X

Fact Check: ये धार्मिक किताबें बिहार से नहीं, सउदी अरब के नाले से मिली है

  • By Vishvas News
  • Updated: October 7, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)।सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें कुछ धार्मिक किताबों को एक नाली के पास पड़ा देखा जा सकता है। वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि ये घटना बिहार की है, जहाँ एक नाले में ये धार्मिक किताबें मिलीं हैं। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि ये दावा गलत है। असल में ये घटना 2013 की है जब सऊदी अरब के तैफ इलाके में एक नाली में से ये धार्मिक किताबें निकलीं थीं। इसी तस्वीर को बिहार का बता कर वायरल किया जा रहा है।

CLAIM

वायरल तस्वीर में कुछ धार्मिक किताबों को एक नाली के पास पड़ा देखा जा सकता है। वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है “बिहार में ये सब #कुरआनपाक गटर नाली से पाए गए है। सारी मीडिया खामोश है अगर आप सच्चे मोमिन हो तो #अल्लाहके_वास्ते ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें।”

FACT CHECK

इस पोस्ट की जाँच करने के लिए हमने इस तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च किया। इस जांच में हमारे हाथ riyadhconnect.com की एक खबर लगी जिसमें इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था। Dec 14, 2013 को पब्लिश की गयी इस खबर के मुताबिक, ये घटना सऊदी अरब के तैफ इलाके की है जहाँ एक मस्जिद के पास बने नाले से ये धार्मिक किताबें निकाली गयीं थीं।

ये खबर सऊदी अरब के एक यूट्यूब चैनल पर भी हमें मिली।

ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने तैफ पुलिस डिपार्टमेंट के मीडिया एंड कम्युनिकेशन इंचार्ज मुहम्मद अल हज़ारी से बात की। उन्होंने हमें बताया कि ये घटना 2013 की है, जब तैफ के अल सलामा जिले में एक नाले में से ये किताबें निकलीं थीं। ये मामला अभी प्रिज्यूडिस है।

हमने इस सिलसिले में बिहार सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड के चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर डॉ एम् ऐ अजाज़ी से बात की। उन्होंने कहा कि ये घटना बिहार का नहीं है।

इस पोस्ट को ‘खुज़ली तो होगी ही’ नाम के एक फेसबुक पेज ने शेयर किया था। इस पेज के कुल 844,046 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: हमने अपनी पड़ताल में पाया कि असल में ये घटना 2013 की है, जब सऊदी अरब के तैफ इलाके में एक नाली में से ये धार्मिक किताबें निकलीं थीं। इसी तस्वीर को बिहार का बता कर वायरल किया जा रहा है। ये दावा पूरी तरह गलत है।

  • Claim Review : बिहार में ये सब #कुरआन_पाक गटर नाली से पाए गए है। सारी मीडिया खामोश है अगर आप सच्चे मोमिन हो तो #अल्लाह_के_वास्ते ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें।
  • Claimed By : खुज़ली तो होगी ही
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later