Fact Check : शहीद का बेटा नहीं, बल्कि पाकिस्तान के सोशल मीडिया का स्टार सिंगर है बच्चा, वायरल वीडियो का दावा गलत है

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। उस वीडियो में एक बच्चा गाना गा रहा है “बाबा मेरे बाबा ” और उसके साथ ये दावा किया जा रहा है कि यह एक शहीद का बेटा है, जबकि ये बच्चा पाकिस्तान का एक सिंगर है और इसके पिता शहीद नहीं, बल्कि वह भी एक पाकिस्तानी सिंगर है। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में इस दावे को गलत साबित किया।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

अक्सर सोशल मीडिया पर अलग-अलग मंच पर आपने एक वीडियो वायरल होता देखा होगा और उस बच्चे को गाते हुए सुना भी होगा। “बाबा मेरे बाबा” गाने के बोल वाला ये वीडियो इस दावे के साथ वायरल होता हुआ नज़र आता है की ये बच्चा एक शहीद का बेटा है और अपने पिता की याद में इस गाने को गा रहा है। एक फेसबुक पेज “indore ajab gajab page” इस वीडियो को अपलोड करता है जिसका दावा है “Army Officer ‘ son Sing Heart Touching Song Never give up…” इस वीडियो को बहुत सारे प्रोफाइल्स पर शेयर भी किया जाता है।

पड़ताल


विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल वीडियो को फ्रेम दर फ्रेम ध्यान देखा और सुना, यह वीडियो करीब साढ़े चार मिनट का है। वीडियो का बैकग्राउंड देखा जाए तो बैंड ग्रुप है और साथ ही बच्चा स्कूल ड्रेस में यह गाना गा रहा है।

उस वीडियो में बाद में साथ में आकर उनके पिता नदीम भी गाना गाते हुए नज़र आते है ( वीडियो के काउंटर संख्या 3 : 15 से लेकर 3 : 57 के बीच नदीम अब्बास साथ गाते हुए नज़र आते है) उस वीडियो को यहाँ देख सकते हैं।

इस वीडियो को सबसे पहले हमने गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च करके देखा तो हमें इस तरह के दावे के साथ बहुत सारी पोस्ट हाथ लगी जिसमें करीब-करीब एक जैसे दावे किये गए थे जैसे ” यह एक सेना अधिकारी का बेटा है उनके पिता का उग्रवादियों के खिलाफ अभियान में निधन हो गया। खबर सुनने पर उसकी मां सदमे से मर गई|

यह एक बोर्डिंग आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़ रहे हैं।” गूगल के प्लेटफॉर्म पर हमने कुछ की वर्ड्स लगा कर इस बच्चे की सच्चाई तक पहुंचने की कोशिश की। सबसे पहले हमें इस बच्चे का नाम पता चला, इसका नाम गुलाम -ए – मुर्तुज़ा है।

फिर हमने इसका सोशल प्रोफाइल खंगालना शुरू किया। इस दौरान हमारे हाथ इसका फेसबुक प्रोफाइल लग गया, जहाँ पर अबाउट अस में बच्चे की डिटेल में लिखा था- वह एक सिंगर है।


हमने पूरा प्रोफाइल देखना शुरू किया तो हमें यह वीडियो मिल गया और उसके डिस्क्रिप्शन में लिखा हुआ था वहां पर एक पोस्ट भी मिली जिसमें उन्होंने लिखा था कि वह गायक के बेटे है न की शहीद के और उनके पिता ज़िंदा हैं। थोड़ा आगे बढ़ने पर हमें उसकी तस्वीर एक शख्स के साथ मिली जो इस बच्चे के पिता हैं और नाम है – नदीम अब्बास जो खुद पेशे से सिंगर हैं। हमने फिर नदीम अब्बास का प्रोफाइल चेक किया।


नदीम अब्बास के प्रोफाइल पर ज़्यादातर पोस्ट उनके बेटे गुलाम -ए – मुर्तुज़ा की वीडियोज एल्बम की थी। हमने इसके बाद गूगल पर नदीम और गुलाम -ए – मुर्तुज़ा के नाम का कीवर्ड लगाकर सर्च करना शुरू किया। हमें यूट्यूब पर एक टीवी शो का वीडियो मिला जिसमें इस बच्चे गुलाम -ए – मुर्तुज़ा का इंटरव्यू था और उसने यह गाना भी गया है।


