X

Fact Check: शोरूम में चोरी के बाद आभूषणों की बरामदगी का वीडियो TTD बोर्ड के सदस्य जे शेखर रेड्डी के घर पर छापे के नाम पर वायरल

तमिलनाडु के वेल्लोर में शोरूम में हुई चोरी की घटना के बाद आभूषणों की बरामदगी के वीडियो को तिरुपति तिरुमाला देवस्थानम ट्रस्ट बोर्ड के सदस्य जे शेखर रेड्डी के घर पर पड़े आयकर विभाग के छापे के दौरान हुई बरामदगी का बताकर गलत दावे से वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 28, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में पुलिसकर्मियों को भारी मात्रा में बरामद सोने के आभूषणों के साथ देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टियों में से एक जी शेखर रेड्डी के घर और फार्म हाउस पर आयकर छापे के दौरान बड़ी मात्रा में सोने के आभूषण और नकदी के बरामद होने से संबंधित है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। वायरल हो रहा वीडियो वास्तव में तमिलनाडु के वेल्लोर में आभूषण के एक शोरूम से चोरी किए गए गहनों की बरामदगी का है। इसका तिरुपति तिरुमाला ट्रस्ट के सदस्य जे शेखर रेड्डी के घर पर पड़े छापे से कोई संबंध नहीं है। जी शेखर रेड्डी के घर पर वर्ष 2016 में आयकर का छापा पड़ा था और इसके बाद उन्हें तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम ट्रस्ट बोर्ड से हटा दिया गया था।

क्या हो रहा है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Vijay Krishna’ ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ”Dear friends,This is Mr J .Shekar Reddy , one of the 17 trustees of Tirupathi Tirumala Temple. IT officers raided his house and farm house. Rs 106 crores in cash was seized along with 127 kg gold biscuits, diamonds worth 60 crores❗😡Dear Tirupati Tirumala Bhaktas,Your Donation Fund and Gold is with J.Shekar reddy. Please see how smart and good looking,he is, the Tirupathi Tirumala Temple Trustee , IT officers rraided his home,he was caught with ₹ 106 Crore net cash and 127Kg Gold and ₹ 10 Cr worth New 2000 rupee notes.What about other 16 trustees of TTD..❓
सब मंदिर तीर्थ लूट व ठग के केन्द्र
सब मंदिर तीर्थ लूट व ठगौ के केन्द्र हैं, मूढ यह सोचता है कि हम पाप कर्म कर, नाम स्मरण वा तीर्थयात्रा करैगे तो पापौ से छुटकारा हो जायेगा, इस विश्वास पर पाप करता है और अपने जीवन का नाश करता है, किन्तु किया हुआ पाप भोगना पड़ता है, चाहे गंगा नहाओ, मन्दिरों मै प्रसाद चढाओ, पाप के दुष्परिणाम तो भोगने पड़ेंगे
तीर्थ उनको कहते हैं मनुष्य जिन्हें करके दुखौ से तरे, जल स्थल प्रयाग आदि, गंगा, क्षिप्रा नदी, अमर नाथ आदि तीर्थ कभी नहीं हो सकते, क्योंकि ये तारने वाले नहीं किन्तु डुबोकर मारने वाले हैं, गंगा आदि मै नहाने से अगर स्वर्ग जाना होता और पाप कर्म से मुक्त होता तो ये सारे मेंढक और कछुये, पानी के सांप और मगरमच्छ तथा अन्य सभी जलचर स्वर्गगामी हो जाते, ये सब पंडौ की छल लीला है, पंडित का छल, कपट, शोषण का व्यवसाय है, गंगा जैसी महान नदी का मुर्दा और कचरे डाल डाल कर सत्यानाश करा डाला
विद्याध्यन करना, विद्वानौ की संगत, मेहनत, निष्कपट, गुरु, अतिथि, माता पिता की सेवा, ध्यान, ज्ञान विज्ञान आदि शुभ गुण कर्म दुखौ से तारने वाले होने से तीर्थ हैं ।”

वायरल वीडियो का स्क्रीन शॉट

कई अन्य फेसबुक यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर भी कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इस वीडियो को समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल वीडियो में पुलिस अधिकारियों को बड़ी मात्रा में बरामद आभूषणों के साथ देखा जा सकता है। वीडियो के की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज करने पर इंडियन एक्सप्रेस की वेबसाइट पर 22 दिसंबर 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली, जिसमें इस्तेमाल की गई तस्वीर वायरल वीडियो से मेल खाती है।

इंडियन एक्सप्रेस की वेबसाइट पर 22 दिसंबर 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट

रिपोर्ट के मुताबिक, तमिलनाडु के वेल्लोर स्थित आभूषण के एक शोरुम में 15 दिसंबर को चोरी हुई थी और पुलिस ने इस मामले को सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया और चुराए गए गहनों को भी बरामद करने में सफल रही। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘चोरी की इस घटना में 15.9 किलोग्राम सोना और करीब आठ करोड़ रुपये की कीमत के डायमंड्स की चोरी हुई थी।’

