X

Fact Check: पुजारी के हाथों पुलिस की पिटाई का दावा गलत, एंटरटेनमेंट वीडियो गलत दावे के साथ वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 7, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में पुलिसकर्मी को पिटते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान पुलिसकर्मी को पुजारी ने पीटा।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। पुलिसकर्मी की पिटाई के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो पुराने एंटरटेनमेंट वीडियो का एक हिस्सा है, जिसमें नजर आ रहे सभी लोग कलाकार हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Jago India’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ‘अंध भक्त, पुलिस वाले को क्यूं मार रहे हो।’

सोशल मीडिया पर वायररल हो रहे वीडियो का स्क्रीन शॉट

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को 15 हजार से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं और इसे करीब 6 लाख से अधिक बार देखा जा चुका है।

पड़ताल

इससे पहले विश्वास न्यूज ने ऐसे ही एक वीडियो की पड़ताल की थी, जिसमें पुलिसकर्मी को कुछ लोग पीटते हुए नजर आ रहे थे। यू-ट्यूब सर्च में हमें वह पूरा वीडियो मिला, जिसके एक हिस्से को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Source-CWE

‘CWE’ के नाम से वेरिफाइड यू-ट्यूब चैनल पर इस वीडियो को 18 मार्च 2019 को अपलोड किया गया है। ‘CWE’ यानी ‘Continental Wrestling Entertainment’ पहली भारतीय रेसलिंग एंटरटेनमेंट एकेडमी है।

इसी यू-ट्यूब चैनल पर 28 सितंबर 2018 को अपलोड किया हमें एक और वीडियो मिला, जिसमें उसी व्यक्ति को पुलिस की वर्दी में देखा जा सकता है, जो मंदिर वाले वीडियो में पुलिस के दावे के साथ नजर आ रहा है।

CWE के यू-ट्यूब चैनल पर 28 सितंबर 2018 को अपलोड किया गया वीडियो, जिसका एक हिस्सा पहले गलत दावे के साथ वायरल हो चुका है

CWE पर दी गई जानकारी के मुताबिक यह रेसलिंग एंटरटेनमेंट का वीडियो है, जिसमें रेसलर और कलाकार नजर आ रहे हैं। पुलिस की वर्दी में नजर आ रहे व्यक्ति रेसलर मनीष दुबे हैं, जो ‘सिंघम दुबे’ के नाम से मशहूर हैं।

सोशल मीडिया सर्च में हमें फेसबुक पर ‘Manish Dubey Mantis Man’ के नाम से बना उनका प्रोफाइल मिला, जिस पर ‘सिंघम दुबे/Singham Dubey’ के इंस्टाग्राम प्रोफाइल का भी लिंक दिया गया है। यानी जो व्यक्ति सिंघम दुबे के नाम से मशहूर हैं, उनका असली नाम मनीष दुबे हैं और पेशे से रेसलर हैं।

विश्वास न्यूज से बातचीत में मनीष दुबे ने बताया कि यह वीडियो उनका ही है और इसमें पुलिस की वर्दी में नजर आ रहे व्यक्ति वह खुद हैं। उन्होंने कहा, ‘यह रेसलिंग एंटरटेनमेंट का एक पुराना वीडियो है, जिसमें नजर आ रहे सभी व्यक्ति कलाकार हैं। यह वीडियो लॉकडाउन की घोषणा से करीब एक साल पहले का है।’

इससे पहले भी रेसलिंग एंटरटेनमेंट का एक और वीडियो लॉकडाउन के दौरान मंदिर में पुजारी द्वारा पुलिसकर्मी को पीटे जाने के दावे के साथ वायरल हुआ था, जिसकी पड़ताल विश्वास न्यूज ने की थी।

वायरल वीडियो शेयर करने वाले फेसबुक यूजर की प्रोफाइल को करीब 14 हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं। इस प्रोफाइल पर विचारधारा विशेष से प्रेरित कंटेंट को शेयर किया जाता है।

Disclaimer: कोरोनावायरसफैक्ट डाटाबेस रिकॉर्ड फैक्ट-चेक कोरोना वायरस संक्रमण (COVID-19) की शुरुआत से ही प्रकाशित हो रही है। कोरोना महामारी और इसके परिणाम लगातार सामने आ रहे हैं और जो डाटा शुरू में एक्यूरेट लग रहे थे, उसमें भी काफी बदलाव देखने को मिले हैं। आने वाले समय में इसमें और भी बदलाव होने का चांस है। आप उस तारीख को याद करें जब आपने फैक्ट को शेयर करने से पहले पढ़ा था।

निष्कर्ष: कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से देश में जारी 21 दिनों के लॉकडाउन के बीच पुजारी द्वारा पुलिस अधिकारी की पिटाई के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो रेसलिंग एंटरटेनमेंट वीडियो का एक हिस्सा है, जिसमें CWE के रेसलर और अन्य लोग नजर आ रहे हैं। वीडियो में पुलिस की वर्दी में नजर आ रहे पुलिसकर्मी रेसलर मनीष दुबे हैं, जो सिंघम दुबे के नाम से लोकप्रिय हैं।

  • Claim Review : लॉक डाउन के दौरान पुजारी के हाथों पुलिस की पिटाई
  • Claimed By : FB User-Jago India
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later