X

Fact Check : पीएम मोदी ने कैमरे के लिए एकनाथ शिंदे को नहीं हटाया पीछे, आधी-अधूरी क्लिप वायरल

विश्वास न्यूज की जांच में पीएम मोदी और सीएम एकनाथ शिंदे के वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत और दुष्प्रचार निकला। वायरल वीडियो वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के उद्घाटन के कार्यक्रम की एक छोटी-सी वीडियो क्लिप है, जिसे पीएम मोदी के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। पूरे वीडियो के एक भाग को इस प्रकार उठाया गया है, जिससे लग रहा है कि वो सीएम एकनाथ शिंदे को पीछे हटा रहे हैं, जबकि असल में वे खुद पीछे की तरफ गए थे।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 15, 2022
Remove Eknath Shinde From Vande Bharat Inauguration

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में नागपुर-बिलासपुर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का उद्घाटन किया है। इसी कार्यक्रम का पांच सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पीएम मोदी (PM Modi) महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे का हाथ पकड़कर उन्हें पीछे हटा रहे हैं। इस वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि कैमरे के सामने आने के लिए पीएम मोदी ने एकनाथ शिंदे को पीछे कर दिया।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत और दुष्प्रचार निकला। वायरल वीडियो वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के उद्घाटन के कार्यक्रम की एक छोटी-सी वीडियो क्लिप है, जिसे पीएम मोदी के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। पूरे वीडियो के एक भाग को इस प्रकार उठाया गया है, जिससे लग रहा है कि वो सीएम एकनाथ शिंदे को पीछे हटा रहे हैं, जबकि असल में वे खुद पीछे की तरफ गए थे।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर शशि प्रकाश सिंह ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए अंग्रेजी में लिखा है, “ये फोटोजीवी ही आगे रहेगा घनघोर बेइज्जत….प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एकनाथ शिंदें को बेईज्जत कर दिया।”

इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। पोस्ट के आर्काइव लिंक को यहां पर देखें।

https://twitter.com/ysathishreddy/status/1601912295772557312

पड़ताल 


वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर संबंधित कीवर्ड्स से सर्च करना शुरू किया। इस दौरान हमें वीडियो का लंबा वर्जन पीएम नरेंद्र मोदी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ मिला। वीडियो को 11 दिसंबर 2022 को शेयर हुआ मिला। 6 मिनट 25 सेकंड के इस वीडियो को हमने पूरा देखा। हमने पाया कि सीएम एकनाथ शिंदे कार्यक्रम के दौरान पूरे समय पीएम मोदी के साथ थे।

वीडियो में 4 मिनट 46 सेकंड पर देखा जा सकता है कि पीएम मोदी पहले ट्रेन को हरी झंडी दिखाते हैं, फिर वो लोगों को अभिनंदन करने के लिए हाथ हिलाते हैं। तभी सीएम एकनाथ शिंदे थोड़ा पीछे होते हैं, फिर तुरंत ही पीएम मोदी पीछे मुड़कर उनसे हाथ मिलाते हैं।

हमें ये वीडियो केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी सहित कई न्यूज चैनल के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर भी शेयर हुआ मिला।

नवभारत टाइम्स पर छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, पीएम मोदी ने 11 दिसंबर को नागपुर में देश की 6वीं वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी। इस दौरान कार्यक्रम में सीएम एकनाथ शिंदे के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, उप-मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी मौजूद थे। कई अन्य न्यूज वेबसाइट ने भी इस खबर को प्रकाशित किया था।

अधिक जानकारी के लिए हमने इस कार्यक्रम को कवर करने वाले नागपुर के पत्रकार रजत देशमुख से संपर्क किया। हमने वायरल दावे को उनके साथ शेयर किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा भ्रामक है।

पड़ताल के अंत में विश्वास न्यूज ने फेक दावे को शेयर करने वाले यूजर शशि प्रकाश सिंह के हैंडल की सोशल स्कैनिंग की। स्कैनिंग से हमें पता चला कि यूजर के चार हजार तीन सौ से ज्यादा मित्र हैं। प्रोफाइल पर दी गई जानकारी के मुताबिक, यूजर फरीदाबाद का रहने वाला है। 

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की जांच में पीएम मोदी और सीएम एकनाथ शिंदे के वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत और दुष्प्रचार निकला। वायरल वीडियो वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के उद्घाटन के कार्यक्रम की एक छोटी-सी वीडियो क्लिप है, जिसे पीएम मोदी के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। पूरे वीडियो के एक भाग को इस प्रकार उठाया गया है, जिससे लग रहा है कि वो सीएम एकनाथ शिंदे को पीछे हटा रहे हैं, जबकि असल में वे खुद पीछे की तरफ गए थे।

  • Claim Review : पीएम मोदी ने कैमरे के लिए एकनाथ शिंदे को पीछे हटाया
  • Claimed By : शशि प्रकाश सिंह
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later