Fact Check: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की फर्जी तस्वीर गलत दावे के साथ हो रही वायरल

0

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एक तस्वीर वायरल हो रही है। वायरल पोस्ट में मनमोहन सिंह की कथित तस्वीर साझा की गई है और दावा किया गया है कि अमेरिका ने दुनिया के 50 ईमानदार व्यक्तियों की सूची जारी है, जिसमें मनमोहन सिंह भारत के एकमात्र व्यक्ति है। दावे के मुताबिक, मनमोहन सिंह इस सूची में पहले स्थान पर है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित होता है। साथ ही, पोस्ट में मनमोहन सिंह की जो तस्वीर इस्तेमाल की गई है, वह फर्जी है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की कथित तस्वीर को साझा करते हुए लिखा गया है, ‘अमेरिका ने जारी की दुनिया के 50 सबसे ईमानदार लोगों की सूची में भारत के एकमात्र व्यक्ति है, डॉ मनमोहन सिंह जी। वो भी पहले स्थान पर।’

वायरल हो रही फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

शिव दास (Shiv Das) नाम यूजर्स के प्रोफाइल से सिंह की कथित तस्वीर को शेयर किया गया है, जिसमें वह अवॉर्ड लिए हुए नजर आ रहे हैं। पड़ताल किए जाने तक इस तस्वीर को करीब 350 से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं।

पड़ताल

पड़ताल की शुरुआत में हमें पता चला कि सोशल मीडिया पर इसी दावे के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर भी वायरल हो चुकी है और यह पहली बार नहीं है, जब मनमोहन सिंह को लेकर यह दावा वायरल हुआ है।

तस्वीर को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि तस्वीर में नजर आ रहे मनमोहन सिंह (की तरह दिखने वाले व्यक्ति) के हाथ में ऑस्कर अवॉर्ड है, जो फिल्म में कला और तकनीक के क्षेत्र में सराहनीय काम के लिए दिया जाने वाला प्रतिष्ठित अवॉर्ड है। https://oscar.go.com/ की वेबसाइट पर अवॉर्ड के तौर पर दी जाने वाली प्रतीक चिह्न को देखा जा सकता है।

ऑस्कर की आधिकारिक वेबसाइट से ली गई तस्वीर में अवॉर्ड के प्रतीक चिह्न को देखा जा सकता है।

यानी मनमोहन सिंह की तरह दिखने वाले व्यक्ति के हाथों में जो अवॉर्ड है, वह फिल्म के क्षेत्र में दिया जाने वाला ऑस्कर है। इसके बाद हमने रिवर्स इमेज की मदद ली, ताकि वायरल हो रही तस्वीर की सत्यता को परखा जा सके।

गूगल रिवर्स इमेज से हमें पता चला कि जिस तस्वीर को मनमोहन सिंह की तस्वीर बताकर वायरल किया जा रहा है, वह भारत के मशहूर गायक, गीतकार और संगीतकार ए आर रहमान की करीब 10 साल पुरानी तस्वीर है, जब उन्हें 81वें ऑस्कर अवार्ड के दौरान कैलिफोर्निया के कोडक थिएटर में इस पुरस्कार से नवाज गया था।

22 फरवरी 2009 को 81वें ऑस्कर पुरस्कार समारोह के दौरान अमेरिका के कैलिफोर्निया के कोडक थिएटर में ऑस्कर थामे ए आर रहमान (Image Credit-Getty Images)

23 फरवरी 2009 को न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की वेबसाइट पर प्रकाशित खबर से इसकी पुष्टि होती है। रहमान की इस तस्वीर को फोटोशॉप की मदद से उसे मनमोहन सिंह का बताते हुए सोशल मीडिया पर वायरल किया गया। तस्वीर की सत्यता को परखने के बाद हमने यह पता लगाया कि क्या अमेरिकी सरकार वाकई में दुनिया के ईमानदार व्यक्तियों की सूची जारी करती है।

अमेरिकी सरकार की तरफ से दी जाने वाले पुरस्कारों की सूची देखने पर हमें पता चला कि अमेरिकी सरकार न तो दुनिया भर के ईमानदार लोगों की सूची जारी करती है और न हीं उन्हें ऐसा कोई सम्मान देती है।

यूनाइटेड स्टेट्स सीनेट की साइट पर उन सभी सैन्य और असैन्य पुरस्कारों की सूची देखी जा सकती है, जो अमेरिकी सरकार की तरफ से दिया जाता है।

निष्कर्ष: अमेरिका की तरफ से दुनिया के 50 ईमानदार लोगों की सूची में देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के शामिल होने के दावे को लेकर वायरल हो रही पोस्ट गलत है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह सबित होता है कि अमेरिकी सरकार ऐसी कोई सूची नहीं जारी करती है। वायरल पोस्ट में मनमोहन सिंह की जिस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है, वह भारत के मशहूर संगीतकार ए आर रहमान के ऑस्कर अवॉर्ड की तस्वीर से छेड़छाड़ कर बनाई गई है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Abhishek Parashar
  • Claim Review : अमेरिका ने जारी दुनिया के 50 ईमानदार नेताओं की सूची जिसमें मनमोहन सिंह भारत के एकमात्र व्यक्ति के तौर पर शामिल
  • Claimed By : FB User-Shiv Das
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख