X

Fact Check: नामीबियाई चीतों को भारत लाने के लिए विमान पर नहीं कराई गई स्पेशल पेंटिंग, भ्रामक दावा वायरल

विश्वास न्यूज की पड़ताल में चीतों को लेकर आए विमान की तस्वीर को लेकर किया जा रहा दावा भ्रामक निकला। विमान पर टाइगर की यह पेटिंग साल 2015 में एक रूसी एयरलाइन कंपनी ने बनवाई थी। जिसकी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: September 20, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। मध्‍य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्‍मदिन पर अफ्रीकी देश नामीबिया से चीतों को लाया गया। विशेष विमान से ये चीतें पहले ग्‍वालियर, फिर हेलीकॉप्‍टर से कूनो तक लाए गए। अब सोशल मीडिया के विभिन्‍न प्‍लेटफार्म पर चीतों के विशेष विमान की तस्‍वीर को वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि चीतों को भारत लाने के लिए सरकार ने करोड़ों रुपए खर्च कर विमान पर खास-तौर पर चीते की तस्वीर बनाई है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक निकला। विमान पर टाइगर की यह पेटिंग साल 2015 में एक रूसी एयरलाइन कंपनी ने बनवाई थी। जिसकी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर हेमंत ठाकुर ने वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है : “मैं पहले ना कहता था पप्पू का गप्पू से कोई मुक़ाबला हो ही नहीं सकता। गप्पू के जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लेने गए जहाज़ का मुखड़ा ही बदलवा डाला । है कोई, इससे बड़ा फ़र्ज़ी शोमैन ? लोग भूखे मर रहे हैं और वो जहाज़ से जानवर ला रहा है? उसे पता है कि हम मूर्ख इस इवेंटबाजी से ही प्रभावित होकर वोट डालते हैं, महंगाई और बेरोज़गारी के मुद्दों पर नहीं। तो प्यारे, भुक्तते रहो, उनके पिता जी का क्या जाता है? वो तो ठाठ में ही है, सौ महीने से।”

फेसबुक पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। पोस्‍ट को सच समझकर दूसरे यूजर्स भी वायरल कर रहे हैं। पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। हमें दावे से जुड़ी एक रिपोर्ट Siberian Times की वेबसाइट पर मिली। रिपोर्ट को 23 जून 2015 को प्रकाशित किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, रूस की एक विमान कंपनी ट्रांसएरो ने अपने एक विमान बोइंग 747-400 पर साइबेरियाई बाघ की पेंटिंग बनवाई थी। इसका मकसद लोगों को साइबेरियाई बाघ के बारे में जागरूक करना था।

Daily Mail सहित अन्य न्यूज वेबसाइट ने भी 2015 में इस खबर को प्रकाशित किया था।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने बोइंग 747-400 के बारे में सर्च करना शुरू किया। इस इस दौरान हमें विमानों के बारे में जानकारी देने वाली वेबसाइट Simple Flying पर मिली। रिपोर्ट 28 मई 2022 को प्रकाशित मिली। रिपोर्ट के अनुसार, 2021 में विमान को दुबई की एक एयरलाइन कंपनी एक्विलाइन इंटरनेशनल ने खरीद लिया था।

हमें बोइंग 747-400 के बारे में यह जानकारी विमानों के बारे में जानकारी देने वाली एक अन्य वेबसाइट Plane Spotter पर भी प्राप्त हुई।

पड़ताल के दौरान हमें एक वीडियो रिपोर्ट दूरदर्शन के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड मिली। रिपोर्ट को 15 सितंबर को शेयर किया गया था। रिपोर्ट में एक्विलाइन इंटरनेशनल के CEO रोमन ट्रैंडाफिलॉफ से खास बातचीत की गई है। वीडियो में रोमन ट्रैंडाफिलॉफ को कहते हुए सुना जा सकता है कि हमने इस विमान को एक साल पहले लिया था। इस विमान में काफी बदलाव किए गए हैं, ताकि चीतों को सही और आरामदायक तरीके से भारत ले जाया जा सके।

अधिक जानकारी के लिए हमने इस विमान की स्टोरी को कवर करने वाले डीडी न्यूज के रिपोर्टर, तपस भट्टाचार्य से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा गलत है। यह विमान भारत का नहीं है। इस पर टाइगर की तस्वीर कई साल पहले बनवाई गई है। यह हाल-फिलहाल की नहीं है। भारत सरकार ने इस विमान में जरूरी बदलाव करवाए थे, ताकि चीतों को सही तरीके से भारत लाया जा सके।

विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि नामीबिया में भारतीय दूतावास ने इस तस्वीर को सबसे पहले ट्वीट किया। 15 सितंबर 2022 को इस तस्वीर को शेयर करते हुए अंग्रेजी में कैप्शन में लिखा गया था, “चीतों को लाने के लिए स्पेशल विमान पहुंचा।” लेकिन कई यूजर्स और मीडिया संस्‍थानों ने इस तस्‍वीर को गलत संदर्भ के साथ इस्‍तेमाल किया।

पड़ताल के अंत में विश्वास न्यूज ने फर्जी पोस्ट करने वाले यूजर हेमंत ठाकुर की सोशल स्कैनिंग की। प्रोफाइल पर दी गई जानकारी के मुताबिक, यूजर नासिक का रहने वाला है। फेसबुक पर यूजर के चार हजार से ज्यादा मित्र हैं। 

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में चीतों को लेकर आए विमान की तस्वीर को लेकर किया जा रहा दावा भ्रामक निकला। विमान पर टाइगर की यह पेटिंग साल 2015 में एक रूसी एयरलाइन कंपनी ने बनवाई थी। जिसकी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : पीएम मोदी ने नामीबियाई चीतों को भारत लाने के लिए जहाज पर स्पेशल पेंट करवाया।
  • Claimed By : हेमंत ठाकुर
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later