X

Fact Check: कोलकाता में दो साल पहले हुए प्रदर्शन की तस्वीर पीएम मोदी के तमिलनाडु दौरे से जोड़कर वायरल

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तमिलनाडु दौरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर कोलकाता में हुए पुराने विरोध प्रदर्शन से संबंधित है।

  • By Vishvas News
  • Updated: May 27, 2022

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तमिलनाडु दौरे के दौरान सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि पीएम मोदी के तमिलनाडु दौरे का विरोध करने के लिए सड़क पर गो बैक मोदी लिखा गया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। वायरल तस्वीर न तो नई है और न ही तमिलनाडु की है। तस्वीर जनवरी 2020 में कोलकाता में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ हुए पुराने विरोध-प्रदर्शन की है। इसे हालिया बताते हुए गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ” Pasupathi Viswanathan ” ने 26 मई को इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, “TN hate you & your party ideology…..#GoBackModi

फेसबुक पेज RZ News & Entertainment Network ने भी इस तस्वीर को शेयर किया है और लिखा है ,”Ahead of Prime Minister Narendra Modi’s visit to #tamilnadu #telangana today, #GoBackModi is trending on Twitter.”

फैक्ट चेक के उद्देश्य से पोस्ट के कंटेंट को हूबहू लिखा गया है। इस पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर कोलकाता के पत्रकार मयूख रंजन घोष द्वारा किये गए एक ट्वीट में मिली। 11 जनवरी 2020 को किये इस ट्वीट के साथ मयूख रंजन घोष ने लिखा, “यह कोलकाता की सबसे व्यस्त सड़कों में से एक है, एस्प्लेनेड। लाखों लोग आवागमन करते हैं, जाम से भरा ट्रैफिक देखा जाता है। बस आज रात इस जगह को देखो। सड़कें भित्तिचित्रों में बदल गईं, यातायात नहीं, सभी रास्ते अवरुद्ध हैं, छात्रों ने रात भर विरोध किया। ये है #Kolkata #modiinkolkata “

“Madhurima | মধুরিমা “नाम की एक यूजर ने भी इस तस्वीर को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया था। 11 जनवरी 2020 को किये इस ट्वीट में वायरल तस्वीर के साथ-साथ इस प्रोटेस्ट से जुडी कई और तस्वीरें भी मिली। तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा,”अब एस्प्लेनेड। सड़क पर पेंटिंग करते छात्र। कोलकाता से जोरदार और स्पष्ट संदेश।#GoBackModiFromBengal  कायर मोदी छात्रों और युवाओं से डरते हैं। सड़क से बचते हैं। पूरे शहर में विरोध प्रदर्शन जारी है।”

यहाँ से हमने अपनी जाँच को आगे बढ़ाया और शेयर की गई तस्वीर को ध्यान से देखा। इसमें हमें “Metro Channel Control Post, Hare Street Police Station” लिखा नज़र आया। हमने गूगल पर तस्वीर में दिख रहे कीवर्ड को सर्च किया। सर्च में हमने पाया कि यह जगह कोलकाता में हैं।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के कोलकाता ब्यूरो चीफ जे के वाजपेयी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया, ‘यह तस्वीर कोलकाता में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन की है। हालिया यहाँ ऐसा कुछ नहीं हुआ है। तस्वीर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

यह तस्वीर एक बार पहले भी समान दावे के साथ वायरल हो चुकी है। जिसकी जाँच विश्वास न्यूज़ ने की थी। आप हमारी पहले की पड़ताल को यहाँ पढ़ सकते हैं।  

फेक दावे को शेयर करने वाले यूजर “Pasupathi Viswanathan” की फेसबुक प्रोफाइल स्कैन किया। इसके मुताबिक, यूजर मलेशिया के कुआलालंपुर का रहने वाला है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तमिलनाडु दौरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर कोलकाता में हुए पुराने विरोध प्रदर्शन से संबंधित है।

  • Claim Review : TN hate you & your party ideology.....
  • Claimed By : Pasupathi Viswanathan
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later