X

Fact Check: इस्लाम और महात्मा गांधी के अहिंसा के विचार पर बोलते राहुल गांधी का क्लिप्ड वीडियो किया जा रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: March 20, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी का एक वीडियो वायरल हो रहा है। यूजर्स वीडियो शेयर कर दावा कर रहे हैं कि राहुल गांधी ने कहा है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा के विचार इस्लाम से लिए थे।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला है। राहुल गांधी ने महात्मा गांधी के अहिंसा के विचार पर बोलते हुए सिर्फ इस्लाम नहीं, बल्कि प्राचीन भारतीय दर्शन, ईसाई धर्म समेत कई धर्मों का नाम लिया था। राहुल गांधी के पूरे भाषण का एक छोटा-सा हिस्सा काट कर वायरल किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म्स पर राहुल गांधी का 24 सेकंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है। Rosy नाम के ट्विटर हैंडल ने 9 मार्च 2021 को इस वायरल वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है कि राहुल गांधी के मुताबिक, महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार इस्लाम से अपनाया।

इस ट्वीट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देख सकते हैं। 

राहुल गांधी के इस क्लिप्ड वीडियो को दूसरे यूजर्स ने भी ट्विटर पर शेयर किया है। ऐसे ही एक ट्विटर यूजर Priyankoo Bhatnagar ने वायरल क्लिप को ट्वीट कर लिखा है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा की विचारधारा प्राचीन भारतीय धर्म ‘इस्लाम’ से ली- राहुल गांधी।’ इस ट्वीट के स्क्रीनशॉट को यहां नीचे देखा जा सकता है।

ऐसा ही मिलता जुलता दावा Tushar Maniyar नाम के ट्विटर यूजर ने शेयर किया है। उनके ट्वीट के स्क्रीनशॉट को यहां नीचे देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने सबसे पहले वायरल वीडियो क्लिपिंग को गौर से देखा। इस क्लिपिंग पर कांग्रेस का पार्टी चिह्न लोगो की तरह लगा हुआ है। 24 सेकंड के इस वीडियो क्लिप में राहुल गांधी को अंग्रेजी में भाषण देते सुना जा सकता है। राहुल गांधी को इसमें कहते हुए सुना जा सकता है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा का अपना सिद्धांत हमारे महान धर्मों, महान शिक्षकों से लिया। राहुल गांधी को आगे कहते हुए सुना जा सकता है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार प्राचीन भारती दर्शन, इस्लाम से हासिल किया। वीडियो यहीं पर खत्म हो जा रहा है।

हमने इस वायरल वीडियो क्लिप को सबसे पहले InVID टूल में डाल कर इसके कीफ्रेम्स निकाले। उनपर गूगल रिवर्स इमेज सर्च का इस्तेमाल करने पर हमें इंटरनेट पर इससे मिलते जुलते कई परिणाम मिले। हमें loksatta.com वेबसाइट पर 12 जनवरी 2019 को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। मराठी भाषा की इस रिपोर्ट में राहुल गांधी की जिस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है वह वायरल क्लिप से ही ली गई है। गूगल ट्रांसलेटर की मदद से हमने जाना कि इस रिपोर्ट में राहुल गांधी की तब की दुबई यात्रा को कवर किया गया है। राहुल गांधी ने दुबई में भरतवंशियों को सम्बोधित किया था। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

इस रिपोर्ट में हमें 11 जनवरी 2019 को न्यूज एजेंसी एएनआई के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से किया गया ट्वीट भी एंबेड मिला। इस ट्वीट में इस्तेमाल की गई तस्वीर, वायरल वीडियो क्लिप से हुबहू मेल खा रही है। इस ट्वीट में भी राहुल गांधी के दुबई में होने का जिक्र किया जा रहा है।

