X

Quick Fact Check: यह वीडियो तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में हुई मौत से संबंधित नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: June 29, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। तमिलनाडु में कारोबारी पिता और पुत्र की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है, जिसमें कई लोगों को एक व्यक्ति को निर्ममतापूर्वक पीटते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पी. जयराज और उनके बेटे की पिटाई का है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। वायरल हो रहा वीडियो वास्तव में महाराष्ट्र की एक पुरानी घटना से संबंधित है, जिसमें ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक ने अपने ड्राइवर को बुरी तरह से पीटा था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Revival Mark’ ने वायरल वीडियो को शेयर (आर्काइव लिंक) करते हुए तेलुगू में लिखा है, ”சாத்தான் குளத்தில் அப்பாவி வணிகர் ஜெயராஜ் மற்றும் அவரது மகன் பென்னிக்ஸ் ஆகியோரை எடப்பாடியின் ஏவல்துறை கொடுமை செய்த காட்சி ஒன்று வெளியாகி உள்ளது. #சாத்தனின்ஆட்சிசாத்தான்குளமே_சாட்சி JusticeForJeyarajAndFenix.”

हिंदी में इसे ऐसे पढ़ा जा सकता है, ”एडापड्डी पुलिस की निर्मम पिटाई का वीडियो सामने आया है, जिसमें जयराज और उसके बेटे फेनिक्स को शैतानों के हाथों में देखा जा सकता है। #जयराज और फेनिक्स को न्याय दो।”

सोशल मीडिया पर कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, पी. जयराज (62) को 19 जून को पुलिस हिरासत में लिया गया था। पुलिस स्टेशन में जयराज की पिटाई को देखकर उनके बेटे ने मामले में दखल दिया और फिर पुलिस के कई अधिकारियों ने मिलकर दोनों को बुरी तरह से पीटा। लगातार खून बहने और गंभीर चोट की वजह से 22 जून को बेनिक्स और 23 जून को जयराज की मौत हो गई। पुलिस हिरासत में हुई मौत के इस मामले में राज्य सरकार अब सीबीआई जांच की सिफारिश कर चुकी है।

इसके बाद हमने वायरल वीडियो की जांच की, जिसे इस मामले से जोड़कर साझा किया जा रहा है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर पहले भी अलग-अलग दावे के साथ वायरल हो चुका है। वास्तव में वायरल हो रहा वीडियो महाराष्ट्र के नागपुर का है। जुलाई 2019 में एक ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक ने अपने एक ड्राइवर को रस्सीष से बांधकर पीटा था। मामला सामने आने के बाद आरोपी ट्रांसपोर्टर अखिल पोहनकर और अमित ठाकरे के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। न्यूज एजेंसी एएनआई के 29 जून 2019 को किए गए ट्वीट से इस घटना की पुष्टि होती है।

एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, मारपीट के आरोपी अखिल पोहनकर और अमित ठाकरे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। ड्राइवर का नाम विकी अगलावे है, जो नागपुर के कमलेश्वर का रहने वाला है।

यही वीडियो बाद में बीजेपी के काल्पनिक विधायक अनिल उपाध्याय के एक व्यक्ति को निर्ममतापूर्वक पीटे जाने के दावे के साथ वायरल हुआ था, जिसकी पड़ताल विश्वास न्यूज ने की थी। विश्वास न्यूज की पूरी पड़ताल को यहां पढ़ा जा सकता है।

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को तमिलनाडु के मार्तंडम का रहने वाला बताया है।

निष्कर्ष: तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में हुई मौत से जोड़कर जिस वीडियो को वायरल किया जा रहा है, वह महाराष्ट्र के नागपुर में हुई एक पुरानी घटना से संबंधित वीडियो है, जिसमें ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक ने अपने ड्राइवर को बुरी तरह से पीटा था।

  • Claim Review : तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में जयराज और बेनिक्स की पिटाई का वीडियो
  • Claimed By : FB User-Revival Mark
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later