सुरंग’ के लिए बधाई। AtalTunnel #AtalTunnelRohtang.”

ट्विटर यूजर ‘Narendra Kumar Chawla’ ने भी इस तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”पीएम श्री @narendramodi जी को दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग ‘अटल सुरंग’ के लिए बधाई। यह सुरंग देश की सीमाओं की रक्षा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।मनाली व लेह के बीच की दूरी भी 4 से 5 घंटे कम हो जाएगी,अर्थव्यवस्था और पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा।AtalTunnelRohtang.”

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन अक्टूबर को लेह को मनाली से जोड़ने वाली अटल सुंरग का उद्धाटन किया था। प्रधानमंत्री कार्यालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी दी गई थी।

‘MyGov Himachal’ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से तीन अक्टूबर को ट्वीट की गई तस्वीरों में इस सुरंग के प्रवेश द्वार को देखा जा सकता है। दी गई जानकारी के मुताबिक, अटल सुरंग रोहतांग बनने से पर्यटन नगरी मनाली से लेह के बीच की दूरी अब 46 किलोमीटर कम हो गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर प्रोफाइल से सुरंग के प्रवेश द्वार समेत अन्य तस्वीरों को साझा किया है, जो वायरल हो रही तस्वीर से बिल्कुल भी मेल नहीं खाती है।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के मंडी के उप-मुख्य संवाददाता और अटल सुरंग के उद्धाटन समारोह को कवर करने वाले हंसराज सैनी ने बताया, ‘वायरल हो रही तस्वीर अटल सुंरग की नहीं है।’ उन्होंने उद्धाटन मौके से ली गई अटल सुरंग की कई तस्वीरें भी भेजी, जो वायरल हो रही तस्वीर से बिल्कुल भी मेल नहीं खाती है।

इसके बाद हमने अटल सुरंग के नाम पर वायरल हो रही तस्वीर के ओरिजिनल सोर्स को खोजने की कोशिश की। गूगल रिवर्स इमेज में हमें यह तस्वीर inspectionservices.net पर मिली।

Source-inspectionservices.net

दी गई जानकारी के मुताबिक, यह तस्वीर कैलिफोर्निया के सैन पेड्रो पहाड़ के नीचे से जाने वाली 4200 फीट लंबी सुरंग की तस्वीर है, जिसे न्यू ऑस्ट्रियन टनल मेथड की मदद से बनाया जा रहा है। कैलिफोर्निया डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्टेशन (कैलट्रांस) इस सुरंग को करीब 34.3 करोड़ डॉलर की लागत से तैयार कर रहा है।

अब इस टनल को आम लोगों के लिए खोला जा चुका है। यूट्यूब पर मौजूद एक वीडियो में इस सुरंग से होने वाले परिवहन को देखा जा सकता है।

वायरल तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को महाराणा प्रताप सेना का प्रेसिडेंट (पश्चिमी दिल्ली) बताया है।

निष्कर्ष: मनाली और लेह को जोड़ने वाले अटल सुंरग के नाम पर वायरल हो रही तस्वीर कैलिफोर्निया के सुरंग की है, जिसे गलत दावे के साथ भारत में हालिया उद्धाटित अटल सुरंग का बताकर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग 'अटल सुरंग' की तस्वीर
  • Claimed By : Narendra Kumar Chawla
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later