X

Fact Check: हथियारों की खेप की यह तस्वीर 2016 राजकोट की है, दिल्ली के निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन से नहीं है कोई सम्बन्ध

  • By Vishvas News
  • Updated: March 11, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें हथियारों की खेप देखी जा सकती है। तस्वीर में कुछ पुलिसवाले खड़े हुए हैं और सामने टेबल पर और आसपास बहुत-सी तलवारें और चाकू रखी हैं। तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर से यह हथियारों का जखीरा मिला। विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा फर्जी है। गुजरात की पुरानी तस्‍वीर को झूठे दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्‍या हो रहा है वायरल पोस्‍ट में?

वायरल पोस्ट में हथियारों की खेप देखी जा सकती है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है, ”दिल्ली के तथाकथित शांतिदूत कहे जाने वाले ताहिर हुसैन के घर से हथियारों जखीरा मिला। यह तो एक घर की तस्वीरें है। सोचो ऐसे कितने घर होंगे ? 🙄🙄🤔🤔🤔”

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहाँ पढ़ा जा सकता है।

पड़ताल

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर का स्क्रीनशॉट लिया और फिर उसे गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें इससे मिलती-जुलती तस्वीर gujaratheadline.com की वेबसाइट पर मिली। खबर के मुताबिक, हथियारों की यह खेप राजकोट के एक होटल में हुई छापेमारी में 2016 में मिली थी।

हमें इस छापेमारी से संबंधित खबर टाइम्‍स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर भी मिली। इस खबर में भी बताया गया था कि क्राइम ब्रांच और कुवाडवा रोड पुलिस ने एक होटल से संचालित एक रैकेट का खुलासा किया था। राजकोट-अहमदाबाद हाईवे पर स्थित इस होटल के नॉवेल्‍टी स्‍टोर से 257 हथियार मिले थे। इसमें तलवार और चाकू भी शामिल थे। खबर 6 मार्च 2016 को पब्लिश की गई थी।

ज्‍यादा जानकारी के लिए विश्‍वास न्‍यूज ने गुजरात के राजकोट शहर में कुवाडवा रोड पुलिस स्टेशन के SHO दिनेशभाई पटेल से बात की। उन्होंने कन्फर्म किया, “यह तस्वीर 2016 राजकोट की है, दिल्ली की नहीं। पुलिस को सूचना मिली थी कि राजकोट-अहमदाबाद राजमार्ग पर इंडिया पैलेस होटल में कुछ व्यक्ति अवैध रूप से तलवार और चाकू जैसे घातक हथियार बेच रहे हैं। इसलिए हमने उस जगह पर छापा मारा और हथियारों को जब्त कर लिया। हमने तलवार, चाकू सहित 257 हथियार जब्त किए थे और होटल मालिक समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया था।”

अंत में हमने इस पोस्ट को फेसबुक पर शेयर करने वाले यूजर राज कुमार शर्मा की सोशल स्‍कैनिंग की। हमें पता चला कि यूजर दिल्ली का रहने वाला है। यूजर के फेसबुक पर कुल 630 फ्रेंड्स हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा फर्जी है। गुजरात की पुरानी तस्‍वीर को झूठे दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। हथियारों का यह ज़खीरा राजकोट के एक होटल से 2016 में मिला था, निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर से नहीं।

  • Claim Review : दिल्ली के तथाकथित शांतिदूत कहे जाने वाले *ताहिर हुसैन* के घर से हथियारों जखीरा मिला
  • Claimed By : राज कुमार शर्मा
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later