नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। आजकल सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही है जिसमें कहा गया है कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा अटैक के बाद राहुल गांधी कुछ फोक डांसर्स के साथ डांस कर रहे थे। हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह दावा बिल्कुल गलत है। वायरल हो रहा वीडियो 14 फरवरी का नहीं, 6 फरवरी 2019 का है।

पुलवामा हमला "14 फरवरी 3.15" पर हुआ था और राहुल "14 फरवरी को 4.44" पर डांस कर रहा था… बेशर्म ने अब अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है लेकिन बच नही सकता।

Posted by I Love My India on Friday, 22 February 2019

Claim

वायरल पोस्ट में क्लेम किया गया है “पुलवामा हमला 14 फरवरी 3.15 पर हुआ था और राहुल 14 फरवरी को 4.44 पर डांस कर रहा था… बेशर्म ने अब अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है लेकिन बच नही सकता 👇।” इस पोस्ट के साथ एक वीडियो भी अटैच है जिसमें राहुल गांधी को कुछ फोक डांसर्स के साथ नाचते हुए देखा जा सकता है। इसके साथ इस पोस्ट में एक स्क्रीनशॉट भी है जो कांग्रेस के वेरिफाइड अकाउंट के ट्वीट का है। स्क्रीनशॉट के हिसाब से राहुल गांधी ने गुजरात के वलसाड में 14 फरवरी को एक रैली की थी जिसके बाद यह ट्वीट किया गया था।

Fact Check 

अपनी पड़ताल को शुरू करने के लिए हमने सबसे पहले पता लगाया कि क्या सच में राहुल गांधी ने वलसाड, गुजरात में 14 फरवरी को कोई रैली की थी या नहीं। इस पड़ताल में हमारे हाथ ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की एक खबर लगी जिसमें राहुल गांधी की गुजरात रैली के डीटेल्स थे। हमें यह खबर और भी कई मीडिया हाउसेस पर मिली जिससे यह साफ है कि राहुल गांधी ने 14 फरवरी 2019 को गुजरात में रैली की थी।

अब हमें पता लगाना था कि राहुल गांधी के नाचने वाला वीडियो 14 फरवरी का ही है या नहीं। इस वीडियो की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस वीडियो को ठीक से देखा, पहली नजर में हमें पता लगा कि यह कनक न्यूज़ नामक एक यूट्यूब चैनल का वीडियो है क्योंकि वीडियो के ऊपर कनक न्यूज़ का लोगो लगा था। हमने सबसे पहले यूट्यूब पर कनक न्यूज़ को ढूंढा और वहां जाकर हमने राहुल गांधी के वीडियोज का फिल्टर डाउन किया। कुछ देर की पड़ताल के बाद हमारे हाथ यह वीडियो लगा जो कि वायरल हो रहे वीडियो का विस्तृत संस्करण है। इस वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन लिखा है “‘ राहुल गांधी ने राउरकेला के आदिवासियों के साथ डांस किया”। यह वीडियो 6 फरवरी 2019 को अपलोड किया गया था।

अधिक पड़ताल के लिए हमने इस वीडियो के यूआरएल को यूट्यूब डाटा व्यूअर नामक टूल पर डाला और हमें पता लगा कि इस वीडियो को 6 फरवरी 2019 को शाम 5:34 पर अपलोड किया गया था। साफ है कि वायरल हो रहे वीडियो और उसकी डिस्क्रिप्शन में कोई तालमेल नहीं है, यह पोस्ट गलत है।

इस पोस्ट को कुलदीप सिंह नाम के एक फेसबुक यूजर ने पोस्ट किया था। उनके फेसबुक प्रोफाइल के अनुसार वे यूपी के एटा के रहने वाले हैं। इनके सोशल प्रोफाइल का स्कैन करने पर हमने पाया कि इनके ज़्यादातर पोस्ट्स एक विशेष पार्टी के पक्ष में ही है।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रहा पोस्ट एकदम गलत है। पुलवामा हमले के दिन राहुल गांधी ने गुजरात के वलसाड में एक रैली जरूर की थी पर उनके डांस के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो 14 फरवरी का नहीं, 6 फरवरी का है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : पुलवामा हमला 14 फरवरी 3.15 पर हुआ था और राहुल 14 फरवरी को 4.44 पर डांस कर रहा था
Claimed By : पुलकित जैन
Fact Check : False

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here