X

Fact Check: पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की चुनावी रैली का एडिटेड वीडियो किया जा रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 5, 2021

विश्वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया पर पीएम मोदी का एक वीडियो वायरल किया जा रहा है। इस वीडियो के साथ यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि पीएम मोदी हाथों को उठाकर अभिवादन कर रहे हैं, लेकिन सामने भीड़ ही नहीं है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा झूठा साबित हुआ है। पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की एक चुनावी रैली का वीडियो एडिट कर गलत दावे से वायरल किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल

सोशल मीडिया यूजर्स अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर पीएम मोदी का एक 17 सेकंड का वीडियो वायरल कर रहे हैं। ऐसे एक Samiran Das नाम के ट्विटर हैंडल ने 2 अप्रैल 2021 को इस वायरल वीडियो को शेयर किया है। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने तंजात्मक लहजे में लिखा है कि जिन्हें भीड़ नहीं दिख रही, वो अपनी आंखों का इलाज कराएं।

इस ट्वीट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

यही वायरल वीडियो पश्चिम बंगाल यूथ कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी शेयर किया गया है।

इस ट्वीट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो को गौर से देखा। इस वीडियो में कोई साउंड नहीं मिला। इसके अलावा इसकी क्वॉलिटी ठीक नजर नहीं आ रही है। पीएम मोदी जैसी शख्सियतों के लिए जारी होने वाले वीडियो अच्छी क्वॉलिटी के होते हैं। विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले जरूरी कीवर्ड्स की मदद से पीएम मोदी की हालिया चुनावी रैलियों के बारे में जानने की कोशिश की।

हमें 1 अप्रैल 2021 को टाइम्स ऑफ इंडिया के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर ये वीडियो मिला। ये वीडियो पश्चिम बंगाल के जयनगर में हुई पीएम मोदी की चुनावी रैली का है। वीडियो के शीर्षक में बताया गया है कि रैली जाने वाले रूट पर लोगों की भीड़ ने पीएम का स्वागत किया। इस वीडियो का शुरुआती 17 सेकंड ही वायरल वीडियो में है। फर्क सिर्फ इतना ही कि असल वीडियो में जहां भीड़ और लोगों का शोर-नारेबाजी देखी-सुनी जा सकती है, वहीं दूसरा वीडियो ब्लर और म्यूट कर दिया गया है। इस वीडियो को यहां नीचे देखा सकता है।

विश्वास न्यूज को कीवर्ड्स से सर्च करने पर य़ही वीडियो बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट मिला। बीजेपी ने एक अप्रैल 2021 को यह वीडियो पोस्ट किया है। इसमें भी लोगों की भीड़ देखी जा सकती है।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल वीडियो को यूपी भाजपा वरिष्ठ प्रवक्ता हरीशचंद्र श्रीवास्तव संग शेयर किया। उन्होंने वीडियो संग किए जा रहे दावे को फर्जी बताते हुए कहा कि पीएम मोदी की रैलियों में उमड़ने वाली भीड़ जगजाहिर है। उन्होंने आगे बताया, ‘ये एडिटेड वीडियो है। आप पार्टी मंच से शेयर किए गए आधिकारिक वीडियो को देख सच जान सकते हैं। ये राजनीतिक विरोधियों का एक प्रॉपेगैंडा है।’

विश्वास न्यूज ने इस वायरल वीडियो को शेयर करने वाले ट्विटर यूजर Samiran Das की प्रोफाइल को स्कैन किया। प्रोफाइल पर दी गई जानकारी के मुताबिक यूजर शिलॉन्ग के रहने वाले हैं। फैक्ट चेक किए जाने तक इस प्रोफाइल के 480 फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में पीएम मोदी के वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा झूठा साबित हुआ है। पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की एक चुनावी रैली का वीडियो एडिट कर उसमें से भीड़ को ब्लर कर दिया गया है।

  • Claim Review : पीएम मोदी हाथों को उठाकर अभिवादन कर रहे हैं, लेकिन सामने भीड़ ही नहीं है।
  • Claimed By : ट्विटर यूजर Samiran Das
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later