X

Fact Check: मणिपुरी बाल पर्यावरणविद लिसिप्रिया की तस्वीर विदेशी पर्यटक के भ्रामक दावे से वायरल

ताज महल के पीछे फैली गंदगी और प्रदूषण के बारे में ध्यान आकर्षित करती वायरल तस्वीर में नजर आ रही लड़की कोई विदेश पर्यटक नहीं है, बल्कि भारत के मणिपुर की निवासी और बाल पर्यावरणविद लिसिप्रिया कंगुजम हैं।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 24, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। ताज महल के पीछे फैली गंदगी और प्रदूषण के बारे में ध्यान आकर्षित करती हुई एक लड़की की तस्वीर सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में नजर आ रही लड़की विदेशी पर्यटक है, जिसने आगरा स्थित ताज महल के पीछे और यमुना नदी के किनारे फैली गंदगी को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को आईना दिखाने का काम किया है। विपक्षी दलों के नेता ने भी इस तस्वीर को शेयर करते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है।

विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में इस दावे को गलत पाया। वायरल हो रही तस्वीर में नजर आ रही लड़की भारतीय हैं और वह मणिपुर की रहने वाली हैं। लिसिप्रिया कंगुजम जलवायु परिवर्तन को लेकर काम करने वाली बाल पर्यावरणविद हैं। लिसिप्रिया कंगुजम जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर मैड्रिड में आयोजित यूनाइटेड नेशंस क्लाइमेट कॉन्फ्रेंस 2019 (COP25) को भी संबोधित कर चुकी हैं।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘MD Sarfaraz Shaikh’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”विदेशी पर्यटक भी भाजपा शासित योगी सरकार को आईना दिखाने को मजबूर हैं ,
भाजपा की सरकार में यमुना जी गंदगी से भरी पड़ी हैं ,ताजमहल को खूबसूरती पर ये गंदगी एक बदनुमा दाग है ,
विदेशी पर्यटक द्वारा सरकार को आईना दिखाना बेहद शर्मनाक है ,भारत और यूपी की ये छवि भाजपा सरकार ने बनाई है👇।”

सोोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर

कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

22 जून को समाजवादी पार्टी के डिजिटल मीडिया को-ऑर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने अपनी वेरिफाइड ट्विटर प्रोफाइल से वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है। इसी ट्वीट के बाद वायरल तस्वीर को सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर अन्य यूजर्स ने समान दावे के साथ शेयर करना शुरू कर दिया।

वायरल तस्वीर में एक लड़की नजर आ रही है, जिसके पीछे ताजमहल और यमुना नदी दिखाई दे रही है। लड़की ने अपने हाथों में एक बैनर पकड़ रखा है, जिस पर लिखा है, ‘Behind the beauty of Taj Mahal Is Plastic Polluton.’ (‘ताज महल की सुंदरता के पीछे प्लास्टिक प्रदूषण है।’)

इस ट्वीट को ‘Licypriya Kangujam’ ने अपनी वेरिफाइड ट्विटर प्रोफाइल से रिट्वीट करते हुए लिखा है, ”Hello Sir, I’m a proud Indian. I’m not a foreigner.” (”हैलो सर, मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं। मैं कोई विदेशी नहीं हूं।”)

हालांकि, इस खंडन के बाद भी मनीष जगन अग्रवाल ने अपने हैंडल से संबंधित ट्वीट (आर्काइव लिंक) को नहीं हटाया है। लिसिप्रिया कंगुजम ने अपनी आधिकारिक ट्विटर प्रोफाइल में स्वयं को भारतीय बाल पर्यावरणविद और क्लाइमेट एक्टिविस्ट बताया है। कंगुजम चाइल्ड मूवमेंट नामक संस्था की संस्थापक भी हैं। उन्होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर अपना बायो भी साझा किया है, जिसमें मौजूद जानकारी के मुताबिक, वह पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर की निवासी हैं।

Source-
https://www.licypriyakangujam.com/about/

कंगुजम की ट्विटर प्रोफाइल से लगातार पर्यावरण संरक्षण की दिशा में उनकी तरफ से किए जा रहे प्रयासों की तस्वीर को साझा किया जाता रहा है। ताज महल के पीछे फैली गंदगी की तस्वीर को साझा किए जाने के बाद स्थानीय प्राधिकरण हरकत में आया और उस जगह को पूरी तरह से साफ भी किया गया। लिसिप्रिया ने ट्वीट कर ताज महल के पीछे मौजूद उस जगह के वीडियो को जारी किया है, जिसे उनकी तरफ से आवाज उठाए जाने के साफ किया गया।

विश्वास न्यूज ने ट्विटर के जरिए उनसे संपर्क किया। हमने उनसे उनके मूलस्थान के बार में पूछा, जिसका जवाब देते हुए उन्होंने बताया, ‘मैं मणिपुर में पैदा हुई और दिल्ली में पली-बढ़ी हूं। यह पहली बार नहीं है, जब लोगों ने मुझे चीनी या विदेशी बुलाया हो। ऐसे लोग हमारे देश को विभाजित करने का काम करते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। पूर्वोत्तर भारत के लोगों के खिलाफ ऐसा नस्लीय दुर्व्यवहार बंद होना चाहिए। इसे किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता है। मैं इस प्रकरण को लेकर दुखी हूं। मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं, कोई विदेशी नहीं। मेरी अपनी पहचान, अपना नाम और अपनी कहानी है।’

निष्कर्ष: ताज महल के पीछे फैली गंदगी और प्रदूषण के बारे में ध्यान आकर्षित करती वायरल तस्वीर में नजर आ रही लड़की कोई विदेश पर्यटक नहीं है, बल्कि भारत के मणिपुर की निवासी और बाल पर्यावरणविद लिसिप्रिया कंगुजम हैं।

  • Claim Review : ताजमहल के पीछे गंदगी के बारे में बताती विदेशी पर्यटक
  • Claimed By : FB User- MD Sarfaraz Shaikh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later