X

Fact Check: पीएम मोदी और ममता बनर्जी की यह तस्वीर एडिटेड और फर्जी है, मूल तस्वीर को एडिट कर किया जा रहा दुष्प्रचार

  • By Vishvas News
  • Updated: July 22, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे कई पोस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को फूल देते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि दोनों नेताओं की यह तस्वीर मुलाकात के दौरान की है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह तस्वीर फर्जी साबित हुई। मूल तस्वीर में पीएम ने ममता बनर्जी की ओर अपना हाथ बढ़ाया था और इसी तस्वीर को एडिट कर दुष्प्रचार की मंशा के साथ उसे वायरल किया रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Hindu परिवार’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर किया है, जिसमें पीएम मोदी एक हाथ में किताब और दूसरे हाथ में फूल पकड़े दिखाई दे रहे हैं। तस्वीर में पीएम मोदी को ममता बनर्जी को फूल देते हुए दिखाया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी और ममता बनर्जी की वायरल हो रही एडिटेड तस्वीर

ट्विटर यूजर ‘Nikhil Rajput’ ने भी इस तस्वीर (आर्काइव लिंक) को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

https://twitter.com/nikhil834rajput/status/1415521115883982849

इस तस्वीर को करीब 100 लोगों ने वास्तविक मानते हुए उसे रिट्वीट भी किया है। सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने इस तस्वीर को सच मानते हुए उसे अपनी प्रोफाइल से शेयर किया है। ट्विटर पर चले हैशटैग ‘दीदी आ रही हैं’ में इस तस्वीर को कई यूजर्स की प्रोफाइल पर देखा जा सकता है।

तस्वीर की सच्चाई का पता लगाने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली। सर्च में इससे मिलती-जुलती तस्वीरें कई न्यूज वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में लगी मिलीं, लेकिन किसी भी तस्वीर में पीएम के हाथों में फूल नहीं था।

इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 2 मई 2021को प्रकाशित रिपोर्ट में ओरिजिनल तस्वीर को देखा जा सकता है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ममता बनर्जी की तरफ हाथ बढ़ाते हुए नजर आ रहे हैं। टेलिग्राफ इंडिया की वेबसाइट पर भी 29 मई 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट में इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है।

इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 2 मई 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट में लगी तस्वीर

उपरोक्त दोनों की रिपोर्ट में इस तस्वीर का इस्तेमाल फाइल फोटो के तौर पर किया गया है। वास्तविक संदर्भ का पता लगाने के लिए हमने एक बार फिर से गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली।

सर्च में हमें इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 23 जनवरी 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट में यह तस्वीर लगी मिली। न्यूज एजेंसी पीटीआई की तरफ से जारी की गई इस तस्वीर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, यह फोटो कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान की है, जहां पीएम मोदी और ममता बनर्जी ने मंच साझा किया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती के मौके पर शनिवार (23 जनवरी 2021) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेताजी को श्रद्धांजलि देने कोलकाता गए थे। वह बोस की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित ‘पराक्रम दिवस’ समारोह को संबोधित करने गए थे और इसी कार्यक्रम के दौरान उनकी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात हुई थी।

पश्चिम बंगाल को कवर करने वाले पत्रकार गौतम लहरी से हमने इस तस्वीर को साझा किया है। प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के पूर्व प्रेसिडेंट गौतम लहरी ने कहा, ‘वायरल फोटो फेक है, इसे एडिट कर बनाया गया है। उन्होंने कहा कि मोदी जी की कोई ऐसी फोटो नहीं है, जिसमें उन्होंने ममता बनर्जी को गुलाब दिया हो। सीएम ही स्वागत आदि के समय पीएम को गुलदस्ता देते हैं। पीएम कभी सीएम को फूल आदि भेंट नहीं करते हैं।”

वायरल तस्वीर को शेयर करने वाले पेज को फेसबुक पर करीब 13 हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की वायरल हो रही तस्वीर एडिटेड है, जिसमें उन्हें ममता बनर्जी को फूल देते हुए देखा जा सकता है। मूल तस्वीर को एडिट कर दुष्प्रचार की मंशा के तहत उसे वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : ममता बनर्जी को फूल भेंट करते हुए पीएम मोदी
  • Claimed By : FB Page-Hindu परिवार
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later