इस रिपोर्ट से मिले क्लू के आधार पर हमने जरूरी कीवर्ड्स से राहुल गांधी की 2019 की दुबई यात्रा के बारे में इंटरनेट पर और सर्च किया। हमें The week में प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि राहुल गांधी ने दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। इस रिपोर्ट में राहुल गांधी को महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांत पर भी बोलते हुए कोट किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा कि महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार सभी महान धर्मों से उठाया। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर विस्तार से पढ़ा जा सकता है।

हमें इंटरनेट पर सर्च करने के दौरान इंडियन नेशनल कांग्रेस के यूट्यूब चैनल पर राहुल गांधी की 2019 की दुबई यात्रा के संबोधन का पूरा वीडियो मिला। 11 जनवरी 2019 को अपलोड किया गया यह वीडियो 27 मिनट 38 सेकंड का है। इस वीडियो में 24 मिनट 10 सेकंड के बाद से राहुल गांधी अहिंसा के विचार पर बोलते नजर आ रहे हैं। इस वीडियो में 24 मिनट 21 सेकंड से राहुल गांधी अहिंसा और महात्मा गांधी पर बोलना शुरू कर रहे हैं। मूल वीडियो के इसी बिंदु से वायरल क्लिप को निकाला गया है। मूल वीडियो में राहुल गांधी को कहते सुना जा सकता है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार हमारे महान धर्मों, महान शिक्षकों से लिया। वह आगे कहते हैं, ‘महात्मा गांधी ने अहिंसा का विचार प्राचीन भारतीय दर्शन, इस्लाम, क्रिश्चियनिटी, जूडिज्म, सभी महान धर्मों से लिया, जहां ये साफ लिखा है कि हिंसा किसी को कुछ भी हासिल करने में मदद नहीं करेगी।’

विश्वास न्यूज की अबतक की पड़ताल से ये बात साफ हो चुकी थी कि वायरल क्लिप में राहुल गांधी की पूरी बात शामिल नहीं की गई है। अधूरी क्लिपिंग को वायरल किया जा रहा है। विश्वास न्यूज ने इस वायरल क्लिपिंग को कांग्रेस सेवा दल के यूपी प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद पांडेय के साथ शेयर किया। उन्होंने पुष्टि करते हुए बताया कि राहुल गांधी के 2019 के दुबई दौरे के दौरान दिए गए व्यक्तव्य को एडिट करके पेश किया जा रहा है। प्रमोद पांडेय ने कहा कि ये राहुल गांधी पर लांक्षन लगाने का कुत्सित प्रयास है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का स्पष्ट मानना है कि महात्मा गांधी का दर्शन सर्वधर्म सार है और उन्होंने दुबई के संबोधन में भी गांधी सर्व धर्म समभाव की ही  व्याख्या की।

विश्वास न्यूज की पड़ताल से ये साफ हो गया कि राहुल गांधी ने महात्मा गांधी के अहिंसा के विचार पर बोलते हुए सिर्फ इस्लाम का संदर्भ नहीं लिया था। साथ ही, राहुल गांधी ने अपने संबोधन में इस्लाम को प्राचीन भारतीय धर्म भी नहीं कहा, जैसा कि कुछ यूजर कोट कर रहे हैं।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल क्लिपिंग को ट्वीट करने वाली Rosy नाम की ट्विटर प्रोफाइल को स्कैन किया। यह प्रोफाइल अक्टूबर 2010 में बनाई गई फैक्ट चेक किए जाने तक इनके 54 हजार से अधिक फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला है। राहुल गांधी ने महात्मा गांधी के अहिंसा के विचार पर बोलते हुए सिर्फ इस्लाम नहीं, बल्कि प्राचीन भारतीय दर्शन, ईसाई धर्म समेत कई धर्मों का नाम लिया था। राहुल गांधी के पूरे भाषण का एक छोटा-सा हिस्सा काट कर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : राहुल गांधी ने कहा है कि महात्मा गांधी ने अहिंसा के विचार इस्लाम से लिए थे।
  • Claimed By : ट्विटर यूजर Rosy
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later