Fact Check: सिंध प्रांत में महिलाओं और बच्चों को बर्बरतापूर्वक पीट रहे पाकिस्तानी सुरक्षा बल, कश्मीर के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस वाले महिलाएं और बच्चों को पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो जम्मू-कश्मीर का है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। कश्मीर के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान के सिंध प्रांत का है, जहां पाकिस्तानी सुरक्षा बल घरों में जबरदस्ती घुस कर महिलाओं और बच्चों को पीट रहे हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर्स मोहम्मद आरिफ अब्बास ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘ऐ साथ खड़े कहने वाले तुम कहाँ हो?

कई माशूम की जिंदगी उज़र गयी तुम कहाँ हो?

इज़्ज़ाते पामाल होगयी तुम कहाँ हो?

भारत का कश्मीर है,कश्मीर की बेटी इज़्ज़त -आबरू लूट गयी तुम कहाँ हो?

कश्मीरियों की माँ,बहन-बेटियों का सौदा हुआ तुम कहाँ हो?

हम ये पूछना चाहते है कि तुम जिन्दे हो या मुर्दे हो?।’

फेसबुक पर कश्मीर में महिलाओं पर हो रहे कथित अत्याचार के नाम पर वायरल हो रहा फर्जी वीडियो

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को करीब 4500 से अधिक लोगों ने शेयर किया है और करीब 200 लोगों ने इसे पसंद किया है।

पड़ताल

Invid के जरिए निकाले गए की-फ्रेम्स को यांडेक्स सर्च करने पर पता चला कि यह वीडियो पुराना और पाकिस्तान के सिंध प्रांत का है। यांडेक्स सर्च में हमें ‘’Khabroo Web Tv’’ के यू-ट्यूब चैनल पर 5 मई 2019 को अपलोड किया गया वही वीडियो मिला, जो कश्मीर में महिलाओं पर हो रहे कथित अत्याचार के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

वीडियो का विवरण सिंधी भाषा में लिखा हुआ है, जिसे यहां देखा जा सकता है।

ڀان سيد آباد ۾ سولنگي برادري جي گھرن تي پوليس جي چڙهائي، چادر۽ چوديواريءَ سان گڏ لوئي ۽ لڄ جو تقدس به  پائمال، انسانيت جا سڀ ليڪا لتاڙيندي عورتن سان ورتاء ڏسي سگهجي ٿو. انهيءَ باوجود حاڪميت کي برقرار رکڻ چڱي ڳالھ ته نٿي لڳي، وڌيڪ اوهين پاڻ سياڻا آهيو.

गूगल ट्रांसलेशन की मदद से किए गए हिंदी अनुवाद को ऐसे पढ़ा जा सकता है-‘नए सैदाबाद में सोलानी समुदाय के लोगों के घरों पर पुलिस का छापा और महिलाओं के साथ लाठी डंडों से की जा रही मारपीट। यह गवर्नेंस स्थापित करने का तरीका नहीं हो सकता है, बल्कि यह नेताओं की व्यवस्था हो सकती है।’ गूगल मैप से पाकिस्तान के सिंध प्रांत में इस जगह के होने की पुष्टि होती है।

वीडियो में महिलाओं के साथ मारपीट करने वाले सुरक्षा बल जिस ड्रेस में नजर आ रहे हैं, वह सिंध पुलिस का ड्रेस है। महिलाओं के साथ मारपीट करते हुए सुरक्षा बलों ने खाकी पैंट और काले रंग की टीशर्ट पहन रखी है, जो सिंध पुलिस का यूनिफॉर्म है, जिसकी सिंध पुलिस के आधिकारिक वेबसाइट से पुष्टि होती है।

ट्विटर पर मौजूद सिंध पुलिस के नाम के चल रहे हैंडल (@sindhpolicedmc) पर इस वीडियो को फर्जी करार दिया गया था। 11 मई 2019 को पोस्ट किए बुलेटिन के जरिए यह बताया गया है, ‘कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पुलिस की वर्दी पहने कुछ लोग घर पर छापा मारने के दौरान महिलाओं को पीटते हुए नजर आ रहे हैं। यह वीडियो फर्जी साबित होता है और ऐसा लगता है कि यह वीडियो सिंध पुलिस की छवि विशेषकर जमशोरो पुलिस की छवि को खराब करने के लिए पोस्ट किया गया है।’

वीडियो में इस बात की भी जानकारी दी गई है कि इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें से चार पुलिसवाले हैं।

25 अगस्त को जम्मू-कश्मीर पुलिस की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, घाटी में स्थिति शांत हो रही है और किसी भी तरह के अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं है। साथ ही, ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं दी गई है, जिसमें सुरक्षा बलों की कठोर कार्रवाई का जिक्र हो।

इसे लेकर जब हमने हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के जम्मू-कश्मीर के स्टेट एडिटर अभिमन्यु कुमार शर्मा से बात की। उन्होंने घाटी में सुरक्षा बलों के किसी भी दमनात्मक कार्रवाई को अफवाह करार देते हुए कहा, ‘घाटी में स्थिति शांत रही है और सुरक्षा बलों के नाम पर ऐसे किसी वीडियो को जारी करना दुष्प्रचार है।’ उन्होंने कहा, ”घाटी में अभी भी पाबंदियां लगी हुई हैं, लेकिन किसी तरह का कोई क्रैकडाउन नहीं है।”

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा (आर्टिकल 370 हटाए जाने) खत्म किए जाने के बाद घाटी में विरोध प्रदर्शन और सुरक्षा बलों की कथित कार्रवाई को लेकर लगातार दुष्प्रचार किया जा रहा है। विश्वास न्यूज ऐसे सभी दुष्प्रचार और अफवाहों की पड़ताल कर सच्चाई सामने लाता रहा है।

निष्कर्ष: जम्मू-कश्मीर में महिलाओं के साथ हो रहे कथित अत्याचार के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान के सिंध प्रांत का है, जहां सिंध पुलिस ने सोलानी समुदाय के लोगों के घरों में घुसकर तोड़फोड़ की और महिलाओं एवं बच्चों को पीटा। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह वीडियो कश्मीर के नाम पर किया जा रहा दुष्प्रचार निकला।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : कश्मीर में महिलाओं के साथ हो रहा अत्याचार
  • Claimed By : FB User-Md Arif Abbas
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later