X

Fact Check: गणतंत्र दिवस के मौके पर तृणमूल कांग्रेस के नेताओं द्वारा पार्टी का झंडा फहराए जाने का दावा भ्रामक

गणतंत्र दिवस के मौके पर पुरुलिया जिले में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं द्वारा तिरंगा की बजाए पार्टी का झंडा फहराए जाने का दावा भ्रामक है। गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा को लहराया गया था, लेकिन इस कार्यक्रम के वीडियो को जानबूझकर वैसे एंगल से शेयर किया जा रहा है, जिसमें नेताओं को केवल पार्टी के झंडे को लहराते हुए देखा जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: February 2, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में कुछ लोगों को तृणमूल कांग्रेस के झंडे के नीचे खड़े होकर राष्ट्रगान गाते हुए देखा और सुना जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा फहराए जाने की बजाए अपनी पार्टी के झंडे का ध्वजारोहण किया।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा भ्रामक निकला। वायरल हो रहा वीडियो एक विशेष एंगल से लिया गया वीडियो है, जिसमें केवल तृणमूल कांग्रेस के झंडे को देखा जा सकता है। वास्तव में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने तिरंगे के साथ अपनी पार्टी के झंडे को भी लहराया था और इसी कार्यक्रम के वीडियो के एक हिस्से को ऐसे शेयर किया जा रहा है, जिसमें पार्टी नेता तृणमूल कांग्रेस के झंडे के नीचे राष्ट्रगान गाते हुए नजर आ रहे हैं।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Pratham Byaravalli’ ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ”Reportedly some TMC leaders unfurled TMC Party flag instead of Indian National Flag and desecrated National Anthem on Republic Day in Purulia.” (”कथित तौर पर कुछ टीएमसी नेताओं ने भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के बजाय टीएमसी पार्टी का झंडा फहराया और पुरुलिया में गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रगान को अपवित्र किया।”)

वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीनशॉट

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान दावे के साथ शेयर किया है।

https://twitter.com/MeghBulletin/status/1486579437122379778

पड़ताल

वायरल वीडियो को तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को पार्टी के झंडे के नीचे राष्ट्रगान गाते हुए सुना जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा की बजाए पार्टी के झंडे को फहराया। वीडियो के की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें फेसबुक यूजर ‘Raghunathpur’er Gorbo Mamata’ की प्रोफाइल से संबंधित कार्यक्रम की तस्वीरें मिली। तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि तिरंगा के साथ तृणमूल कांग्रेस के पार्टी झंडे को लहराया जा सकता है। तिरंगा के मुकाबले पार्टी के झंडे का ध्वज भी अपेक्षाकृत कम ऊंचाई पर है।

इस कार्यक्रम के वीडियो को तृणमूल कांग्रेस के नेता और पुरुलिया जिले के रघुनाथपुर से पूर्व विधायक पूर्ण चंद्र बाऊरी ने भी अपनी प्रोफाइल से साझा किया है। 27 जनवरी को अपलोड किए गए वीडियो के साथ दी गई जानकारी में इसे 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम का बताया गया है। वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी पर हमला बोला है, जिन्होंने ट्विटर पर इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया था कि तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने तिरंगा की बजाए अपनी पार्टी के झंडे को फहराने का काम किया। वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने बांग्ला में लिखा है, ‘Republic Day 26 january
গতকাল বিজেপি নেতা শুভেন্দু অধিকারী যে ভাবে প্রজাতন্ত্র দিবসের দিন তৃণমূল কংগ্রেসকে অবমাননা করার চেষ্টা করেছিল একটি ভিডিওর মাধ্যমে , সেই মুহূর্তের জাতীয় পতাকা উত্তোলনের ভিডিওটি সলকে দেখার অনুরোধ রইলো ।।
আমাদের তৃণমূল কংগ্রেসের এই রকম কালচার নয় আমরা সকলে ভারতবর্ষের সংবিধানকে অক্ষরে অক্ষরে পালন করি ।।
এই রকম কালচার একমাত্র বিজেপি করে মানুষকে বিভ্রান্ত করা ।।’

(‘कल बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने एक वीडियो के जरिए गणतंत्र दिवस के मौके पर तृणमूल कांग्रेस का अपमान करने की कोशिश की। यह तृणमूल कांग्रेस की संस्कृति नहीं है। हम सभी भारत के संविधान का पालन करते हैं। बीजेपी केवल लोगों को भ्रमित करने के लिए इस तरह की संस्कृति का सहारा लेती है।’)

तृणमूल कांग्रेस के नेता और पूर्व विधायक पूर्ण चंद्र बाऊरी की प्रोफाइल पर अपलोड किए गए वीडियो का स्क्रीनशॉट, जिसमें उन्हें तिरंगा को लहराहते हुए देखा जा सकता है

वीडियो में साफ-साफ बाऊरी को तिरंगा लहराते हुए देखा जा सकता है और वहां मौजूद अन्य नेताओं को वंदे मातरम कहते हुए सुना जा सकता है। इस मामले को लेकर हमने पूर्ण चंद्र बाऊरी से संपर्क किया। उन्होंने कहा, ‘यह सीधे-सीधे दुष्प्रचार का मामला है। मैंने इस कार्यक्रम का वीडियो भी शेयर किया है और उसमें साफ देख सकते हैं कि तिरंगा को फहराया गया और यह सब कुछ संवैधानिक तरीके से किया गया। जानबूझकर वीडियो के एक हिस्से को बदनाम करने की नीयत से फैलाया जा रहा है।’

चुनाव आयोग की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, बाऊरी ने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान पुरुलिया जिले की रघुनाथपुर सीट से चुनाव लड़ा था। वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में स्वयं को बीजेपी का कार्यकर्ता बताया है।

निष्कर्ष: गणतंत्र दिवस के मौके पर पुरुलिया जिले में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं द्वारा तिरंगा की बजाए पार्टी का झंडा फहराए जाने का दावा भ्रामक है। गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा को लहराया गया था, लेकिन इस कार्यक्रम के वीडियो को जानबूझकर वैसे एंगल से शेयर किया जा रहा है, जिसमें नेताओं को केवल पार्टी के झंडे को लहराते हुए देखा जा रहा है।

  • Claim Review : तृणमूल कांग्रेस के विधायक ने गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा की बजाए पार्टी के झंडे को फहराया
  • Claimed By : FB User-Pratham Byaravalli
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later