नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। फेसबुक पर आजकल एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें भाजपा के कार्यकर्ताओं को हाथ में बैनर लेकर नारा लगाते हुए देखा जा सकता है। बैनर पर एक नारा भी लिखा हुआ है- “गली गली में शोर है, चौकीदार ही चोर है”| इस तस्वीर को जांचने पर हमने पाया कि यह तस्वीर फोटोशॉप्ड है।

पड़ताल

वायरल हो रही फोटो में कुछ लोगों को बीजेपी के झंडे लिए देखा जा सकता है। इस तस्वीर में जुलूस निकलते देखा जा सकता है और लोगों ने अपने गलों में केसरिया रंग के गमछे भी डाले हुए हैं जिनपर बीजेपी का चुनाव चिह्न कमल अंकित है। देखने से ज़ाहिर है कि यह बीजेपी की रैली है। किसी भी पॉलिटिकल पार्टी की रैली में उसी पार्टी के खिलाफ बैनर लगना बड़ी बात है इसलिए हमने अपनी पड़ताल शुरू की। 

हमने वायरल तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर उसे गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। गूगल रिवर्स इमेज सर्च द्वारा मिले परिणाम में हमें August 02, 2018 को ‘द वीक’ मैगज़ीन पर यह तस्वीर मिली।

भाजपा कार्यकर्ताओं के हाथ में दिखाई देने वाला “गली गली में शोर है चौकीदार ही चोर है” लिखा हुआ यह पोस्टर तथा द वीक के वेबसाइट पर पोस्ट की गई तस्वीर, इन दोनों तस्वीरों में काफ़ी समानताएं दिखती हैं। बारीकी से जांच करने पर हमने पाया कि द वीक द्वारा अपलोड की गयी तस्वीर को फोटोशॉप का इस्तेमाल करके छेड़छाड़ की गई है, जो कि आप नीचे देख सकते है।

मूल फोटो में, जो कि द वीक के वेबसाइट पर प्रकाशित की गयी है, हम देख सकते है कि बैनर पर बंगाली भाषा में नारा लिखा हुआ है, जिसका हिंदी अनुवाद है – ‘ भाजपा के सत्ता में आने पर नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स को लागू करके अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों को बाहर निकालेंगे।’

द वीक के खबर में लिखा गया है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा ने एक मार्च निकाला, जिसमें राज्य में नागरिकों के लिए राष्ट्रीय रजिस्टर (NRC) कानून को लागू करने की मांग की गई, ताकि पूर्वी राज्यों में “बांग्लादेश से आए घुसपैठियों” को बाहर निकाला जा सके।

इस खबर को कन्फर्म करने के लिए हमने वेस्ट बंगाल बीजेपी के चीफ दिलीप घोष के ऑफिस में बात की और उनके स्टाफ ने हमें बताया कि वायरल हो रही तस्वीर फोटोशॉप्ड है। उन्होंने हमें बताया कि 2 अगस्त, 2018 को वेस्ट बंगाल बीजेपी द्वारा दक्षिण कोलकाता देशप्रिया पार्क से मैदान क्षेत्र तक निकले गए मार्च की एक तस्वीर को फोटोशॉप करके बैनर पर गलत संदेश लिखा गया है। बैनर पर असल में लिखा था ‘हिंदू शरणार्थियों की रक्षा के लिए, भाजपा के सत्ता में आने पर नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स को लागू करके अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों को बाहर निकला जाएगा।’

March 17, 2019, को देबब्रोतो रॉय नामक एक युवक ने फेसबुक पर इस गलत तस्वीर को पोस्ट किया था। हमने इनके प्रोफाइल को स्कैन किया और पाया कि इनके इंट्रो के अनुसार, यह All India Trinamool Congress पार्टी के कार्यकर्ता हैं। इन्होने लिखा है कि वे पश्चिम बर्द्धमान जिला में तृमणूल यूथ कांग्रेस के सचिव हैं।

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के बाद हमने वायरल हो रही तस्वीर को गलत पाया है। असल में वायरल हो रही तस्वीर को फोटोशॉप का इस्तेमाल करके नारे के साथ भ्रमित करने के उद्देश्य से छेडछाड की गई है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : भाजपा की रैली में फहराया गया “चौकीदार ही चोर है” लिखा हुआ बैनर
Claimed By : Debabrata Roy
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here