Fact Check : बाढ़ पीड़ितों से मिलने दो दिन के दौरे पर वायनाड गए थे राहुल गांधी

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी को लेकर फेसबुक पर एक पोस्‍ट वायरल की जा रही है। दावा किया जा रहा है कि बाढ़ के बाद राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड नहीं गए।

विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि राहुल गांधी 12 और 13 अगस्‍त को वायनाड में ही थे। जिस तस्‍वीर के साथ फर्जी दावा किया जा रहा है, वह तस्‍वीर भी वायनाड की है। इस तस्‍वीर को 12 अगस्‍त को पीटीआई के फोटोजर्नलिस्‍ट ने क्लिक की थी।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक पेज शौर्य (@Shaurya.online) ने 14 अगस्‍त को राहुल गांधी की एक तस्‍वीर को अपलोड करते हुए लिखा, ”गंवार को आर्मी ऑफिसर (लेफ्टिंनेंट कर्नल) के सामने खड़े होने तक का सलीका नही है..ये चला था PM बनने । वायनाड में बाढ़ आई हैं वहाँ नही जाएगा..पर कश्मीर जाना है दंगा करवाने।”

इस पोस्‍ट को अब तक 155 लोग शेयर कर चुके हैं।

पड़ताल

विश्‍वास टीम को दो बातों से पर्दा उठाना था…

  1. क्‍या राहुल गांधी बाढ़ के बाद अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड नहीं गए?
  2. राहुल गांधी की वायरल हो रही तस्‍वीर कहां की है?

वायरल पोस्‍ट में दावा किया गया कि वायनाड में बाढ़ आने के बाद राहुल गांधी वहां नहीं पहुंचे। इसकी सच्‍चाई जानने के लिए हमने सबसे पहले गूगल सर्च टूल का यूज किया। इसके लिए हमने ”Rahul Gandhi in Wayanad after Flood” कीवर्ड टाइप करके गूगल में सर्च किया। हमें राहुल गांधी के वायनाड दौरे के कई वीडियो, तस्‍वीरें और खबरें मिलीं। 12 अगस्‍त को प्रकाशित Jagran.com की खबर में बताया गया कि राहुल गांधी इन दिनों केरल के लोकसभा क्षेत्र वायनाड के दौरे पर हैं।

अपनी जांच को आग बढ़ाते हुए हम राहुल गांधी की सोशल अकाउंट पर गए। राहुल के ट्विटर हैंडल @RahulGandhi पर गए। वहां हमें 12 और 13 अगस्‍त के दो ट्वीट मिले। इस ट्वीट से हमें पता चला कि राहुल गांधी दो दिन के दौरे पर 12 और 13 अगस्‍त को वायनाड में थे। ये ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं।

12 अगस्‍त का ट्वीट

13 अगस्‍त का ट्वीट

अब हमें यह जानना था कि वायरल पोस्‍ट में राहुल गांधी की जिस तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया है, वह कहां की है।

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल हो रही तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज में अपलोड करके सर्च किया। हमें यह तस्‍वीर कई अंग्रेजी न्‍यूज वेबसाइट पर दिखी।

dnaindia.com नाम की एक वेबसाइट पर इस खबर को केरल बाढ़ से जुड़ी राहुल गांधी की एक खबर में 14 अगस्‍त को इस्‍तेमाल की गई। फोटो कैप्‍शन में अंग्रेजी में लिखा था : Wayanad: Congress leader Rahul Gandhi interacts with army personnel involved in rescue and relief operations in the flood-affected areas, in Wayanad district. (PTI)

हिंदी में इसका अर्थ हुआ कि वायनाड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में रिलीफ और रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन में लगे सेना के जवानों से बात करते हुए कांग्रेस के नेता राहुल गांधी। इस तस्‍वीर को पीटीआई के फोटोजर्नलिस्‍ट ने क्लिक किया था।

अपनी खोज को आगे बढ़ाते हुए हम PTI की वेबसाइट पर गए। वहां हमने फोटोगैलेरी में Rahul Gandhi कीवर्ड से तस्‍वीर सर्च की तो हमें वायनाड से जुड़ी कुछ तस्‍वीरें मिलीं। एक तस्‍वीर वही थी, जिसे अब गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

इसके बाद विश्‍वास टीम ने कांग्रेस प्रवक्‍ता अखिलेश प्रता‍प सिंह से बात की। उन्‍होंने बताया कि कुछ लोग हैं, जो राहुल गांधी की छवि को लगातार खराब करने में जुटे हुए हैं। वायरल तस्‍वीर वायनाड की उस वक्‍त की है, जब वे बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे थे। वायनाड के लिए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को भी एक पत्र लिखा है।

अंत में हमने राहुल गांधी से जुड़ी फर्जी पोस्‍ट करने वाले फेसबुक पेज शौर्य की सोशल स्‍कैनिंग की। स्‍कैन के दौरान हमें पता लगा कि इस पेज को 43 हजार से ज्‍यादा लोग फॉलो करते हैं। पेज को 4 अगस्‍त 2018 को बनाया गया। पेज पर सेना के जवानों से जुड़ी कई पोस्‍ट हमें देखने को मिली।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में पता चला कि राहुल गांधी 12 और 13 अगस्‍त को बाढ़ पीड़ितों से मिलने अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के दो दिन के दौरे पर गए थे। वायरल हो रही राहुल गांधी की तस्‍वीर वायनाड की ही है। इसमें राहुल गांधी उन जवानों से मिल रहे हैं, जो बाढ़ पीड़ितों के बचाव कार्यों में लगे हुए थे।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : दावा किया जा रहा है कि राहुल गांधी बाढ़ के बाद वायनाड नहीं गए
  • Claimed By : फेसबुक पेज शौर्य
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later