X

Fact Check: राहुल गांधी ने नहीं दिया चीलों के बेरोजगार होने का बयान, राजनीतिक दुष्प्रचार की मंशा से वायरल हो रहा ऑल्टर्ड वीडियो

नरेंद्र मोदी सरकार में चीलों के बेरोजगार होने के दावे के साथ राहुल गांधी के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो फेक और ऑल्टर्ड है, जिसे एडिटिंग की मदद से दुष्प्रचार की मंशा के साथ तैयार किया गया है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 7, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। गुजरात और हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के भाषण का कुछ सेकेंड का एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि उन्होंने अपने संबोधन के दौरान चीलों के बेरोजगार होने को लेकर चिंता जताई।

वीडियो को देखकर यह प्रतीत हो रहा है कि यह राहुल गांधी के हाल-फिलहाल की किसी चुनावी रैली का है और और इस दौरान उन्होंने जो कहा, वह बेतुकी बात थी। विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में इस वीडियो क्लिप को एडिटेड पाया, जिसे राहुल गांधी के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। ओरिजिनल वीडियो दिल्ली चुनाव के दौरान प्रचार का है, जब राहुल गांधी ने गंदगी को लेकर बीजेपी और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था और उनके इसी भाषण के एडिटेड क्लिप को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

क्या है वायरल?

इंस्टाग्राम यूजर ‘l.creations.l’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर किया है, जिसमें राहुल गांधी चीलों के बारे में बोलते हुए सुने जा सकते हैं।

पड़ताल

वीडियो में राहुल गांधी को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ”…..मुझे एक बात समझाओ…यहां पर जो चील है…ये जो चील हैं, यहां पर क्यों उड़ रहे हैं। ये चील यहां क्या कर रहे हैं बताओ? कोई बता सकता है कि यहां पर जो चील हैं, वह यहां पर क्यों घूम रहे हैं….क्योंकि पिछले पांच सालों से उनको रोजगार नहीं मिल रहा है।”

वीडियो के ऑडियो को सुनकर स्पष्ट हो जाता है कि यह स्वाभाविक नहीं है, बल्कि इसमें एडिट कर छेड़छाड़ की गई है। वायरल वीडियो के आधार पर उपयुक्त की-वर्ड्स से सर्च करने पर इंडियन नेशनल कांग्रेस के यूट्यूब चैनल पर दो साल पहले अपलोड किया हुआ वीडियो मिला। दी गई जानकारी के मुताबिक, यह वीडियो दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के प्रचार के दौरान कोंडली में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के भाषण का है।

23.30 मिनट के वीडियो में 8.50 मिनट के फ्रेम से आगे सुनने के बाद हमें वायरल वीडियो क्लिप का पूरा संदर्भ मिल जाता है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी कहते हैं, ”…..पिछले पांच सालों में नरेंद्र मोदी ने 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपये अनिल अंबानी और अडाणी जैसे लोगों को दिए हैं। ये आप समझिए कि क्यों दे पाए? ये इसलिए दे पाए कि आप लोगों को बांटा। आप लोग एक-दूसरे से लड़ते हो और आपकी जेब से पैसा निकालकर सीधा अडाणी की जेब में जाता है। आपको पता भी नहीं लगता कि आपका कितना पैसा अडाणी और अंबानी की जेब में जाता है।”

इसके बाद वह आसमान की तरफ इशारा करते हुए कहते हैं, ”’……अच्छा भैया मुझे एक बात बताओ…समझाओ कि ये जो चील हैं, यहां क्यों उड़ रहे हैं। ये चील यहां क्या कर रहे हैं, बताओ मुझे! कोई बता सकता है कि ये जो चील यहां पर घूम रहे हैं, यहां पर क्यों घूम रहे हैं?……ये जो गंदगी है, आप बताओ उसे हटाने के लिए कितने करोड़ रुपये लगेंगे? कितने लगेंगे बताओ? पांच करोड़, दस करोड़….देखो ये बच्ची कह रही है कि पांच करोड़..दस करोड़। ठीक है पचास करोड़ लग जाएंगे। नरेंद्र मोदी जी ने कुछ ही दिन पहले हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का एक लाख 30 हजार करोड़ रुपये टैक्स माफ किया है।’

वीडियो को सुनकर यह स्पष्ट हो जाता है उन्होंने चीलों का जिक्र गंदगी को हटाने के संदर्भ में किया था, न कि बेरोजगारी के संदर्भ में। बेरोजगारी वाली बात को एडिट कर जोड़ा गया है, जिससे भाषण का पूरा संदर्भ बदल जाता है।

वायरल वीडियो को लेकर विश्वास न्यूज ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अभिमन्यु त्यागी से संपर्क किया। उन्होंने कहा, ‘यह वीडियो एडिटिंग की मदद से तैयार किया गया है और लोगों का वास्तविक मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए बीजेपी आईटी सेल यह काम लगातार करती रहती हैं।’

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को इंस्टाग्राम पर करीब 400 लोग फॉलो करते हैं।

राहुल गांधी फिलहाल ‘भारत जोड़ो’ यात्रा पर हैं और इस दौरान यात्रा से संबंधित कई भ्रामक और फर्जी वीडियो को साझा किया जा चुका है। विश्वास न्यूज की वेबसाइट पर इस यात्रा से जुड़ी भ्रामक और फेक दावों की पड़ताल करती फैक्ट चेक रिपोर्ट्स को यहां क्लिक कर पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: नरेंद्र मोदी सरकार में चीलों के बेरोजगार होने के दावे के साथ राहुल गांधी के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो फेक है, जिसे एडिटिंग की मदद से दुष्प्रचार की मंशा के साथ तैयार किया गया है।

  • Claim Review : राहुल गांधी ने कहा चीलों के बेरोजगार होने का दावा
  • Claimed By : Insta User-l.creations.l
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later