X

Fact Check: पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में भारी संख्या में पाए गए हथियारों का वीडियो हिंदुस्तान में हुआ कश्मीर के नाम से वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: September 27, 2019

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)- आर्टिकल 370 के ख़त्म हो जाने के बाद से पाकिस्तान के वायरल वीडियो और तस्वीरों को कश्मीर के नाम से भारत में फैलाया जा रहा है। इसी कड़ी में हमारे हाथ एक वीडियो लगा, जिसमें पुलिसवालों को एक मोटर बाइक से भरी तादाद में हथियार बरामद करते हुए देखा जा सकता है। सोशल मीडिया यूजर का दावा है कि यह वीडियो कश्मीर का है। हालांकि, विश्वास टीम की जांच में यह दावा ग़लत साबित होता है। हमने पाया कि यह वीडियो प्रांत खैबर पख्तूनख्वा के कोहाट का इसी महीने 17 सितम्बर का है।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर Ajit Singh ने 25 सितम्बर को एक पोस्ट शेयर की जिसमें कुछ पुलिसवालों को एक मोटर बाइक से भारी तादाद में कारतूस, कुछ बंदूकों को निकालते हुए देखा जा सकता है। यूजर ने वीडियो को पोस्ट करते हुए अपने कैप्शन के ज़रिये दावा किया, ”लोग कहते है की पुलिस परेशान करने के लिए जान बूझकर गाड़ी रोकती है ।अब इसको क्या कहेंगी जनता। पुलिस द्वारा जम्मू कश्मीर में एक कार्यवाही।”

हमने पाया कि इस वीडियो को फेसबुक पर बहुत से यूजर मिलते-जुलते दावों के साथ शेयर कर रहे हैं।

पड़ताल

हमने पड़ताल की शुरुआत की और सबसे पहले वीडियो में पुलिसवालों की यूनिफॉर्म पर ग़ौर किया। एक पुलिसवाले की वर्दी पर हमें पाकिस्तानी झंडे के साथ खैबर पख्तूनख्वा पुलिस का बैच भी नज़र आया।

हम खैबर पख्तूनख्वा की ऑफिशियल वेबसाइट पर गए और वहां वही यूनिफॉर्म देखने को मिली जो वीडियो में नज़र आरही है। वीडियो से तुलना करने के लिए वेबसाइट पर दी गई जिस तस्वीर का हमने इस्तेमाल किया है। उसके नीचे लिखा हुआ है, ”खैबर पख्तूनख्वा पुलिस का नया यूनिफॉर्म” . अपने इन कुछ प्वाइंट्स की बुनियाद पर हम यह कह सकते हैं की वीडियो में नज़र आ रही पुलिस पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की ही है।

1- दोनों की यूनिफॉर्म का रंग (वीडियो में तस्वीर के पुलिसवाले की शर्ट और पैंट का एक जैसा रंग)
2- पुलिसवाले की यूनिफॉर्म पर बना पाकिस्तानी झंडा
3- खैबर पख्तूनख्वा प्रांत पुलिस का बैच

अब हमें यह पता चल चुका था कि यह मामला कश्मीर का नहीं, बल्कि पाकिस्तानी प्रांत खैबर पख्तूनख्वा का है। हमने पड़ताल का रुख उसी तरफ किया और कुछ कीवर्ड्स डाल कर खबर को सर्च करना शुरू किया। सबसे पहले हमारे हाथ ‘Pak Mix Updates’ नाम के यूट्यूब चैनल पर 17 सितम्बर को अपलोड हुआ एक वीडियो लगा। वीडियो को साथ दी गई हेडिंग में उर्दू में लिखा है, ” शुक्रदाराह पुलिस ने हथियार स्मगल करने की कोशिश नाकाम बना दी है।” यह वही वीडियो है जिसे अब कश्मीर के हवाले से वायरल किया जा रहा है।

इस वीडियो के साथ दी गई हेडिंग को हमने गूगल पर सर्च किया और हमारे हाथ बहुत से लिंक लगे जिसमें से एक लिंक था न्यूज़ पोर्टल urdupoint.com का लिंक। 17 सितम्बर को छपी इस खबर के मुताबिक़, कोहाट में पुलिसवालों ने मोटर बाइक के ज़रिये दरह आदम ख़ेल से पंजाब के शहर मयानुवली स्मगल की जा रही रेप्टर्स, राइफल, पिस्तौल और कारतूस को बरामद किया है। वहीं खबर में विस्तार से बताया गया कि थाना शुक्रकरदा में मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है और मामले के मुल्ज़िम से पूछताछ की जा रही है।

हमने न्यूज़ सर्च किया और हमारे हाथ DPO Kohat के फेसबुक पेज पर 17 सितम्बर को अपलोड हुआ यही वीडियो मिला। वीडियो के साथ ‘कोहाट में हथियार बरामद’ के साथ-साथ बहुत से कैप्शन उर्दू ज़ुबान में नज़र आये।


हमने अपनी पड़ताल जारी रखी और कोहाट के स्थानीय अखबारों में इसी खबर को तलाश करने की कोशिश की और हमारे हाथ دستک نیوز (दस्तक न्यूज़) के अखबार में 18 सितम्बर को छपी एक खबर लगी। खबर में बताया गया कि कोहाट शकरकरडा पुलिस ने मोटर बाइक के गुप्त हिस्से से बड़ी तादाद में हथियार बरमाद किये और साथ में स्मगलर को गिरफ्तार भी कर लिया है। ”

अपनी खबर को पक्की करने की लिए हमने जम्मू-कश्मीर पुलिस के जम्मू डिवीज़न की पीआर मीनाक्षी वैद से बात की और उन्होंने हमें बताया, ”पाकिस्तान की तरफ से लगातार कश्मीर के नाम पर फ़र्ज़ी वीडियो और तस्वीरें फैलाई जा रही हैं। इन वीडियो का कश्मीर से कोई लेना-देना नहीं है।

अब बारी थी इस पोस्ट को फ़र्ज़ी हवाले के साथ वायरल करने वाले फेसबुक यूजर Ajit Singh की सोशल स्कैनिंग करने की। हमने पाया कि प्रोफाइल से एक ख़ास विचारधारा को प्रमोट करने वाली पोस्ट की जाती हैं।

निष्कर्ष: विश्वास टीम की पड़ताल में कश्मीर के नाम से वायरल हो रहा वीडियो फ़र्ज़ी साबित होता है। वीडियो पाकिस्तान के प्रांत खैबर पख्तूनख्वा की कोहाट का है, जहां 17 सितम्बर को पुलिसवालों ने चेकिंग के दौरान बड़ी तादाद में हथियार बरामद किये थे और मुल्ज़िम की गिरफ़्तारी भी की गई थी।

  • Claim Review : लोग कहते है की पुलिस परेशान करने के लिए जान बूझकर गाड़ी रोकती है ।अब इसको क्या कहेंगी जनता।पुलिस द्वारा जम्मू कश्मीर में एक कार्यवाही।
  • Claimed By : FB User- Ajit Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later