X

Fact Check: WHO ने बेकरी प्रोडक्ट्स को खाने से नहीं मना किया, फर्जी पोस्ट हो रही वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 8, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि लोगों को बेकरी प्रोडक्ट्स खाना बंद कर देना चाहिए। इसमें कहा गया है कि बेकरी उत्पादों को धोया नहीं जा सकता इसलिए ये आसानी से वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। इस पोस्ट में बेकरी उत्पादों की तस्वीर के साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के लोगो का भी इस्तेमाल किया गया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह वायरल पोस्ट फर्जी निकली है।

क्या है वायरल पोस्ट में

सोशल मीडिया पर वायरल इस पोस्ट में लिखा है, ‘बेकरी आइटमों को खाना बंद करें! इस बात की सलाह सख्ती से दी जा रही है कि बेकरी आइटमों को न खाएं क्योंकि इन्हें धोया नहीं जा सकता और ये आसानी से वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।’ इस पोस्ट में कुछ बेकरी उत्पादों की तस्वीर के साथ WHO के लोगो का इस्तेमाल किया गया है। इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में यह जानने की कोशिश की कि क्या WHO ने बेकरी उत्पादों के सेवन को लेकर ऐसा कोई दावा किया है या नहीं। WHO के ‘Advice for Public‘ पेज पर कोरोना वायरस से बचाव के लिए ये उपाय बताए गए हैं:

बार-बार हाथ धोएं
सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखें
आंख, नाक, मुंह को छूने से बचें
अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में तकलीफ है तो मेडिकल सलाह तुरंत लें
स्वास्थ्य देखभाल करने वाले की सलाह मानें और जागरूक रहें

हमने इस मामले की आगे पड़ताल की। हम यूनाइटेड स्टेट्स फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर (FDA) की वेबसाइट पर पहुंचे। यहं बताया गया है, ‘फिलहाल ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है कि खाने या खाद्य पदार्थों की पैकेजिंग से COVID-19 फैल सकता है।’

इसमें आगे कहा गया है, ‘ऐसा हो सकता है कि किसी शख्स को कोरोना का संक्रमण इसलिए हो जाए, क्योंकि उसने किसी ऐसी चीज को या सतह को छूने के बाद अपने मुंह, नाक या आंख को छू दिया है जिसपर वायरस है। हालांकि, हमें नहीं लगता कि इस समय वायरस फैलने की यह कोई मुख्य वजह है।’

हमें WHO श्रीलंका के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट मिला। इसमें कहा गया है कि WHO ने बेकरी आइटमों को खाने से मना नहीं किया है।

WHO श्रीलंका ने इसी स्पष्टीकरण को अपने फेसबुक पेज पर भी पोस्ट किया है:

हमने इस मामले में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के भारत प्रतिनिधि से भी बात की। उन्होंने बताया कि ये वायरल पोस्ट WHO की तरफ से नहीं जारी किया गया है।

हमने वायरल पोस्ट में मौजूद तस्वीर पर रिवर्स इमेज सर्च का इस्तेमाल किया। इस तस्वीर का इस्तेमाल ब्रिटिश बेकर वेबसाइट के एक आर्टिकल में किया गया है जिसका टाइटल Coronavirus: Bakers take action in face of pandemic है।

इस आर्टिकल में कहीं भी WHO की उस कथित एडवाइजरी का जिक्र नहीं है कि बेकरी उत्पाद का सेवन नहीं करना है।

हमने इस वायरल पोस्ट को शेयर करने वाले पेज Oye की सोशल स्कैनिंग की। फैक्ट चेक करने तक इस पेज के 3161 फॉलोअर्स थे।

Disclaimer: कोरोनावायरसफैक्ट डाटाबेस रिकॉर्ड फैक्ट-चेक कोरोना वायरस संक्रमण (COVID-19) की शुरुआत से ही प्रकाशित हो रही है। कोरोना महामारी और इसके परिणाम लगातार सामने आ रहे हैं और जो डाटा शुरू में एक्यूरेट लग रहे थे, उसमें भी काफी बदलाव देखने को मिले हैं। आने वाले समय में इसमें और भी बदलाव होने का चांस है। आप उस तारीख को याद करें जब आपने फैक्ट को शेयर करने से पहले पढ़ा था।

निष्कर्ष: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बेकरी उत्पादों के सेवन से मना नहीं किया है। वायरल पोस्ट फर्जी है।

  • Claim Review : WHO ने बेकरी प्रोडक्ट्स को खाने से मना किया
  • Claimed By : FB Page: Oye
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later