X

Fact Check: पाकिस्तान के वीडियो को नूपुर शर्मा के बयान पर हुई प्रतिक्रिया बताकर फैलाया जा रहा है भ्रम

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा गलत है। वीडियो पाकिस्तान के लाहौर का है, और तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी के देहांत के बाद उनके चेहल्लुम का है जो 03 जनवरी 2021 को आयोजित किया गया था। इसका नूपुर शर्मा के बयान से कोई लेना-देना नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 8, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें भारी भीड़ देखी जा सकती है। इसे शेयर करके यूजर्स दावा कर रहे हैं कि यह भीड़ नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ सड़क पर उतरी है। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा गलत है। वीडियो पाकिस्तान के लाहौर का है और तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी के देहांत के बाद उनके चेहल्लुम का है, जो 03 जनवरी 2021 को आयोजित किया गया था।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर शैख़ यासर (आर्काइव लिंक) ने 6 जून को वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “अपने “Prophet Muhammad”  के #नामूस के खातिर आज सऊदी अरब,  ईरान, कतर, कुवैत, लीबिया, ओमान, बहरीन, अफगानिस्तान, सब हुज़ूर  के नाम पर एक साथ है..ओर  मुत्तहिद होने का बस एक ही वज़ह “La ilaha illallahu muhammadur rasulullah” ही है..#OurProphetOurHonour”

पड़ताल

वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए हमने इस वीडियो के कीफ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें यह वीडियो Labbaik News नाम के यूट्यूब चैनल पर 4 जनवरी, 2021 को अपलोडेड मिला। वीडियो में लोकेशन लाहौर बताया गया था। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन लिखा था, “Allama Khadim Hussain Rizvi Chehlum | TLP Chehlum 2021” खादिम हुसैन रिज़वी।

सर्च करने पर हमने पाया 19 नवंबर 2021 को तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के प्रमुख, खादिम हुसैन रिज़वी का 54 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। उनके देहांत का 40 दिन पूरा होने का अनुष्ठान, चेहल्लुम 03 जनवरी 2021 को लाहौर में मुल्तान रोड पर मस्जिद रहमतुल लील अलामीन के पास आयोजित किया गया था। वायरल वीडियो में दिख रहा दृश्य इसी चेहल्लुम का है।

खादिम हुसैन रिज़वी के चेहल्लुम के और भी कई वीडियोज हमें यूट्यूब पर मिले। इन वीडियोज में वायरल वीडियो वाली जगह को दूसरे एंगल्स से देखा जा सकता है।

इस बारे में हमने पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल न्यूज़ 24 एचडी के रिपोर्टर मोहम्मद कामरान से संपर्क साधा। उन्होंने कन्फर्म किया, “वीडियो 2021 का है और पाकिस्तान का है।”

आपको बता दें कि नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद भारत में कई जगहों पर प्रदर्शन हुए हैं। मगर वायरल वीडियो ऐसे किसी प्रदर्शन का नहीं है।

वीडियो को भ्रामक दावे के साथ वायरल करने वाले फेसबुक यूजर ‘शेख़ यासर’ के प्रोफाइल को हमने स्कैन किया। यूजर के फेसबुक पर 35,867 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा गलत है। वीडियो पाकिस्तान के लाहौर का है, और तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी के देहांत के बाद उनके चेहल्लुम का है जो 03 जनवरी 2021 को आयोजित किया गया था। इसका नूपुर शर्मा के बयान से कोई लेना-देना नहीं है।

  • Claim Review : अपने
  • Claimed By : Kamal Shaikh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later