Fact Check : प्रियंका गांधी का एक साल पुराना वीडियो गलत संदर्भ के साथ हुआ वायरल

0

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। फेसबुक और WhatsApp पर प्रियंका गांधी का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो के बारे में दावा किया जा रहा है कि वोडका के चार शॉट के बाद प्रियंका गांधी अपनी ही पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं को धक्‍का दे रही हैं। विश्‍वास टीम ने जब इस वीडियो की पड़ताल की तो यह 12 अप्रैल 2018 की देर रात का निकला। इस वीडियो में प्रियंका गांधी खुद को भीड़ से बचाने की कोशिश कर रही हैं।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर Satyappa Khot ने प्रियंका गांधी के पुराने वीडियो का मिसयूज करते हुए दावा किया कि वोदका के शॉट के बाद प्रियंका गांधी ने महिलाओं को धक्‍का मारा। इतना ही नहीं, पोस्‍ट में यहां तक दावा किया गया कि इस खबर को मीडिया ने नहीं दिखाया।

यही वीडियो WhatsApp पर भी खूब फैलाया जा रहा है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले यह जानने की कोशिश की कि प्रियंका गांधी का वायरल वीडियो कब का है। इसके लिए हमने InVID टूल की मदद ली। इनविड में वायरल वीडियो का एक फ्रेम लेकर हमने इसे गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। यहां से हमें कई खबरों का लिंक मिला। एक खबर हमें दैनिक जागरण की वेबसाइट Jagran.com पर मिली। खबर की हेडिंग थी : आधी रात को राहुल गांधी के कैंडल मार्च में धक्का मुक्की, भड़की प्रियंका गांधी

इस खबर में बताया गया कि 12 अप्रैल की आधी रात को उन्नाव और कठुआ गैंगरेप के विरोध में इंडिया गेट पर कांग्रेस ने एक कैंडल मार्च निकाला। भारी भीड़ में प्रियंका को काफी परेशानी हुई और उनसे धक्का मुक्की भी हुई। इसके बाद प्रियंका गांधी ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जमकर खरीखोटी सुनाई। मार्च के दौरान प्रियंका को चारों तरफ से कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने घेर लिया था और भीड़ के कारण वो बाहर नहीं निकल पा रहीं थीं। धक्का-मुक्की के दौरान वे डर गईं। वीडियो में डरी हुईं प्रियंका कोहनी मारकर आगे बढ़ते हुए दिखाई दीं।

इस दौरान उनकी बेटी भी भीड़ में फंस गईं थी और डरकर रोने लग गई थी, जिसके बाद प्रियंका बैरीकेड को धक्का देते हुए आगे बढ़ीं और अपनी बेटी को चुप कराकर गले लगाया और भीड़ से बाहर निकाला। पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

इसके बाद हमने असली वीडियो को खोजा। इसके लिए हमने InVID के Twitter सर्च ऑप्‍शन में जाकर Priyanka Gandhi टाइप किया। इसके बाद टाइमलाइन में जाकर 12 अप्रैल से लेकर 13 अप्रैल 2018 तक की डेट सेट की।

इसके बाद हमें सर्च में कांग्रेस के कैंडल मार्च की कई खबरें, फोटो और वीडियो मिले।

News18 के ट्विटर हैंडल (@CNNNews18) पर 12 अप्रैल 2018 रात एक वीडियो अपलोड मिला। इसमें प्रियंका गांधी के अलावा उनके पति राबर्ट वाड्रा और उनकी बेटी को भी देखा जा सकता है।

जांच के दौरान हमें ANI का एक वीडियो मिला। इसमें प्रियंका गांधी को गुस्‍से में देखा जा सकता है। यह वीडियो 18 सेकंड का है। इसमें प्रियंका कह रही हैं कि कोई भी एक-दूसरे का धक्‍का नहीं देगा। पूरा वीडियो आप नीचे देख सकते हैं।

इसके बाद हमने कांग्रेस में संपर्क किया। कांग्रेस पार्टी के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता अखिलेश प्रताप सिंह ने विश्‍वास न्‍यूज से बातचीत में कहा कि प्रियंका गांधी के एक साल पुराने वीडियो को जिस तरह से अब वायरल किया जा रहा है, वह बहुत ही शर्मनाक है। कुछ लोग हैं, जो कांग्रेस को बदनाम करने के लिए ऐसा झूठ फैलाते हैं।

अंत में हमने प्रियंका गांधी के पुराने वीडियो को गलत संदर्भ के साथ वायरल करने वाले फेसबुक यूजर Satyappa Khot की सोशल स्‍कैनिंग की। इसमें हमने Stalkscan टूल का यूज किया। 1211 फ्रेंड वाले इस फेसबुक अकाउंट @satyappa.khot पर एक खास पार्टी और उसके नेता को निशाना बनाया जाता है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में प्रियंका गांधी से जुड़ी वायरल पोस्‍ट फर्जी निकली। वीडियो एक साल पुराना है। इसे अब गलत संदर्भ के साथ फैलाया जा रहा है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Ashish Maharishi
  • Claim Review : वोदका के नशे में प्रियंका गांधी ने महिलाओं को धक्‍का दिया
  • Claimed By : Satyappa Khot
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख