Fact Check: राजस्थान के शिवलिंग की फोटो को मक्का-मदीना का बता कर किया जा रहा है वायरल

0

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर आज कल एक शिवलिंग की तस्वीर वायरल हो रही है जिसे मक्का-मदीना का शिवलिंग बताया जा रहा है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है, “इतिहास मे पहली बार मक्का मदीना का शिवलिंग दिखाया गया हे सभी हिन्दू भाई चुके नही शेयर जरूर करे।” हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह दावा गलत है। यह शिवलिंग असल में राजस्थान के विराटनगर में भीम की डूंगरी मंदिर में स्थित है।

CLAIM

वायरल फोटो में एक शिवलिंग की तस्वीर है जिसे मक्का-मदीना का बताया जा रहा है। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है, “इतिहास मे पहली बार मक्का मदीना का शिवलिंग दिखाया गया हे सभी हिन्दू भाई चुके नही शेयर जरूर करे।”

FACT CHECK

अपनी पड़ताल को शुरू करने के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर को ठीक से देखा। इस फोटो में कई मुँह वाले शिव भगवान का शिवलिंग दिख रहा है। साथ ही, एक व्यक्ति धोती पहने और हाथ जोड़े खड़ा है। इस फोटो में एक व्यक्ति को शिवलिंग के सामने साष्टांग प्रणाम करते भी देखा जा सकता है। शिवलिंग के ऊपर चट्टान भी है जिससे ये जगह किसी गुफा जैसी लग रही है। शिवलिंग के ऊपर कुछ फूल भी चढ़े हुए हैं। कुल मिला कर यह मंदिर जैसा लग रहा है जहाँ इस शिवलिंग की पूजा होती है।

पड़ताल को आगे बढ़ाने के लिए हमने इस फोटो का स्क्रीनशॉट किया और उसे गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। इस सर्च में हमारे हाथ MapofIndia वेबसाइट पर पब्लिश्ड एक आर्टिकल लगा जिसमें इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था। इस आर्टिकल की हेडलाइन थी ‘Viratnagar: Buddhist Art and Mughal Architecture in Jaipur.” इस आर्टिकल को आभा नाम की एक फ्रीलान्स राइटर ने लिखा था। आर्टिकल में पाण्डु गुफा में स्थित भीम की डूंगरी का 12 मुखी शिवलिंग बता कर इस तस्वीर को अपलोड किया गया है।

पड़ताल के लिए हमने आगे विराटनगर शिवलिंग कीवर्ड के साथ गूगल सर्च किया तो पहले ही पेज पर इस वायरल शिवलिंग की तस्वीर निकल कर आई।

इस विषय में पुष्टि के लिए हमने राजस्थान के विराटनगर के जाने-माने आचार्य धर्मेंद्र महाराज से बात की जिन्होंने हमें बताया, “असल में यह तस्वीर भीम जी की डूंगरी में स्थित एकादश शिवलिंग की है जिसे 10-12 साल पहले इस गुफा में स्थापित किया गया था। इस शिवलिंग का मक्का-मदीना से कोई लेना-देना नहीं है।”

यह पोस्ट पिछले काफी समय से कई सोशल मीडिया पेज पर वायरल हो रहा है। हाल में इस पोस्ट को Rishi Bhola नाम के एक फेसबुक यूजर ने शेयर किया था।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह दावा गलत है। यह शिवलिंग असल में राजस्थान के विराटनगर में भीम की डूंगरी मंदिर में स्थित है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख