X

Fact Check: यूपी में 165 सीटों पर जीत-हार का मार्जिन 2000 मत से कम रहने का दावा गलत

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 165 सीटों पर एआईएमआईएम के चुनाव लड़ने का दावा गलत है। साथ ही इस दावे में कोई सच्चाई नहीं है कि 165 सीटों पर जीत और हार का अंतर 2000 से कम मतों का रहा।

  • By Vishvas News
  • Updated: March 16, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो एक मैसेज को लेकर दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने 403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश की कुल 165 सीटों पर चुनाव लड़ा और इन सभी सीटों पर ओवैसी की पार्टी की वजह से बीजेपी के उम्मीदवार विपक्षी दल के मुकाबले 2000 से कम मतों के अंतर से जीतने में सफल रहे।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा तथ्यात्मक रूप से गलत साबित हुआ। उत्तर प्रदेश में ओवैसी की पार्टी ने 100 से भी कम सीटों पर चुनाव लड़ा और चुनाव आयोग के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में मात्र 29 ऐसी सीट रही, जहां जीत-हार का अंतर 2000 मतों से कम का रहा।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Harpreet Singh’ ने वायरल पोस्ट (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”In UP elections, BJP won
7 seats by 200 votes
23 seats by 500 votes
49 seats by 1000 votes
86 seats by 2000 votes.
Total 165 seats
In all these seats Owaisi has scored generously helped BJP!
Now you know why he is excluded from #Pegasus Tapping
&
He deserves Bharat Ratna !” (”यूपी चुनाव में बीजेपी ने 7 सीटें 200 मतों
23 सीटें 500 मतों
49 सीटें 1000 मतों
86 सीटें 2000 मतों के अंतर से जीतने में सफल रही। कुल 165 सीटें, जिस पर ओवैसी की पार्टी ने उदारतापूर्वक बीजेपी की मदद की! अब आपको पता चल गया होगा कि उन्हें पेगासस टैपिंग से बाहर क्यों रखा गया। ओवैसी भारत रत्न के हकदार हैं!”)

कई अन्य सोशल मीडिया यूजर्स ने इस पोस्ट को समान दावे के साथ शेयर किया है। सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर भी कई अन्य यूजर्स ने इसे समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

10 मार्च को उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे। उत्तर प्रदेश की 403 सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी को 255 सीटें मिली हैं, जबकि 93 सीटों पर लड़ने वाली असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को यूपी में एक भी सीटें नहीं मिलीं। वायरल पोस्ट में किया गया दावा इसी आधार पर गलत साबित हो जाता है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के नतीजे (स्रोत-ECI)

वायरल पोस्ट में कुल 165 सीटों को लेकर कहा गया है कि इन पर जीत-हार का अंतर 2000 से कम मतों का रहा। इस दावे की पड़ताल के लिए हमने निर्वाचन आयोग के आंकड़ों को खंगाला। वायल पोस्ट में किए गए दावे की पड़ताल के लिए हमने तीन श्रेणियों में डेटा को विभाजित किया। पहली श्रेणी में हमने उन सीटों को रखा, जहां जीत का मार्जिन 200 से 500 मतों का था, वहीं दूसरी श्रेणी में ऐसी सीटों को रखा, जहां मार्जिन 500-1000 मतों का रहा और तीसरी श्रेणी में ऐसी सीटों को रखा, जहां जीत का मार्जिन 1000-2000 मतों का था।

पहली श्रेणी (मार्जिन 200-500 मत)

403 विधानसभा सीटों में से कुल 11 सीटें ही ऐसी हैं, जहां जीत-हार का मार्जिन 200-500 मतों का रहा।

दूसरी श्रेणी (मार्जिन 500-1000 मत)

यूपी में कुल चार सीटें ऐसी रहीं, जिस पर जीत-हार का मार्जिन 500-1000 मतों का रहा।

तीसरी श्रेणी (मार्जिन 1000-2000)

उत्तर प्रदेश विधानसभा में 14 ऐसी सीटें रहीं, जहां जीत-हार का मार्जिन 1000-2000 मतों के बीच रहा।

यानी 403 विधानसभा सीटों में मात्र 29 सीटें ही ऐसी हैं, जहां जीत-हार का मार्जिन 2000 मतों से कम का रहा है, जबकि वायरल पोस्ट में ऐसी सीटों का आंकड़ा 165 बताया गया है। इन 29 सीटों में से बीजेपी गठबंधन के खाते में 18 सीटें गईं, जबकि सपा गठबंधन 10 सीटें जीतने में सफल ही और एक सीट कांग्रेस के खाते में गई।

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में ओवैसी की पार्टी को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली और उसे कुल मतों का महज 0.5 फीसदी मत मिला, जो नोटा के तहत पड़े 0.69 फीसदी मतों से भी कम है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में एआईएमआईएम को मिली मत हिस्सेदारी (Source-ECI)

वायरल पोस्ट में किए गए दावे को लेकर विश्वास न्यूज ने एआईएमआईएम के प्रवक्ता वारिस पठान से संपर्क किया। उन्होंने कहा, ‘ये मनगढ़ंत आंकड़ें हैं और इसका वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है। यूपी में हमारी पार्टी मात्र 93 सीटों पर लड़ी थी और जहां तक सपा गठबंधन के खिलाफ बीजेपी को मदद करने के आरोप का सवाल है , तो चुनाव आयोग के आंकड़ें बताने के लिए काफी है किस दल ने किसे हराया। हमारे ऊपर अनर्गल आरोप हर चुनाव में लगता है।’

निष्कर्ष: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 165 सीटों पर एआईएमआईएम के चुनाव लड़ने का दावा गलत है। साथ ही इस दावे में कोई सच्चाई नहीं है कि 165 सीटों पर जीत और हार का अंतर 2000 से कम मतों का रहा। यूपी में 403 विधानसभा सीटों पर मात्र 29 ऐसी सीटें हैं, जहां जीत-हार का अंतर 2000 से कम मतों का रहा है।

  • Claim Review : 165 सीटों पर यूपी में चुनाव लड़ते हुए ओवैसी की पार्टी ने बीजेपी की मदद की
  • Claimed By : FB User-Harpreet Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later