X

Fact Check : वेनेजुएला की पुरानी तस्‍वीर को भारतीय सेना के साथ जोड़कर गलत दावे के साथ किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: June 17, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। वेनेजुएला की एक दर्दनाक तस्‍वीर को कुछ लोग सोशल मीडिया पर कश्‍मीर के नाम पर आपत्तिजनक और झूठे दावे के साथ वायरल कर रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि वायरल तस्‍वीर कश्‍मीर की है। इतना ही नहीं, साथ में यह झूठ भी फैलाया जा रहा है कि कश्‍मीर में भारतीय सेना मुसलमानों की हत्‍या कर रही है।

विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि वायरल पोस्‍ट का दावा झूठा है। वेनेजुएला की एक जेल में हुई घटना की तस्‍वीर को जानबूझकर भारतीय सेना और कश्‍मीर को बदनाम करने के लिए फैलाया जा रहा है।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर Aj Asif ने 28 मई को एक तस्‍वीर को अपलोड करते हुए दावा किया : ‘How the Indian Army is killing our Muslims. Our Muslim brothers and sisters are being tortured in Kashmir.’

इस पोस्‍ट को अब तक एक हजार से ज्‍यादा लोग शेयर कर चुके हैं। इतना ही नहीं, यूजर्स इस तस्‍वीर को सच मानकर भारत के खिलाफ कमेंट भी कर रहे हैं।

इस तस्‍वीर को दूसरे यूजर्स भी लगातार सोशल मीडिया के अलग-अलग प्‍लेटफॉर्म पर वायरल कर रहे हैं।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज टूल में अपलोड करके सर्च किया। सर्च के दौरान सबसे पुरानी तस्‍वीर हमें quepasa.com.ve पर मिली। यह वेनेजुएला की वेबसाइट है। वेबसाइट पर मौजूद एक खबर में वायरल तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया। 7 मई को पब्लिश इस खबर का हमने हिंदी में अनुवाद किया।

गूगल ट्रांसलेशन की मदद से हमें पता चला कि 1 मई को वेनेजुएला के ग्वानारे की एक जेल के गेट पर यह घटना हुई। खबर के अनुसार, यह घटना उस वक्‍त हुई, जब कैदी जेल से भागने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस और कैदियों के बीच हुई इस मुठभेड़ में 47 से ज्‍यादा लोग मारे गए।

पूरी खबर को आप यहां पढ़ सकते हैं।

गूगल सर्च के दौरान हमें वेनेजुएला की इस घटना की खबर कई वेबसाइट पर भी मिली। इसमें बताया गया कि वेनेजुएला के पोर्तुग्‍वेसा राज्‍य के ग्‍वानारे के लॉस लानूस की जेल में हिंसा भड़कने से यह घटना घटी।

तस्‍वीर के बारे में अधिक जानकारी जुटाने के मकसद से हमने श्रीनगर में मौजूद दैनिक जागरण के वरिष्‍ठ संवाददाता नवीन नवाज से संपर्क साधा। उन्‍होंने बताया कि वायरल तस्‍वीर का कश्‍मीर से कोई संबंध नहीं है।

तस्‍वीर को लेकर श्रीनगर स्थित रक्षा मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने भी बताया कि यह तस्‍वीर कश्‍मीर की नहीं है। कुछ लोग भारतीय सेना को बदनाम करने लिए ऐसी हरकतें करते हैं।

अंत में हमने फर्जी पोस्‍ट करने वाले यूजर के अकांउट की जांच की। हमें पता चला‍ कि Aj Asif नाम का यह यूजर अल कुवैत में रहता है। इस अकाउंट पर हमें वायरल कंटेंट ज्‍यादा मिला।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि वायरल पोस्‍ट फर्जी है। कश्‍मीर के नाम पर वेनेजुएला की तस्‍वीर वायरल की जा रही है।

  • Claim Review : 'How the Indian Army is killing our Muslims. Our Muslim brothers and sisters are being tortured in Kashmir.'
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Aj Asif
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later