X

Fact Check : CNN का एडिटेड स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ हुआ वायरल

विश्वास न्यूज की पड़ताल में CNN के स्क्रीनशॉट को लेकर वायरल दावा गलत निकला। सीएनएन के स्क्रीनशॉट को एडिट कर वायरल किया जा रहा है। सीएनएन द्वारा ये खबर प्रकाशित नहीं की गई है।

  • By Vishvas News
  • Updated: May 16, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर सीएनएन की खबर का एक स्क्रीनशॉट शेयर कर दावा किया जा रहा है कि सीएनएन द्वारा प्रकाशित खबर के मुताबिक, रशियन सेना ने एक गोदाम में आग लगा दी, जिसमें बच्चे और औरतें थी। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। सीएनएन के स्क्रीनशॉट को एडिट कर वायरल किया जा रहा है। सीएनएन द्वारा ये खबर प्रकाशित नहीं की गई है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर सैम आर्मस्ट्रांग ने वायरल स्क्रीनशॉट को शेयर किया है जिस पर लिखा है, “रशियन सेना ने यूक्रेन के कीव शहर में मौजूद एक गोदाम में आग लगा दी, जिसमें बच्चे और औरतें मौजूद थे। रशियन सेना ने उन्हें जिंदा जला दिया।”

फैक्ट चेक के उद्देश्य से फेसबुक पोस्ट के तथ्य को हूबहू लिखा गया है। इसके आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल –

वायरल स्क्रीनशॉट की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कई कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया, लेकिन हमे वायरल दावे से जुड़ी कोई रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई। फिर हमने सीएनएन की वेबसाइट और सोशल मीडिया अकाउंट्स को खंगालना शुरू किया, लेकिन हमें वायरल स्क्रीनशॉट से जुड़ी कोई खबर प्राप्त नहीं हुई।

हमने पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल स्क्रीनशॉट पर मौजूद तस्वीर गेट्टी इमेजेज पर मिली। वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, यह तस्वीर 1993 में यूएस के टेक्सास शहर में ली गई थी। जब ब्यूरो ऑफ अल्कोहल ने ब्रांच डेविडियंस के माउंट कार्मेल कंपाउंड पर छापा मारा था।

अधिक जानकारी के लिए हमने स्क्रीनशॉट को गौर से देखा और पाया कि इस पर लिखा हुआ है कि इसे कैटी बो लिलिइस, नताशा बरट्रांड, और बारबरा स्टार द्वारा लिखा गया है। फिर हमने कैटी बो लिलिइस से ट्विटर के जरिए संपर्क किया और वायरल स्क्रीनशॉट को उनके साथ शेयर किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा फर्जी है। उन्होंने इस तरह की कोई खबर प्रकाशित नहीं की है। यह स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

विश्वास न्यूज ने जांच के आखिरी चरण में उस प्रोफाइल की पृष्ठभूमि की जांच की, जिसने वायरल पोस्ट को साझा किया था। हमने पाया कि यूजर के फेसबुक पर 351 फ्रेंड्स हैं। सैम आर्मस्ट्रांग न्यूयॉर्क के रहने वाले हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में CNN के स्क्रीनशॉट को लेकर वायरल दावा गलत निकला। सीएनएन के स्क्रीनशॉट को एडिट कर वायरल किया जा रहा है। सीएनएन द्वारा ये खबर प्रकाशित नहीं की गई है।

  • Claim Review : Russian Military Forces Set Fire to Compound Outside Kiev Occupied by Women and Children, Burning Them Alive.
  • Claimed By : Sam Armstrong
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later