X

Quick Fact Check : कर्नाटक की तस्‍वीर फिर से यूपी के नाग वासुकी मंदिर के नाम से वायरल

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में प्रयागराज के नाग वासुकी मंदिर के नाम से वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। कर्नाटक के उत्‍सव रॉक गार्डन की एक तस्‍वीर को कुछ लोग प्रयागराज के नाम पर वायरल कर रहे हैं।

  • By Vishvas News
  • Updated: July 25, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया में एक बार फिर से एक तस्‍वीर वायरल हो रही है। इसे प्रयागराज के नाग वासुकी मंदिर का बताया जा रहा है। व‍िश्‍वास न्‍यूज एक बार पहले भी इसकी जांच कर चुका है। हमें पता चला कि यह तस्‍वीर कर्नाटक की है। वहां के उत्‍सव रॉक गार्डन की तस्‍वीर को कुछ लोग प्रयागराज के नाम पर वायरल कर रहे हैं। विश्‍वास न्‍यूज की पुरानी पड़ताल यहां क्लिक करके पढ़ें।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर अमृत हजारिका ने 18 जुलाई को एक तस्‍वीर को पोस्‍ट करते हुए इसे प्रयागराज के नाग वासुकी मंदिर का बताते हुए अंग्रेजी में लिखा : ‘This is not a tree. It is matchless carved in stone. No one knows who is the sculptor. This is in Naga Vasuki temple, Prayag. We always feel proud about Tajmahal, ignoring vast cultural heritage which remained unnoticed even today. Please zoom and watch the beauty of carving.’

फेसबुक पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन यहां देखा जा सकता है। इस तस्‍वीर को दूसरे यूजर्स भी काफी ज्‍यादा वायरल कर रहे हैं।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की पड़ताल के लिए ऑनलाइन टूल्‍स का इस्‍तेमाल किया। गूगल रिवर्स इमेज टूल के जरिए हमें पता चला कि यह तस्‍वीर कर्नाटक के उत्‍सव रॉक गार्डन की है। इसे यहां देखा जा सकता है। उत्‍सव रॉक गार्डन की वेबसाइट पर मौजूद गैलरी में वैसी ही तस्‍वीर मिली, जो अब फिर से वायरल रही है। इसमें बताया गया कि यह ARTISTIC BANYAN TREE है।

विश्‍वास न्‍यूज से बातचीत में प्रयागराज के श्रीधर्म ज्ञानोपदेश संस्कृत महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य ज्योतिर्विद आचार्य देवेंद्र प्रसाद त्रिपाठी ने बताया कि नाग वासुकी मंदिर में न तो ऐसा कोई वृक्ष
है और न ही ऐसी कोई कलाकृति है।

पड़ताल के अंत में विश्‍वास न्‍यूज ने फेक पोस्‍ट करने वाली यूजर की जांच की। फेसबुक यूजर Amrit Hazarika असम का रहने वाला है। एक खास राजनीतिक दल से जुड़ाव वाले इस शख्‍स को 853 लोग फॉलो करते हैं।

विश्‍वास न्‍यूज की पुरानी पड़ताल को विस्‍तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में प्रयागराज के नाग वासुकी मंदिर के नाम से वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। कर्नाटक के उत्‍सव रॉक गार्डन की एक तस्‍वीर को कुछ लोग प्रयागराज के नाम पर वायरल कर रहे हैं।

  • Claim Review : प्रयागराज के नाग वासुकी मंदिर की तस्‍वीर
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Amrit Hazarika
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later