X

Fact Check: उत्तराखंड में आई प्राकृतिक आपदा की नहीं है वायरल हो रही यह तस्वीर

  • By Vishvas News
  • Updated: February 11, 2021

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर में खालसा एड के कुछ लोग बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करते दिख रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि तस्वीर उत्तराखंड की है, जहां हाल ही में आई आपदा के दौरान खालसा एड के वॉलन्टियर्स लोगों को राहत सामग्री पहुंचा रहे हैं। अलकनंदा नदी में आई इस बाढ़ ने हाल में उत्तराखंड में काफी तबाही मचाई है।

विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल पोस्ट के साथ किया जा रहा दावा सही नहीं है। वायरल तस्वीर उत्तराखंड की नहीं, बल्कि साल 2019 में बिहार में आई बाढ़ के समय की है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को कई लोगों ने शेयर किया है। ट्विटर यूजर @Amandee11748300 ने यह तस्वीर पोस्ट करते हुए अंग्रेज में कैप्शन लिखा जिसका हिंदी अनुवाद हैः उत्तराखंड से ग्राउंड जीरो की अपडेट, खालसा एड इंडिया के वॉलन्टियर्स की टीम उस जगह पर पहुंच गई है, जहां ग्लेशियर आपदा की वजह से लोग फंसे हुए हैं। स्टेट डिजास्टर अथॉरिटी के साथ मिलकर ग्राउंड जीरो का मुआयना किया जा रहा है।

वायरल पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देख सकते हैं।

ट्विटर यूजर जसविंदर कौर @aggusaini19 ने भी इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए पंजाबी में कैप्शन लिखा जिसका हिंदी अनुवाद हैः उत्तराखंड में आतंकवादी पहुंच गए हैं…हम बुरे लोग हैं जनाब इसीलिए बुरे वक्त में ही काम भी आते हैं…#PrayForUttarakhand #FarmersProtests

इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने पड़ताल शुरू करते हुए सबसे पहले वायरल तस्वीर को थोड़ा जूम करके देखा तो हमें ट्रैक्टर-ट्रॉली के पीछे लगे बैनर पर साल 2019 लिखा हुआ नजर आया।

इसके बाद हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा तो हमें यह तस्वीर पीटीसी पंजाबी के एक आर्टिकल में मिल गई। यह आर्टिकल 4 अक्टूबर 2019 को पब्लिश किया गया था।

इस आर्टिकल में खालसा एड का एक ट्वीट भी शामिल किया गया था, जिसमें वायरल तस्वीर के अलावा भी कुछ तस्वीरें थीं। हमने पाया कि खालसा एड ने यह ट्वीट 4 अक्टूबर 2019 को किया था, जिसके साथ कैप्शन में यह लिखा गया था कि खालसा एड इंडिया की टीम बिहार में आई बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करने पटना पहुंची थी।

ज्यादा जानकारी के लिए हमने दैनिक जागरण बिहार में हमारे संवाददाता अमित आलोक से संपर्क किया। उन्होंने भी पुष्टि की कि वायरल तस्वीर साल 2019 में बिहार में आई बाढ़ के समय की है।

उत्तराखंड में आई आपदा में मदद का हाथ बढ़ाने के लिए खालसा एड भी वहां पहुंचा हुआ है और उन्होंने हाल ही अपने ट्विटर हैंडल से वीडियो जारी कर इसकी जानकारी दी थी।

https://twitter.com/Khalsa_Aid/status/1359031570334687232

अब बारी थी ट्विटर पर इस पोस्ट को साझा करने वाली यूजर Jaswinder Kaur के बारे में जानने की। हमने यूजर की प्रोफाइल को स्कैन किया तो पाया कि यूजर मोहाली, पंजाब की रहने वाली है और उसने पिछले साल नवंबर में ही ट्विटर पर अकाउंट बनाया है। खबर लिखे जाने तक उसके 393 फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: वायरल हो रही तस्वीर साल 2019 में बिहार में आई बाढ़ के समय की है। यह तस्वीर उत्तराखंड की नहीं है। हालांकि, खालसा एड के वॉलन्टियर्स उत्तराखंड में आई आपद में मदद के लिए पहुंचे हुए हैं।

  • Claim Review : उत्तराखंड में आई आपदा में मदद के लिए पहुंचे खालसा एड के वॉलंटीयर्स की तस्वीर
  • Claimed By : Twitter User: Jaswinder Kaur
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later