X

Fact Check : मोतिहारी में बुजुर्ग को बच्‍चा चोर समझकर पीटा

  • By Vishvas News
  • Updated: September 24, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया में भीड़ का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो के बारे में कहा जा रहा है कि मोतिहारी के बलुआ चौक पर एक बच्‍चा चोर पकड़ाया है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। सात सितंबर को मोतिहारी के बलुआ चौक इलाके में बली यादव नाम के एक बुजुर्ग की भीड़ ने बच्‍चा चोर के आरोप में पिटाई कर दी। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

परवेज आलम नाम के एक फेसबुक यूजर ने सात सितंबर को एक वीडियो अपलोड करते हुए दावा किया, Baccha Chor Motihari balua Chowk Pakda Gaya

इस वीडियो को 7 सितंबर को सुबह करीब साढ़े दस बजे अपलोड किया गया था।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले इस वीडियो को पूरा देखा। 6:08 मिनट के इस वीडियो में एक व्‍यक्ति तो यह बोलते हुए सुना जा सकता है कि बलुआ चौक पर बच्‍चा चोरी करते हुए एक आदमी पकड़ा गया है। इसके अलावा वीडियो में कुछ लोगों को भोजपुरी में बात करते हुए भी सुना जा सकता है। वीडियो के अंत में एक व्‍यक्ति को यह बोलते हुए सुना कि बलुआ चौक, मोतिहारी, फ्लाईओवर के नीचे।

वीडियो में हमें एक्सिस बैंक का एक एटीम भी दिखा। इसके बाद हमने गूगल मैप की मदद मोतिहारी के बलुआ चौक में स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम को सर्च करना शुरू किया। गूगल मैप में हमें एक्सिस बैंक का एटीएम मिल गया। इसके अलावा वायरल वीडियो में हमें एटीएम के साथ फलाईओवर भी दिखा। मतलब साफ था कि वीडियो फ्लाईओवर के ऊपर से बनाया गया था।

अब हमें यह जानना था कि क्‍या वाकई में मोतिहारी के बलुआ चौक में कोई बच्‍चा चोर पकड़ाया था। इसके लिए हमने गूगल सर्च की मदद ली। गूगल में हमने मोतिहारी में बच्‍चा चोर टाइप करके सर्च किया तो हमें दैनिक जागरण की वेबसाइट पर एक खबर मिली। 8 सितंबर को पब्लिश की गई इस खबर के मुताबिक : ”बलुआ चौक स्थित एक सिनेमागृह परिसर में उन्मादी भीड़ ने कानून को अपने हाथ में लेकर बच्चा चोरी के आरोप में एक वृद्ध को पीटकर अधमरा कर दिया।”

खबर में आगे बताया गया, ”डुमरियाघाट थाना क्षेत्र के नारायणपुर गांव निवासी बली यादव पंजाब जाने के लिए मोतिहारी रेलवे स्टेशन जा रहा था। इसी दौरान किसी ने बच्चा चोरी की अफवाह फैला दी और भीड़ उस वृद्ध पर टूट पड़ी।” जागरण की पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

पड़ताल के दौरान हम दैनिक जागरण के ईपेपर को खंगाला। हमें मोतिहारी जागरण के संस्‍करण में 8 सितंबर को प्रकाशित एक खबर मिली। इसमें बताया गया कि बलुआ चौक पर एक बुजुर्ग को बच्‍चा चोर के आरोप में पीटकर अधमरा कर दिया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर उसकी जान बचाई। पीड़ित को इलाज के लिए सदर अस्‍पताल ले जाया गया। इसके बाद उन्‍हें परिवार को सौंप दिया गया।

वायरल पोस्‍ट की तह में जाने के लिए हमने बिहार में मौजूद दैनिक जागरण के डिजिटल इंचार्ज अमित आलोक से संपर्क किया और उनके साथ पोस्‍ट शेयर की। उन्‍होंने मोतिहारी (पूर्वी चंपारण) के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा से बात करके हमें उनका वर्जन उपलब्‍ध कराया। पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा के अनुसार, सात सितंबर को मोतिहारी शहर के चित्रमंदिर सिनेमा हॉल परिसर में एक वृद्ध को बच्चा चोर के संदेह में भीड़ ने पकड़कर मारपीट की थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे भीड़ से मुक्त कराया और इलाज कराने के बाद परिजनों के हवाले कर दिया। मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की गई है। वीडियो फुटेज के आधार पर भीड़ में शामिल लोगों को चिह्नित करने का आदेश दिया गया है।

अंत में विश्‍वास टीम ने बच्‍चा चोरी के नाम पर फर्जी पोस्‍ट करने वाले फेसबुक यूजर परवेज आलम के फेसबुक अकाउंट की सोशल स्‍कैनिंग की। हमें पता लगा कि परवेज मोतिहारी के ही रहने वाले हैं। उनके अकाउंट पर वायरल कंटेंट को काफी ज्‍यादा पोस्‍ट किया जाता है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि मोतिहारी के बलुआ चौक पर बच्‍चा चोरी के आरोप में बुजुर्ग की पिटाई वाली परवेज आलम द्वारा शेयर की गई फेसबुक पोस्‍ट फर्जी है। बुजुर्ग मोतिहारी रेलवे स्‍टेशन पर ट्रेन पकड़ने जा रहे थे, तभी रास्‍ते में लोगों ने बच्‍चा चोर की अफवाह उड़ा कर उनकी पिटाई कर दी।

बच्‍चा चोरी की अफवाह के कारण देशभर में मानसिक रूप से अस्‍वस्‍थ्‍य, महिलाओं और बुजुर्गों की पिटाई के कई मामले आ चुके हैं। विश्‍वास टीम ने इसे लेकर कई फैक्‍ट चेक किए हैं। इन्‍हें आप यहां पढ़ सकते हैं।

  • Claim Review : दावा किया जा रहा है कि मोतिहारी के बलुआ चौक पर बच्‍चा चोर पकड़ा गया
  • Claimed By : फेसबुक यूजर परवेज आलम
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later