X

Fact Check : गोंडा के डीएम के कंधे पर हाथ रखने वाला शख्‍स मजिस्‍ट्रेट नहीं था, पोस्‍ट भ्रामक है

  • By Vishvas News
  • Updated: June 11, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें एक शख्‍स को गोंडा के जिलाधिकारी के कंधे पर हाथ रखते हुए देखा जा सकता है, जिसके बाद डीएम उस शख्‍स को फटकार लगाते हैं। यूजर्स का दावा है कि डीएम के कंधे पर हाथ रखने वाले शख्‍स चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट थे। विश्‍वास न्‍यूज की जांच में वायरल पोस्‍ट भ्रामक साबित हुई। हमारी पड़ताल में पता चला कि डीएम के कंधे पर हाथ रखने वाला शख्‍स को मजिस्ट्रेट नहीं, बल्कि एक चीनी मिल का प्रबंधक था।

क्‍या हो रहा है वायरल

ट्विटर हैंडल ‘हम लोग’ ने 29 मई को एक वीडियो को अपलोड करते हुए भ्रम फैलाते हुए दावा किया : ‘चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट और डीएम एक ही रैंक के होते हैं लेकिन गोंडा के डीएम साहब के पीठ पर जब चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट ने हाथ रख दिया तब डीएम साहब भड़क गए। वैसे पब्लिकली किसी के पीठ पर ऐसे हाथ रखना एकदम गलत है चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट ने सच में अनुशासनहीनता किया है।’

गोरखपुर लाइव नाम के वीडियो को अपलोड करते हुए शख्‍स को अधिकारी बताया।

पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन यहां देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने पड़ताल की शुरुआत गूगल सर्च से की। हमने संबंधित कीवर्ड की मदद से गूगल सर्च के जरिए खबर को खोजना शुरू किया। हमें आजतक की वेबसाइट पर एक खबर मिली। इसमें बभनान शुगर मिल के मुख्य महाप्रबंधक अजय द्विवेदी को गोंडा डीएम के कंधे पर हाथ रखते हुए देखा जा सकता है। पूरी खबर यहां पढ़ी जा सकती हैं।

जांच के दौरान हमें नेटवर्क 18 के यूट्यूब चैनल पर भी यह वीडियो मिला। इसे 28 मई को अपलोड किया गया था। वहीं, यूपीतक के यूट्यूब चैनल पर भी यह वीडियो मिला। इस वीडियो में बताया गया कि डीएम के कंधे पर हाथ रखने वाले शख्‍स शुगर मिल के प्रबंधक थे।

जांच को आगे बढ़ाते हुए विश्‍वास न्‍यूज ने दैनिक जागरण, गोंडा के ब्‍यूरो प्रमुख रमन मिश्रा से संपर्क किया। उन्‍होंने हमें जानकारी देते हुए बताया कि वायरल वीडियो गोंडा के जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही का है। डीएम के कंधे पर हाथ रखने वाले शख्‍स बभनान शुगर मिल के मुख्य महाप्रबंधक के पद पर तैनात अजय द्विवेदी थे। उन्‍होंने ही डीएम के कंधे पर हाथ रखा था, जिसके बाद डीएम ने उन्‍हें फटकार लगाई। डीएम के भड़कने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया।

अब बारी थी फर्जी पोस्‍ट करने वाले यूजर की जांच करने की। हमें पता चला कि ट्विटर हैंडल ‘हम लोग’ का महाराष्‍ट्र के अमरावती से संचालित किया जाता है। इसे नवंबर 2014 को बनाया गया था। इसे 57 हजार से ज्‍यादा लोग फॉलो करते है।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में गोंडा के डीएम से जुड़ी पोस्‍ट भ्रामक निकली। जिस शख्‍स ने डीएम के कंधे पर हाथ रखा था, वह कोई मजिस्‍ट्रेट नहीं, बल्कि एक चीनी मिल का प्रबंधक था।

  • Claim Review : चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट और डीएम एक ही रैंक के होते हैं लेकिन गोंडा के डीएम साहब के पीठ पर जब चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट ने हाथ रख दिया तब डीएम साहब भड़क गए।
  • Claimed By : ट्विटर हैंडल 'हम लोग'
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later