X

Fact Check: हरियाणा के फतेहाबाद में पुजारी की पिटाई की घटना के वीडियो को गुजरात के मंदिर का बताकर किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: November 7, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर एक युवक की निर्ममतापूर्वक पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि गुजरात के एक मंदिर में कुछ लोगों ने लड़की से छेड़छाड़ किए जाने पर वहां के पुजारी की पिटाई कर दी।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। हरियाणा के फतेहाबाद जिले में हुई घटना के वीडियो को गुजरात के मंदिर में हुई घटना का बताकर वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Monu bhai : ek awaj samaj ke liye bhi’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, “गुजरात मे एक मंदिर के पुजारी द्वारा एक लड़की से छेड़छाड़ करने पर मंदिर के पुजारी की मालिश करते हुए…”गुजरात मे एक मंदिर के पुजारी द्वारा एक लड़की से छेड़छाड़ करने पर मंदिर के पुजारी की मालिश करते हुए ग्रामीण।”

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

सोशल मीडिया सर्च में हमें पश्चिम बंगाल पुलिस के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से किया गया एक ट्वीट मिला, जिसमें इस घटना का जिक्र किया गया है। इसके मुताबिक, वायरल वीडियो को कुछ यूजर्स ने बंगाल का बताकर वायरल किया था। बंगाल पुलिस ने इसका खंडन करते हुए इस घटना को हरियाणा का बताया था।

इसी ट्वीट में ‘दैनिक भास्कर’ में प्रकाशित न्यूज रिपोर्ट का हवाला भी दिया गया है, जिसके मुताबिक हरियाणा के फतेहाबाद में क्रिकेट खेल रहे युवकों ने पुजारी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए उनकी पिटाई कर दी।

दैनिक भास्कर में प्रकाशित रिपोर्ट

सर्च में हमें वह रिपोर्ट मिली, जिसके मुताबिक, ‘मंदिर के पुजारी की क्रिकेट बैट से पिटाई की गई और पिटाई का वीडियो भी बनाया गया, जो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो के आधार पर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। प्राथमिक जानकारी के मुताबिक, कई तरह की बातें उठ रही थी। कोई पुजारी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाए जाने की बात कर रहा था तो कुछ लोगों का मानना था कि खेल के दौरान कुछ कहासुनी होने पर युवकों ने पुजारी को पीटा है। गांव वालों ने बड़ी मुश्किल से पुजारी को हमलावर लड़कों के चंगुल से छुड़वाया था। गांव में हंगामा होने की सूचना भट्टू कलां पुलिस तक पहुंची तो जांच-पड़ताल के लिए टीम गांव में आई। पूरी तहकीकात के बाद पुलिस ने मारपीट का केस दर्ज किया और अब चार को गिरफ्तार भी कर लिया है।’

न्यूज सर्च में हमें ‘दैनिक जागरण’ की वेबसाइट पर तीन नवंबर 2020 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली।

दैनिक जागरण में प्रकाशित रिपोर्ट

इसके मुताबिक, ‘फतेहाबाद के गांव ढाबीकलां में एक मंदिर में रहने वाले पुजारी के साथ मारपीट के मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद मौके पर पुलिस पहुंची। पुलिस ने अब वायरल वीडियो के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है। स्‍वजनों के मुताबिक, मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के गांव बीरो निवासी 26 वर्षीय कैलाश शर्मा करीब दो वर्ष पहले भट्टूकलां में अपने चचरे भाई रामजी के साथ रहने लगा। करीब छह माह तक अपने चचेरे भाई के साथ पूजा अर्चना करने के बाद वह गांव ढाबीकलां के मंदिर में पुजारी के तौर पर कार्य करने लगा। सोमवार को कुछ युवकों ने पुजारी पर हमला कर दिया। हमलावरों ने क्रिकेट बैट से ताबड़़तोड़ हमला कर पुजारी को गम्भीर रूप से घायल कर दिया। पुजारी का शोर सुनकर आसपास के लोगों ने इकट्ठा होकर उसे हमलावरों के चंगुल से छुड़वाया।’ रिपोर्ट के मुताबिक, ‘प्राथमिक जांच में सामने आया है कि युवकों ने पुजारी पर महिला से अश्‍लील बातें करने का आरोप लगाया है और इसी के चलते पिटाई की गई है।’

फतेहाबाद पुलिस ने अपने वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से इस मामले के आरोपी युवकों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी है।

मामले में दर्ज एफआईआर को यहां पढ़ा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने इस मामले को लेकर फतेहाबाद पुलिस के पीआरओ भीम सिंह से संपर्क किया। उन्होंने इस घटना के फतेहाबाद में होने की पुष्टि करते हुए बताया, ‘इस मामले में आरोपी युवकों को गिरफ्तार किया जा चुका है और मामले की जांच की जा रही है।

वायरल पोस्ट को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले पेज को करीब पांच हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं। यह पेज जुलाई 2020 से सक्रिय है।

निष्कर्ष: हरियाणा के फतेहाबाद में हुई मारपीट की घटना के वीडियो को गुजरात के मंदिर में हुई घटना का वीडियो बताकर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : गुजरात के मंदिर में पुजारी की पिटाई
  • Claimed By : FB User-Monu bhai : ek awaj samaj ke liye bhi
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later