X

Fact Check : मूर्ति तोड़ने की पुरानी घटना में शामिल नहीं था कोई भाजपा विधायक, 20 महीने पुरानी तस्‍वीर वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: October 10, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की एक क्षतिग्रस्‍त प्रतिमा को वायरल करते हुए सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि भाजपा विधायक करणी सिंह ने इस प्रतिमा को नुकसान पहुंचा है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में वायरल दावा फर्जी साबित हुआ। करणी सिंह नाम का कोई विधायक नहीं है। जिस घटना की तस्‍वीर को काल्‍पनिक भाजपा विधायक के नाम से वायरल किया जा रहा है, दरअसल वह घटना 2 मार्च 2018 को देवरिया के पकड़ी गांव में घटी थी।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

प्रिंस विवेक नाम के फेसबुक यूजर ने ‘एक करोड़ बसपा यूथ का ग्रुप’ पर 8 अक्‍टूबर को एक तस्‍वीर को अपलोड करते हुए लिखा कि ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करो। ताकि जिसने भी ये करा है, उसका सजा हो।

वायरल तस्‍वीर के ऊपर लिखा है : ”बाबा साहब अमबेंडकर की प्रतिमा गिराते Bjp नेता विधायक करणी सिंह की इस हरकत पर क्‍या कहेगे मोदी जी, इन फोटो को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्‍दुस्‍तान देख सके।”

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। हमें दैनिक जागरण की एक खबर मिली। इसमें वायरल तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया। 4 मार्च 2018 को पब्लिश खबर में बताया गया, ”देवरिया के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के पकड़ी गांव में अराजक तत्वों ने डॉ. भीमराव आम्बेडकर की प्रतिमा तोड़ दी। इसके बाद मौके पर तनाव हो गया। तनाव की सूचना मिलते ही एसडीएम सदर राकेश सिंह, सीओ सिटी सीताराम, प्रभारी निरीक्षक राय साहब यादव पीएसी के साथ मौके पर पहुंचे।” पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

इसके बाद विश्‍वास न्‍यूज ने देवरिया के रामपुर कारखाना के थानाध्यक्ष राजेश सिंह से संपर्क किया। उन्‍होंने बताया कि 2 मार्च 2018 में वादी सीपी निगम की तहरीर पर रमेश यादव, राम बड़ाई यादव, नीलेश यादव, शैलेश यादव, सुशील यादव, शंकर यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। इन सभी पर अंबेडकर प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने और मारपीट करने का आरोप लगा था।

अब हमें यह जानना था कि करणी सिंह नाम का कोई विधायक भाजपा या किसी दल में कभी था या नहीं। इसके लिए हमने myneta.info की मदद ली। हमें इस वेबसाइट पर करणी सिंह नाम का कोई विधायक नहीं मिला। ज्‍यादा जानकारी के यहां क्लिक किया जा सकता है। विश्‍वास न्‍यूज ने दैनिक जागरण के देवरिया प्रभारी महेंद्र कुमार त्रिपाठी से बात की। उन्‍होंने बताया कि हमारे जिले में कभी भी कोई करणी सिंह नाम का कोई भी विधायक नहीं था।

विश्‍वास न्‍यूज ने प्रिंस विवेक नाम के फेसबुक यूजर के अकाउंट की सोशल स्‍कैनिंग की। हमें पता चला कि प्रिंस विवेक अमरोहा का रहने वाला है। ये अपने अकाउंट पर अपनी और रिश्‍तेदारों की तस्‍वीरें अक्‍सर अपलोड करते रहता है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में पता चला कि बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा गिराते भाजपा विधायक करणी सिंह वाली पोस्‍ट फर्जी है। 2 मार्च 2018 को देवरिया के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र में कुछ लोगों ने भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया था। उसी घटना की तस्‍वीर को अब कथित भाजपा विधायक करणी सिंह से जोड़कर वायरल किया जा रहा है, जबकि करणी सिंह नाम का कोई विधायक देवरिया में कभी था ही नहीं।

  • Claim Review : https://www.facebook.com/viveksingh.vishu.5
  • Claimed By : फेसबुक यूजर प्रिंस विवेक
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later