कई अन्य रिपोर्ट्स में भी चोरी की इस घटना का जिक्र है। सर्च के दौरान ट्विटर पर हमें एएसपी वेल्लोर के हैंडल से किया गया ट्वीट मिला, जिसमें चोरी की इस घटना को सुलझाने के साथ बरामद आभूषणों के साथ पुलिस दल की तस्वीर को देखा जा सकता है।

इस पोस्ट में नजर आ रही तस्वीरें वायरल वीडियो से मेल खाती है। हमारी अब तक की पड़ताल से यह स्पष्ट है कि वेल्लोर में एक आभूषण की दुकान में हुई चोरी के बाद बरामद आभूषण के वीडियो को तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टियों में से एक सदस्य के घर पर पड़े आयकर छापे के दौरान बरामद आभूषण और रुपयों का बताकर वायरल किया जा रहा है।

इस वीडियो को लेकर हमने वेल्लोर के पुलिस अधीक्षक एस राजेश कन्नन से संपर्क किया। उन्होंने विश्वास न्यूज को बताया, ‘यह वीडियो तिरुपति तिरुमाला मंदिर के सदस्य जी शेखर रेड्डी के घर पर पड़े छापे से संबंधित नहीं हैं। वीडियो में नजर आ रहे आभूषण वेल्लोर में ज्वैलर शोरूम में हुई चोरी की घटना के बाद हुई बरामदगी की है।’

न्यूज सर्च में हमें कई पुरानी रिपोर्ट्स मिली, जिसमें चेन्नई के कारोबारी जे शेखर रेड्डी के घर पर पड़े छापे का जिक्र है। हिन्दुस्तान टाइम्स की वेबसाइट पर 11 दिसंबर 2016 को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, आयकर अधिकारियों ने जे शेखर रेड्डी के घर पर छापा मारा था और इस दौरान 106.52 करोड़ रुपये नकद और 127 किलोग्राम गोल्ड बरामद हुआ था। इस घटना के बाद रेड्डी को तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) ट्रस्ट बोर्ड से हटा दिया था।

हिंदुस्तान टाइम्स की वेबसाइट पर 11 दिसंबर 2016 को प्रकाशित रिपोर्ट

20 सितंबर 2019 को प्रकाशित द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, मद्रास हाई कोर्ट की तरफ से संबंधित मामले में तीन दर्ज एफआईआर में दो को खारिज किए जाने और एक में चार्जशीट दाखिल नहीं किए जाने का हवाला देते हुए शेखर रेड्डी ने 2019 में आंध्र प्रदेश सरकार से खुद को फिर से बोर्ड में शामिल किए जाने का अनुरोध किया था। इस अनुरोध को स्वीकार करते हुए उन्हें फिर से बोर्ड में शामिल कर लिया गया।

द हिंदू की वेबसाइट पर 20 सितंबर 2019 को प्रकाशित रिपोर्ट

सोशल मीडिया पर अन्य यूजर्स ने समान दावे के साथ चार तस्वीरों को शेयर किया है, जिसमें से एक तस्वीर वायरल वीडियो से ही संबंधित है।

समान दावे के साथ वायरल हो रही अन्य तस्वीरें

बाकी तीनों तस्वीरों की हमने बारी-बारी से पड़ताल की। दो तस्वीरों में नोटों के बंडल और फर्श पर बिखरे पड़े नोट नजर आ रहे हैं। रिवर्स इमेज सर्च में हमें यह दोनों तस्वीरें रिपब्लिक वर्ल्ड के यू-ट्यूब चैनल पर 27 दिसंबर 2021 को अपलोड वीडियो बुलेटिन में मिला।

वीडियो के थंबनेल में भी इन दोनों वायरल तस्वीरों को देखा जा सकता है। दी गई जानकारी के मुताबिक यह वीडियो उत्तर प्रदेश के कन्नौज में पीयूष जैन के घर पर पड़े छापे में बरामद हुई नकदी की तस्वीर है।

सोने के बिस्किट वाली तस्वीर

रिवर्स इमेज सर्च में हमें यह तस्वीर CNN-News18 के यू-ट्यूब चैनल पर 29 दिसंबर 2021 को अपलोड किए गए वीडियो बुलेटिन में मिला।

दी गई जानकारी के मुताबिक यह तस्वीर पीयूष जैन के घर पर पड़े छापे के दौरान जब्त किए गए गोल्ड की है। हमारी पड़ताल से यह स्पष्ट है कि तिरुपति तिरुमाला देवस्थानम ट्रस्ट बोर्ड के सदस्य जे शेखर रेड्डी के घर पर पड़े आयकर विभाग के छापे में हुई बरामदगी के नाम पर वायरल हो रही तस्वीरें अलग-अलग घटना से संबंधित हैं।

निष्कर्ष: तमिलनाडु के वेल्लोर में आभूषण शोरूम में हुई चोरी की घटना के बाद आभूषणों की बरामदगी के वीडियो को तिरुपति तिरुमाला देवस्थानम ट्रस्ट बोर्ड के सदस्य जे शेखर रेड्डी के घर पर पड़े आयकर विभाग के छापे के दौरान हुई बरामदगी का बताकर गलत दावे से वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : जे शेखर रेड्डी के घर पर छापे के दौरान बरामद हुआ सोना
  • Claimed By : FB User-Vijay Krishna
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later