प्रोफाइल में हमें एक दावा भी मिला। करीब तीन साल पहले जब यह दावा वायरल हुआ तो गुलाम-ए-मुर्तज़ा ने अपने फ़ेसबुक पेज पर इसके गलत होने और उनके पिता के स्वस्थ होने की पुष्टि भी की थी। गुलाम -ए – मुर्तुज़ा कहा था, “मेरे पिता ज़िंदा हैं और एक बेहतरीन गायक हैं। मैं उनका बेटा होने पर गर्व करता हूँ। मेरे पिता आर्मी अफसर नहीं हैं पर वे किसी आर्मी अफसर से कम भी नहीं हैं। मैं अपने पिता और दादा शहज़ाद अख़्तर के साथ इस स्टेज पर प्रदर्शन कर रहा हूँ। आप लोगों से विनम्र निवेदन है कि इस तरह के फ़र्ज़ी पोस्ट को फ़ेसबुक या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आगे न बढ़ाएं। मैं अपने पिता और परिवार से प्यार करता हूँ | कृपया शेयर करें ।”

हुआ क्या था –

एक हादसा हुआ था जिसने पूरी दुनिया में सुर्खियां बटोरी, उसी हादसे की याद में इस नन्हे बच्चे ने यह गाना अपनी एल्बम में गाया। पाकिस्तान के पेशावर शहर में एक सैनिक स्कूल में तालिबान के हमले में 132 बच्चों समेत 140 से ज़्यादा लोग मारे गए थे।


और इस खबर को दुनिया के मानचित्र पर बड़े हादसे के तौर पर कवर भी किया गया |

ये गाना ” बाबा मेरे बाबा ” कब गाया गया ?


पेशावर आर्मी पब्लिक स्कूल पर आतंकी हमला होने के बाद लाहौर में मृतकों और शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम के दौरान विनम्र श्रद्धांजलि देते हुए मुर्तज़ा ने यह गाना गया था। जब यह गाना रिकॉर्ड किया गया था तब बच्चे की उम्र 4 साल थी |

सारे तथ्य जुटाने के बाद हमने सीधा गुलाम-ए-मुर्तज़ा के पिता नदीम अब्बास से पाकिस्तान लाहौर में फ़ोन पर बात की और उनसे इस मसले पर तमाम जानकारी ली। उन्होंने विश्वास टीम को बताया, “यह मेरा बेटा है और यह भी सिंगर है। यह वीडियो गलत दावे के साथ वायरल हो रहा है। यह गाना हमने पेशावर आर्मी स्कूल में हुए हादसे को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया था। यह वीडियो पाकिस्तान में बनाया गया और इस वीडियो में गुलाम -ए-मुर्तुज़ा को स्कूल की ड्रेस पहनाई गयी थी और इस वीडियो में मैं भी साथ नज़र आ रहा हूँ और साथ में गाना भी गाया है और मेरे वालिद साहेब भी इसमें शामिल है। यह गाना मैंने खुद रिकॉर्ड किया था फिर मेरे बेटे ने इसको गाया। यह हमारी तरफ से ट्रिब्यूट सॉन्ग था।”

फेसबुक पेज “indore ajab gajab page” की सोशल स्कैनिंग की जिस पर यह वीडियो अपलोड किया गया था और यह प्रोफाइल अक्सर ज़्यादातर पोस्ट शेयर करता है और इस वीडियो को काफी लोगो ने शेयर भी किया |

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि स्टेज पर गाना गाते हुए पाकिस्तानी बच्चे का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल हो रहा है। वीडियो में दिख रहा बच्चा दरअसल एक पाकिस्तानी सोशल मीडिया स्टार है जिसके पिता भी गायक हैं और यह वीडियो पाकिस्तान का है।

पूरा सच जानें…
सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : शहीद के बेटे ने गाया गाना
  • Claimed By : indore ajab gajab page
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later