X

Fact Check: फरीदाबाद के पुराने पुलिस दुर्व्यवहार के वीडियो को फिर से किया जा रहा है वायरल

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)।  सोशल मीडिया पर आज कल एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक व्यक्ति को एक महिला को मारते देखा जा सकता है। वीडियो में एक पुलिसवाले को देखा जा सकता है। साथ में, वीडियो में सादे कपड़ों में भी 2 लोग नज़र आ रहे हैं। वीडियो बनाने वाले भी 2 लोग हैं। वीडियो में पुलिस वर्दी पहने व्यक्ति को महिला से एक फ़ोन नंबर मांगते देखा जा सकता है, इसी बीच एक दूसरा व्यक्ति उसे बेल्ट से मारने लगता है। पूरे वीडियो में ये व्यक्ति महिला को लगभग 4-5 बार मारता है। वीडियो में दावा किया जा रहा है कि ये घटना पुलिस स्टेशन की है और महिला को मारने वाले पुलिसवाले हैं। क्लेम में पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की गयी है। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि ये घटना अक्टूबर 2018 की है जिसका वीडियो मई 2019 में सामने आया था। इसपर कार्रवाई करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने आरोपित दो हेड कॉन्स्टेबल बलदेव और रोहित को निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही तीन एसपीओ कृष्ण, हरपाल और दिनेश को बर्खास्त कर दिया था। इन पांचों के खिलाफ केस अभी भी चल रहा है।

CLAIM

वायरल वीडियो में एक व्यक्ति को एक महिला को मारते देखा जा सकता है। वीडियो में एक पुलिस वाले को देखा जा सकता है। साथ में, वीडियो में सादे कपड़ों में भी 2 लोग नज़र आ रहे हैं। इसके अलावा वीडियो को बनाने वाले भी 2 लोग हैं। वीडियो के साथ क्लेम में लिखा है, “👆🏻👇🏻👉 पुलिस चौकी में महिला को बेल्ट से पिट रहा है पुलिस वाला।जबकि महिला को पुरुष पुलिसवाले हाथ भी नहीं लगा सकते।नियमानुसार।इस वीडियो को इतना फैलाओ की इन कुत्तों के खिलाफ कार्यवाही हो।😡😡😡”

FACT CHECK

इस वीडियो की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस वीडियो को Invid टूल पर डाला और इसके कीफ्रेम्स निकाले। इन कीफ्रेम्स को जब हमने गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो हमारे हाथ जागरण की एक खबर लगी। 27 May 2019 को फाइल की गई इस खबर के अनुसार, ये घटना हरियाणा के फरीदाबाद स्थित आदर्शनगर की है। खबर के अनुसार, ये घटना अक्टूबर 2018 की है जब आदर्श नगर थाने में तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा थाना परिसर में एक महिला की बेल्ट से पिटाई की गयी थी। पुलिस आयुक्त ने त्वरित संज्ञान लेते हुए आरोपित दो हेड कॉन्स्टेबल बलदेव और रोहित को निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही तीन एसपीओ कृष्ण, हरपाल और दिनेश को बर्खास्त कर दिया था।

इस सिलसिले में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने फरीदाबाद पुलिस के PRO सूबे सिंह से बात की। उन्होंने हमें बताया, “ये घटना अक्टूबर 2018 की है। आदर्श नगर पुलिस को एक सूचना मिली थी कि पार्क में एक आदमी और औरत कुछ गलत काम कर रहे है, जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस को देख कर व्यक्ति फरार हो गया था और वहां मौजूद महिला से पूछताछ में पुलिसकर्मियों ने अभद्र व्यवहार किया और बेल्ट से मारपीट की थी। इसी मारपीट का एक वीडियो है। इन सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस चल रहा है और आरोपित दो हेड कॉन्स्टेबल बलदेव और रोहित को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही तीन एसपीओ कृष्ण, हरपाल और दिनेश को बर्खास्त कर दिया था।

फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर के के राव के अनुसार, 2018 अक्टूबर में पुलिसकर्मियों के द्वारा किया गया कार्य अशोभनीय और नियमों के विरुद्ध था, ऐसे कार्य से पुलिस की छवि धूमिल होती है। नियमानुसार पुलिसकर्मियों को ऐसी शिकायत मिलने पर महिला पुलिस का सहयोग लेना चाहिए था। घटना की जांच और पूछताछ भी महिला पुलिसकर्मी द्वारा ही की जानी चाहिए थी। जो नहीं की गई। इनके खिलाफ कार्रवाई न होने वाली खबर गलत है। थाना के ही अतिरिक्त एसएचओ राजेंद्र सिंह की शिकायत पर हेड कॉन्स्टेबल बलदेव और रोहित समेत तीन एसपीओ कृष्ण, हरपाल और दिनेश के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। यह मामला उसी थाने में दर्ज हुआ था, जिसमें यह पुलिसकर्मी तैनात थे। संज्ञान में आते ही सभी संबंधित पुलिसकर्मियों को निलंबित या बर्खास्त कर दिया गया था। साथ ही, 2 हेड कॉन्स्टेबल को अरेस्ट भी किया गया था।

इस पोस्ट को Aja take नाम के फेसबुक पेज द्वारा शेयर किया गया था। इस पेज के कुल 3,298 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: हमने अपनी पड़ताल में पाया कि ये घटना अक्टूबर 2018 की है जिसका वीडियो मई 2019 में सामने आया था। इसपर कार्रवाई करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने आरोपित दो हेड कॉन्स्टेबल बलदेव और रोहित को निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही तीन एसपीओ कृष्ण, हरपाल और दिनेश को बर्खास्त कर दिया था। इन सभी के खिलाफ कोर्ट केस भी चल रहा है।

जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later