X

Fact Check: पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी का पुराना वीडियो झूठे दावे से वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: May 25, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया पर पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का एक वीडियो वायरल हो रहा है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि यूपीए सरकार में जब मनमोहन सिंह पीएम थे तो उनकी इज्जत नहीं थी और उन्हें साइडलाइन कर दिया गया था। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा झूठा निकला है। यह वीडियो 2017 का है और तब डॉक्टर मनमोहन सिंह पीएम नहीं थे। इस वीडियो में तब श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे अपनी भारत यात्रा के दौरान पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी से मिले थे।

क्या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर Rajiv Kumar Sharma ने 21 मई 2021 को Anurag Thakur – Pride Of Himachal नाम के फेसबुक ग्रुप में इस वीडियो को शेयर किया। इसके साथ अंग्रेजी में लिखा गया है, ‘काफी खेदजनक वीडियो, देखिए उन्होंने तब के पीएम MMS को कैसे साइडलाइन किया।’

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो को सबसे पहले InVID टूल में डाल इसके कीफ्रेम्स निकाले। कीफ्रेम्स की सहायता से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें इससे मिलते-जुलते कई परिणाम मिले। हमें वायरल वीडियो के कीफ्रेम्स से मिलता हुआ थंबनेल NNIS – News नाम के यूट्यूब चैनल पर अपलोड वीडियो में मिला। यह वीडियो 26 अप्रैल 2017 को अपलोड किया गया था। इसमें बताया गया है कि तब श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे भारत की चार दिवसीय यात्रा पर आए थे और उन्होंने डॉक्टर मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इस यूट्यूब पोस्ट में 12 सेकंड के बाद से वायरल वीडियो को देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने यहां से मिली जानकारी के आधार पर इस वीडियो के बारे में इंटरनेट पर और सर्च किया। हमें न्यूज एजेंसी एएनआई के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 26 अप्रैल 2017 को किया गया एक ट्वीट मिला। इस ट्वीट में रानिल विक्रमसिंघे, मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी के बीच हुई मुलाकात का जिक्र है। इसके साथ लगाई गई तस्वीर वायरल वीडियो से बिल्कुल मेल खाती है। इस ट्वीट को यहां नीचे देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो को कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव बीपी सिंह के साथ शेयर किया। उन्होंने भी पुष्टि करते हुए बताया कि यह वीडियो तबका है, जब डॉक्टर मनमोहन सिंह पीएम नहीं थे। उन्होंने बताया, ‘कांग्रेस ने डॉक्टर मनमोहन सिंह जैसे अपने नेताओं को हमेशा हाई रिगार्ड दिया है। वह दो बार देश के पीएम रहे हैं। दुनिया के शीर्ष नेताओं में डॉक्टर मनमोहन सिंह का नाम भी लिया जाता है।’

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर Rajiv Kumar Sharma की प्रोफाइल को स्कैन किया। यूजर ने अपनी जानकारियों को पब्लिक नहीं किया है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा झूठा निकला है। यह वीडियो 2017 का है और तब डॉक्टर मनमोहन सिंह पीएम नहीं थे। इस वीडियो में तब श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे अपनी भारत यात्रा के दौरान पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी से मिले थे।

  • Claim Review : जब मनमोहन सिंह पीएम थे तो उनकी इज्जत नहीं थी और उन्हें साइडलाइन कर दिया गया था।
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Rajiv Kumar Sharma
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later