Fact Check: यह वृन्दावन का नहीं, 2015 कोलकाता इस्कॉन मंदिर का वीडियो है

नई दिल्ली (विश्वास टीम)।धर्म एक बहुत ही सेंसिटिव मुद्दा है और लोग इस विषय को लेकर बहुत भावुक होते हैं। सोशल मीडिया पर अक्सर लोग धार्मिक पोस्ट्स को बिना सोचे-समझे शेयर कर देते हैं। आज कल सोशल मीडिया पर ऐसा ही एक धार्मिक पोस्ट वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ भक्तों को बाढ़ के पानी में खड़े होकर कीर्तन करते देखा जा सकता है। वायरल पोस्ट में क्लेम किया जा रहा है कि ये वीडियो मथुरा के वृन्दावन में स्थित इस्कॉन मंदिर का है,जहाँ भक्त मंदिर में बाढ़ का पानी भरने के बावजूद भी कीर्तन और पूजा कर रहे हैं। हमने पड़ताल की तो पाया कि ये वीडियो 2015 कोलकाता का है ,जब मायापुर में स्थित इस्कॉन मंदिर में बाढ़ का पानी घुस गया था।

CLAIM

वायरल पोस्ट में कुछ भक्तों को बाढ़ के पानी में खड़े होकर कीर्तन करते देखा जा सकता है। वायरल पोस्ट में क्लेम किया जा रहा है कि ये वीडियो मथुरा के वृन्दावन में स्थित इस्कॉन मंदिर का है जहाँ भक्त मंदिर में बाढ़ का पानी भरने के बावजूद भी कीर्तन और पूजा कर रहे हैं। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन लिखा है “Due to heavy Rains in Vrindavan, Mathura, the ISKCON Mandir was flooded! Lord Krishna Devotees continue to do Keerthans !!! 🙏🙏Jai Srikrishna! 🙏🙏”

FACT CHECK

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले Invid टूल की मदद से इस वीडियो के कीफ्रेम्स फ्रेम्स निकाले फिर उन्हें गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। सर्च में हमारे सामने कई सारे वीडियो आये जो वायरल वीडियो से हूबहू मिलते थे। ये सभी वीडियो 2015 के थे और सभी के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक, ये जगह कोलकाता के मायापुर में स्थित इस्कॉन मंदिर है।

इसके बाद हमने खोजा तो हमें मायापुर में 2015 में आई बाढ़ की खबर इकोनॉमिक टाइम्स पर भी मिली।

हमें ये खबर इस्कॉन न्यूज़ वेबसाइट पर भी मिली, जिसमें इस पूरे वाकया को विस्तृत रूप में समझाया गया था।

ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने मायापुर इस्कॉन टेम्पल के टूर डिपार्टमेंट को देखने वाले कार्यकारी मनोज कुमार महंतो से बात की, जिन्होंने हमें बताया कि ये वीडियो मायापुर इस्कॉन टेम्पल का ही है। उन्होंने बताया कि ये वीडियो 2015 का है, जब भारी बारिश के बाद मंदिर के अंदर 3 फुट पानी भर गया था।

इसके बाद हमने मथुरा के वृन्दावन में स्थित इस्कॉन मंदिर के एक संयोजक शुभम दुबे से बात की। जिन्होंने हमें बताया कि वृन्दावन इस्कॉन में कोई बाढ़ नहीं आयी है। वहां पूजा सामान्य रूप से हो रही है।

पुष्टि के लिए हमने गूगल मैप पर वृन्दावन में स्थित इस्कॉन मंदिर का सैटेलाइट व्यू देखा पर हमें कहीं भी पानी भरा हुआ नज़र नहीं आया।

इस्कॉन वृन्दावन के फेसबुक पेज पर 23 अगस्त 2019 को सुबह 9 बजकर 43 मिनट एक फेसबुक लाइव भी देखा जा सकता है, जहाँ मंदिर में होता कीर्तन दिख रहा है, पर कहीं भी पानी नहीं है।

Live From Iskcon Vrindavan

Posted by Iskcon vrindavan on Thursday, 22 August 2019

इस पोस्ट को Janaki Tippabhatla नाम के फेसबुक यूजर ने शेयर किया था। 29,199 लोग इन्हें फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: हमनें पड़ताल की तो पाया कि पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है। असल में ये वीडियो वृन्दावन इस्कॉन मंदिर का नहीं है। ये वीडियो 2015 कोलकाता का है,जब मायापुर में स्थित इस्कॉन मंदिर में बाढ़ का पानी घुस गया था।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : मथुरा के वृन्दावन में स्थित इस्कॉन मंदिर में आयी बाढ़
  • Claimed By : Janaki Tippabhatla
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later