Fact Check: दिल्ली बीजेपी के नाम से वायरल हो रहा ट्वीट फर्जी है

0

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर आज कल एक पोस्ट वायरल हो रहा है जिसमें एक स्क्रीनशॉट दिख रहा है। वायरल ट्वीट दिखने में दिल्ली बीजेपी के ट्विटर हैंडल से किया हुआ नजर आता है। ट्वीट में लिखा है, ‘दिल्ली मेट्रो में महिलाओं के फ्री सफर से मेट्रो झुग्गी वाली महिलाओं से भर जाएगी। रिक्शे पर चलने वाली महिलाएं मेट्रो से जाएंगीं। वर्तमान में मेट्रो का किराया बढ़ना चाहिए ताकि सीमित लोगों के लिए मेट्रो का इस्तेमाल हो।’ हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह ट्वीट फर्जी है। दिल्ली बीजेपी ने कभी भी ऐसा ट्वीट नहीं किया। ऑनलाइन टूल्स का इस्तेमाल करके यह फर्जी ट्वीट बनाया गया है।

CLAIM

इस पोस्ट में 1 ट्वीट का स्क्रीन शॉट है जिसको दिल्ली बीजेपी के हैंडल से ट्वीट किया हुआ दिखाया गया है। ट्वीट दिखने में दिल्ली बीजेपी के ट्विटर हैंडल से किया हुआ नजर आता है। वायरल ट्वीट का यूजर नाम और ट्विटर हैंडल भी दिल्ली बीजेपी के ओरिजिनल ट्विटर हैंडल जैसा ही दिख रहा है और यह अकाउंट वेरिफाइड भी नज़र आ रहा है। पोस्ट में लिखा है, “दिल्ली मेट्रो में महिलाओं के फ्री सफर से मेट्रो झुग्गी वाली महिलाओं से भर जाएगी। रिक्शे पर चलने वाली महिलाएं मेट्रो से जाएंगीं। वर्तमान में मेट्रो का किराया बढ़ना चाहिए ताकि सीमित लोगों के लिए मेट्रो का इस्तेमाल हो।”

FAKE TWEET

FACT CHECK

हमने इस सिलसिले में सबसे पहले इस ट्वीट का ठीक से विश्लेषण किया। इस ट्वीट को ठीक से देखने पर साफ़ नज़र आता है कि यह फर्जी है। वायरल ट्वीट में दिख रहा फॉण्ट ओरिजिनल ट्विटर फॉण्ट से बिल्कुल अलग है। यदि आप कोई ट्वीट खोलते हैं तो स्क्रीन की दायीं तरफ फॉलो या फॉलोइंग लिखा हुआ आता है जो कि वायरल ट्वीट में नहीं नज़र आ रहा है। साथ ही, वायरल ट्वीट में टाइम और डेट भी नहीं है। उदाहरण के लिए हमने एक असली ट्वीट नीचे लगाया है जिसमें आप ये सब देख सकते हैं।

FAKE TWEET
EXAMPLE OF REAL TWEET

पड़ताल के लिए हमने दिल्ली बीजेपी के असली ट्विटर हैंडल को भी पूरा जांचा पर वहां हमें कहीं भी यह ट्वीट नहीं मिला।

हमने ज़्यादा पुष्टि के लिए दिल्ली बीजेपी के प्रमुख मनोज तिवारी से फ़ोन पर बात की जिन्होंने इस वायरल ट्वीट को फर्जी बताया और कहा कि दिल्ली बीजेपी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल द्वारा ऐसा ट्वीट कभी भी नहीं किया गया और दिल्ली बीजेपी द्वारा किये गए सारे ट्वीट ओरिजिनल ट्विटर हैंडल पर देखे जा सकते है। यह पोस्ट फ़र्ज़ी है।

आइये अब आपको बताते हैं कि यह फेक ट्वीट को बनाया कैसे गया। हमने यह समझने के लिए गूगल पर सर्च किया तो पाया कि बहुत से ऐसे ऑनलाइन टूल्स हैं जिनसे ऐसे ट्वीट्स को बनाया जा सकता है। ऐसी ही एक वेबसाइट है tweetgen.com। इस वेबसाइट पर आप किसी का भी यूजरनाम, ट्विटर हैंडल डाल कर किसी के भी नाम से कोई भी ट्वीट बना सकते हैं। ऐसे ही किसी ऑनलाइन टूल का इस्तेमाल करके दिल्ली बीजेपी के नाम से भी यह फर्जी ट्वीट बनाया गया था।

इस पूरी प्रक्रिया का मकसद सिर्फ आपको अवगत करना है कि आप जो देखते हैं वो हमेशा सच नहीं होता। जागरूक रहना ज़रूरी है। कोई भी ट्वीट देखने पर सबसे पहले आप व्यक्ति के ऑफिशियल पेज पर ज़रूर जाएँ और चेक करें कि ट्वीट सही है या फर्जी।

इस पोस्ट को तेज बहादुर यादव नाम के फसेबुक यूजर द्वारा शेयर किया था। इस यूजर के कुल 75,327 फॉलोअर्स हैं। यह अकाउंट वेरिफाइड नहीं है इसलिए यह कह पाना मुश्किल है कि यह सच में तेज बहादुर यादव का है या नहीं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह ट्वीट फर्जी है। दिल्ली बीजेपी ने कभी भी ऐसा ट्वीट नहीं किया। ऑनलाइन टूल्स का इस्तेमाल करके यह फर्जी ट्वीट जेनरेट किया गया है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

कोई जवाब दें

संबंधित लेख