X

Fact Check: बर्मिंघम में मुस्लिमों के हंगामे के नाम पर स्विट्जरलैंड के फुटबॉल मैच का Video हो रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: June 6, 2019

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग रात के अंधेरे में सड़कों पर तोड़फोड़ करते हुए दिखाई दे रहे हैं। दावा किया रहा है कि यह वीडियो ब्रिटेन के बर्मिंघम का है, जहां रमजान के दौरान मुस्लिमों ने उपद्रव किया, क्योंकि वह अपना उपवास तोड़ने के लिए सड़क को बंद किए जाने की मांग कर रहे थे।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल हो रहा दावा गलत साबित होता है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक पर इस वीडियो को ‘बर्मिंघम में मुस्लिम मोहल्ला’ के दावे के साथ शेयर किया गया है। वीडियो में एडिटिंग की मदद से टेक्स्ट शामिल किए गए हैं, जिसमें लिखा हुआ है, ‘ब्रिटेन के बर्मिंघम में रमजान के दौरान मुस्लिम। वह चाहते थे कि सड़क को बंद कर दिया जाए,ताकि वह अपना उपवास तोड़ सके!’

फेसबुक पर इस पोस्ट को अजय शेर (Ajay Sher) के प्रोफाइल से शेयर किया गया है।

पड़ताल

पड़ताल में पता चला कि यह वीडियो इससे पहले भी समान दावे के साथ फेसबुक और ट्विटर पर वायरल हो चुका है। 2018 में मई महीने के दौरान यह वीडियो इसी दावे के साथ वायरल हुआ था।

इसके बाद इनविड टूल की मदद से हमने वीडियो को कई फ्रेम में अलग किया और उन्हें गूगल रिवर्स इमेज किया। इसमें हमें पता चला कि यह वीडियो ब्रिटेन के बर्मिंघम का न होकर स्विट्जरलैंड के बेसल का है और इसका मुस्लिमों से कोई लेना-देना नहीं है।

वायरल हो रहा वीडियो दो फुटबॉल क्लबों (बेसल और लुसेर्ने) के बीच हुए फुटबॉल मैच का है। 19 मई को हुए इस मैच के दौरान शनिवार की शाम बेसल में दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई, जिसमें करीब 90 लोग शामल थे।

7 जून 2018 को स्वतंत्र यूजर ”Dante De Renzo” के चैनल पर अपलोड किए गए इस वीडियो को देखा जा सकता है। उन्होंने भी बताया है कि यह ब्रिटेन में मुसलमानों के कथित उपद्रव का मामला नहीं है।

स्विस वेब पोर्टल ‘’Basler Zeitung’’ में 20 मई 2018 को प्रकाशित रिपोर्ट में इसकी पुष्टि होती है। रिपोर्ट में बताया गया है कि झड़प का वीडियो 19 मई 2018 का है, जब बेसल शहर में दो क्लबों के बीच हुए चैंपियनशिप मुकाबले के बाद हिंसा और दंगा भड़क उठा।

एक और स्थानीय वेब पोर्टल ‘Tanges Anzeiger’ में भी 20 मई 2018 को प्रकाशित खबर में इस वीडियो को देखा जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, यह वीडियो 19 मई 2018 का है, जब बेसल में दो क्लब के बीच हुए चैंपियनशिप मैच के बाद देर रात सड़कों पर हिंसा भड़क उठी।

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर ब्रिटेन के बर्मिंघम में रमजान के दौरान मुसलमानों के उत्पात के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो स्विट्जरलैंड के बेसल शहर का है। मई 2018 में दो क्लबों के बीच हुए फुटबॉल चैंपियनशिप मैच के बाद बेसल की सड़कों पर उपद्रव की स्थिति बन गई थी, जिसमें उपद्रवियों ने निजी और सार्वजनिक संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचाया था।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : बर्मिंघम में रमजान के दौरान उत्पात मचाते मुस्लिम
  • Claimed By : FB User-Ajay Sher
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ
कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later