X

Fact Check: अभिनेत्री कंगना रनोट का यह वीडियो है पुराना, भ्रामक दावे के साथ किया जा रहा है वायरल

विश्वास न्यूज़ की जाँच में वायरल वीडियो भ्रामक निकला। पुराने वीडियो को हालिया बताकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 17, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। आज कल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है, जिसमें कुछ महिलाओं की भीड़ को अभिनेत्री कंगना रनोट के पोस्टर पर स्याही लगाते और जूते-चप्पलों से पोस्टर की पिटाई करते हुए देखा जा सकता है। वीडियो को हालिया बताकर सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि देश की जनता ने कंगना रनोट की फोटो को जूते-चप्पलों से पीटा। दूसरे यूज़र्स भी इस वीडियो को हालिया मानकर वायरल कर रहे हैं। विश्वास न्यूज़ ने वायरल वीडियो की विस्तार से जाँच की और पाया कि यह वीडियो हालिया नहीं, बल्कि सितंबर 2020 का है, जब मुंबई में शिवसेना की थाणे स्थित शाखा आनंद मठ की महिला कार्यकर्ताओं ने अभिनेत्री कंगना रनोट के एक बयान के बाद उनके ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया था। ये प्रदर्शन कंगना के उस बयान के बाद हुआ था, जब उन्होंने कहा था कि मुंबई की स्थिति पाक अधिकृत कश्मीर जैसी है और उन्हें मुम्बई में रहने में डर लगता है। पुराने वीडियो को हालिया बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। 

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक पेज ” RZ News & Entertainment Network ” ने वायरल वीडियो को फेसबुक पर शेयर कर लिखा है ” Desh ki Janta Ne Kangana Ranaut ki photo ko jute chappal se pita…”

वीडियो के साथ ऊपर लिखा है,’ कंगना रनोट के खिलाफ देश की जनता में भारी आक्रोश, देश में भारी विनोद प्रदर्शन

सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर कर रहे हैं।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की सच्‍चाई जानने के लिए सबसे पहले ऑनलाइन टूल्‍स का इस्‍तेमाल किया। InVID टूल में वीडियो को अपलोड करके कई ग्रैब्‍स निकाले। फिर इन्‍हें गूगल रिवर्स इमेज सर्च में अपलोड करके खोजना शुरू किया। हमें etvbharat.com पर वायरल वीडियो 4 सितंबर 2020 को एक खबर में प्रकाशित मिला।

खबर के अनुसार, मुंबई में शिवसेना की थाणे स्थित शाखा आनंद मठ की महिला कार्यकर्ताओं ने अभिनेत्री कंगना रनोट के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया। ये विरोध प्रदर्शन कंगना के उस बयान के बाद हुआ, जिसमें उन्होंने कहा कि मुंबई की स्थिति पाक अधिकृत कश्मीर जैसी है और उन्हें मुम्बई में रहने में डर लगता है। प्रदर्शनकारियों ने अभिनेत्री के खिलाफ नारेबाजी की और कहा कि अगर वह यहां असुरक्षित महसूस करती हैं तो वह शहर और राज्य छोड़ दें। पूरी खबर यहाँ पढ़ें।

timesofindia.indiatimes.com की एक खबर के वीडियो में इस प्रोटेस्ट की तस्वीर को थंबनेल के रूप में इस्तेमाल किया था। 6 सितंबर 2020 को प्रकाशित कर लिखा गया था: Kangana Ranaut’s father demands security for her daughter ‘पूरी खबर यहाँ पढ़ें। 

ABP Live के फेसबुक पेज पर 4 सितंबर 2020 को कंगना के खिलाफ हुए इस प्रोटेस्ट से जुड़े वीडियो को देखा जा सकता है। वीडियो को अपलोड कर लिखा गया था; Women supporters of Shiv Sena stage protest against Kangana ” वीडियो को यहाँ देखें।

मामले में अधिक जानकारी के लिए हमने मिड डे मुंबई के सीनियर कॉरेस्पॉन्डेंट समीउल्लाह खान से सम्पर्क किया। उनके साथ वायरल वीडियो भी शेयर किया। उन्होंने हमें बताया की यह वीडियो पुराना है जब कंगना रनोट ने ‘पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर’ से मुंबई की तुलना की थी, तब उनके खिलाफ शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया था। उन्होंने कहा कि यह वीडियो हालिया नहीं है, पुराना है।

जाँच के अंत में हमने इस वीडियो को शेयर करने वाले फेसबुक पेज की सोशल स्कैनिंग की। सोशल स्कैनिंग में हमें पता चला कि इस फेसबुक पेज को 40,440 लोग फॉलो करते हैं और पेज को 26 जनवरी, 2020 को बनाया गया था।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की जाँच में वायरल वीडियो भ्रामक निकला। पुराने वीडियो को हालिया बताकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : Desh ki Janta Ne Kangana Ranaut ki photo ko jute chappal se pita...
  • Claimed By : फेसबुक पेज
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later