X

Fact Check: फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा अफवाह, मॉक ड्रिल का वीडियो गलत दावे से वायरल

फरीदाबाद मेट्रो स्ट्रेशन पर किसी आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा गलत है। सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेने के लिए सीआईएसएफ की तरफ फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर किए गए मॉक ड्रिल के वीडियो को सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 27, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र के फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर एक आतंकी को गिरफ्तार किया गया है। दावा किया जा रहा है कि सीआईएसएफ (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) ने एक ऑपरेशन के तहत मेट्रो स्टेशन से संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है।

हमारी जांच में यह दावा गलत निकला। वायरल हो रहा वीडियो फरीदाबाद (एनएचपीसी) मेट्रो स्ट्रेशन पर किए गए मॉक ड्रिल यानी किसी खतरे से निपटने के लिए की जाने वाली सुरक्षा तैयारियों को जांचने का है। फरीदाबाद मेट्रो स्ट्रेशन से किसी आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा गलत और मनगढ़ंत है।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Laxman Jaat Palwal’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”फरीदाबाद में एक आतंकी गिरफ्तार। फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन।”

सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को करीब तीन हजार से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं। सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल वीडियो में फरीदाबाद मेट्रो स्ट्रेशन पर आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा किया गया है। अगर,ऐसी कोई घटना हुई होती तो राष्ट्रीय खबर होती। हालांकि, न्यूज सर्च में हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें ऐसी किसी घटना की जानकारी दी गई हो, बल्कि कोई पुरानी रिपोर्ट्स भी नहीं मिली, जिसमें ऐसी किसी घटना का जिक्र हो।

सोशल मीडिया सर्च में हमें यह वीडियो कई यू-ट्यूब चैनलों पर अपलोड हुआ मिला। ‘Faridabad News’ नामक न्यूज चैनल ने 24 जून 2022 को समान वीडियो को अपलोड करते हुए बताया है कि यह फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर सीआईएसएफ की मॉक ड्रिल से संबंधित है।

एक अन्य फेसबुक यूजर ने भी अपनी प्रोफाइल से समान वीडियो को शेयर करते हुए इसे फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर सीआईएसएफ के जवानों के मॉक ड्रिल का बताया है।

आम तौर पर सुरक्षा एजेंसियां समय-समय पर किसी संभावित खतरे से निपटने की दिशा में की जा रही अपनी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मॉक ड्रिल या छद्म अभ्यास का आयोजन करती है। फरीदाबाद पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्विटर यूजर्स को जवाब देते हुए किसी आतंकी को पकड़े जाने के दावे का खंडन किया है। ट्विटर यूजर ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा किया था।

फरीदाबाद पुलिस ने जवाब देते हुए कहा है कि वायरल हो रहा वीडियो सीआईएसएफ की तरफ से की गई मॉक ड्रिल का हिस्सा है। विश्वास न्यूज ने इस वीडियो को लेकर फरीदाबाद पुलिस के पीआरओ सूबे सिंह से संपर्क किया। उन्होंने कहा, ‘यह वीडियो मॉक ड्रिल का है, जिसकी पुष्टि एसएचओ मेट्रो ने की है।’

विश्वास न्यूज ने इसके बाद फरीदाबाद के पुलिस स्टेशन मेट्रो के इंस्पेक्टर मदन गोपाल से संपर्क किया। उन्होंने बताया, ‘सीआईएसएफ ने फरीदाबाद एनएचपीसी मेट्रो स्ट्रेशन पर मॉक ड्रिल का आयोजन किया था और यह वीडियो उसी का है।’ उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर लोग इसे आतंकी को गिरफ्तार किए जाने के दावे के साथ फैला रहे हैं। पुलिस ने ऐसे अफवाह फैलाने वाले लोगों को आगाह भी किया है।

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 300 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: फरीदाबाद मेट्रो स्ट्रेशन पर किसी आतंकी को गिरफ्तार किए जाने का दावा गलत है। सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेने के लिए सीआईएसएफ की तरफ फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर किए गए मॉक ड्रिल के वीडियो को सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन पर आतंकी गिरफ्तार
  • Claimed By : FB User-Laxman Jaat Palwal
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later