X

Fact Check : ग्रेटर नोएडा की मुठभेड़ का वीडियो आजमगढ़ के नाम से वायरल

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट भ्रामक साबित हुई। आजमगढ़ की घटना के नाम पर जिस वीडियो को वायरल किया जा रहा है, वह ग्रेटर नोएडा की एक मुठभेड़ का है। इस वीडियो का आजमगढ़ से कोई संबंध नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 6, 2021

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में इनदिनों 17 सेकंड का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। इसमें कुछ पुलिसवालों को देखा जा सकता है। साथ में एक घायल शख्‍स को भी देखा जा सकता है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि आजमगढ़ में दुर्गा पूजा पंडाल हटाने की धमकी देने वाले एक मुस्लिम शख्‍स का यह हाल यूपी पुलिस ने किया है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल दावे की जांच की। हमें पता चला कि आजमगढ़ के नाम पर जिस वीडियो को वायरल किया जा रहा है, वह ग्रेटर नोएडा का है। यहां बीटा टू थाना क्षेत्र में पेचकस गैंग के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी। विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट भ्रामक साबित हुई।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक पेज द सनातन धर्म ने 22 अक्‍टूबर को अपने पेज पर एक वीडियो को अपलोड करते हुए दावा किया : ‘आजमगढ़ में तमंचे के दम पर दुर्गा पूजा पंडाल हटाने की धमकी देने वाले #आदिल का स्वागत सत्कार करती U P पुलिस…😂😂😂 ये बंगाल नही उत्तरप्रदेश हैं, जहाँ ममता नही हमारे #बाबा का राज चलत हैं।’

फेसबुक पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन यहां क्लिक करके देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल वीडियो की सच्‍चाई पता लगाने के लिए सबसे पहले InVID टूल का इस्‍तेमाल किया। इसमें वायरल वीडियो को अपलोड करके कई ग्रैब्‍स निकाले। फिर इन ग्रैब्‍स को गूगल रिवर्स और यान्‍डेक्‍स में सर्च करना शुरू किया। वायरल वीडियो का कुछ हिस्‍सा हमें यूट्यूब पर अपलोड एक खबर में मिला। न्‍यूज क्रांति इंडिया नाम के एक यूट्यूब चैनल ने 17 अक्‍टूबर को एक खबर अपलोड करते हुए बताया कि ग्रेटर नोएडा के बीटा 2 पुलिस और पेचकस गैंग के बीच मुठभेड़ हुई। पूरा वीडियो यहां देखें।

सर्च के दौरान हमें टीवी9 ह‍िंदी डॉट कॉम पर भी संबंधित खबर मिली। 18 अक्‍टूबर को अपलोड खबर में बताया गया कि बीते रविवार को ग्रेटर नोएडा पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। कार में लिफ्ट देकर लूटपाट करने और एटीएम से रुपए निकलवा कर पेचकस मारने वाले बदमाशों को पकड़ने में पुलिस कामयाब हुई है। एनकाउंटर में पुलिस के हत्थे 4 शातिर बदमाश चढ़े हैं। मुठभेड़ के दौरान चारों कोतवाली beta-2 पुलिस की गोलियों से घायल हुए हैं। इस दौरान गिरोह के सदस्यों ने भी पुलिस पर फायरिंग की थी। पूरी खबर यहां पढ़ें।

नोएडा पुलिस कमिश्‍नरेट के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी इस एनकाउंटर की जानकारी दी गई। 17 अक्‍टूबर को किए गए ट्वीट में बताया गया कि थाना बीटा-2 क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस व गाड़ी में लिफ्ट देकर लोगों को पेचकस मारकर घायल व लूट करने वाले अंतराज्यीय बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान 04 बदमाशों के पैर में लगी गोली,घायल/गिरफ्तार, कब्जे से करीब 01 लाख रुपये नकद, 17 पेचकस, कार व अवैध हथियार बरामद।

विश्‍वास न्‍यूज को पड़ताल के दूसरे चरण में यह जानना था कि क्‍या आजमगढ़ में पंडाल में गुंडागर्दी जैसी कोई घटना हुई थी क्‍या। गूगल सर्च के दौरान हमें कई मीडिया रिपोर्टस मिली। इंडिया टीवी की वेबसाइट पर 16 अक्‍टूबर को पब्लिश एक खबर में बताया गया कि आजमगढ़ में एक मुस्लिम युवक ने दुर्गा पंडाल में घुसकर गुंडागर्दी की है। इस युवक ने दुर्गा पंडाल को हटाने को कहा। इसके साथ ही दुर्गा पंडाल को लगाने वाले लोगों को जान से मारने की धमकी भी दी। तमंचा दिखाते हुए इस मुस्लिम युवक ने ये सवाल किया कि कैसे इस इलाके में दुर्गा पूजा पंडाल बनाने की हिमाकत की गई। फिलहाल अब आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है। इसका नाम आदिल अहमद उर्फ “मंटू” बताया जा रहा है। पूरी खबर यहां पढ़ें।

संबंधित घटना को लेकर हमें आजमगढ़ पुलिस का एक ट्वीट मिला। 14 अक्‍टूबर को किए गए इस ट्वीट में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार स‍िंह की ओर से बताया गया कि थाना तरवा क्षेत्र में धार्मिकस्थल (दुर्गा पूजा पंडाल) पर अवैध तमंचा लहराने वाले व्यक्ति पर अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार। पूरा ट्वीट नीचे देखें।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए दैनिक जागरण, ग्रेटर नोएडा के अपराध संवाददाता प्रवीण विक्रम सिंह से संपर्क किया गया। उनके साथ आजमगढ़ के नाम से वायरल वीडियो को शेयर किया गया। उन्‍होंने जानकारी देते हुए बताया कि वायरल वीडियो आजमगढ़ का नहीं, बल्कि ग्रेटर नोएडा के बीटा 2 क्षेत्र का है। यहां पिछले दिनों एक एनकाउंटर में पेचकस गैंग के कुछ अपराधियों को पकड़ा गया था। वीडियो उसी दौरान का है।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट भ्रामक साबित हुई। आजमगढ़ की घटना के नाम पर जिस वीडियो को वायरल किया जा रहा है, वह ग्रेटर नोएडा की एक मुठभेड़ का है। इस वीडियो का आजमगढ़ से कोई संबंध नहीं है।

  • Claim Review : आजमगढ़ का वीडियो
  • Claimed By : फेसबुक यूजर ब्राह्मण पुत्र
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later