X

Fact Check : पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के निधन को लेकर उड़ी अफवाह

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट फर्जी साबित हुई। विश्वास न्यूज की पड़ताल में सामने आया कि प्रकाश सिंह बादल को गैस्ट्राइटिस और ब्रोन्कियल अस्थमा की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अभी उनकी हालत स्थिर है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 18, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के निधन से जुड़ी एक पोस्ट वायरल हो रही है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल का निधन हो गया है।

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट फर्जी साबित हुई। जांच में पता चला कि प्रकाश सिंह बादल को गैस्ट्राइटिस और ब्रोन्कियल अस्थमा की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल वे घर आ चुके हैं। 18 जून को खबर लिखे जाने तक की उनकी हालत स्थिर है।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर, “कुलविंदर सिंह ” ने 15 जून को एक पोस्ट शेयर किया है, जिसमें पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल की तस्वीर के साथ लिखा हुआ है ,”पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का हुआ देहांत “

सोशल मीडिया पर कई यूजर्स इसी तरह के दावों के साथ इस पोस्ट को खूब वायरल कर रहे हैं। पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल की मौत से जुड़ी पोस्ट की सच्चाई का पता लगाने के लिए विश्वास न्यूज ने सबसे पहले गूगल सर्च का इस्तेमाल किया था। हमने संबंधित कीवर्ड से गूगल पर सर्च किया। हमें प्रकाश सिंह बादल के निधन से जुड़ी कोई खबर नहीं मिली, पर कई न्यूज़ रिपोर्ट्स में उनके मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती होने की खबर मिली। 13 जून 2022 को पंजाबी जागरण में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, “पंजाब के पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके प्रकाश सिंह बादल को पेट की समस्या से पीड़ित होने के बाद मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के सूत्रों के अनुसार, 95 वर्षीय प्रकाश सिंह बादल को पेट संबंधी कुछ परेशानियां थी, लेकिन उनकी हालत में सुधार हो गया है।”

punjabilokchannel.com की वेबसाइट पर 13 जून 2022 को प्रकाशित रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, “हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने फोर्टिस अस्पताल में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से मुलाकात की। अकाली दल द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, बादल को शनिवार में अस्पताल में भर्ती कराया गया था।”

यहाँ से हमने अपनी जाँच को आगे बढ़ाया। हमें 12 जून 2022 को सुखबीर सिंह बादल का एक ट्वीट मिला। ट्वीट में सुखबीर बादल ने प्रधानमंत्री का धन्यवाद करते हुए ट्वीट में लिखा, आपकी प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद, बादल साहब को कल रूटीन मेडिकल टेस्ट के लिए अस्पताल ले जाया गया था। परमात्मा की मेहर से उनकी हालत स्थिर है।”

प्रकाश सिंह बादल के निधन और सेहत को लेकर उड़ रही अफवाहों के बारे में जानकारी देते हुए फोर्टिस अस्पताल के ट्विटर हैंडल पर 12 जून 2022 को एक ट्वीट किया गया था। ट्वीट में दी गई जानकारी अनुसार ,”पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के स्वास्थ्य को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं। ट्वीट के मुताबिक, प्रकाश सिंह बादल की तबीयत स्थिर है और उन्हें जल्द ही छुट्टी दे दी जाएगी।

वायरल पोस्ट के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमने शिरोमणि अकाली दल के राजनीतिक सलाहकार सेक्रेटरी और प्रवक्‍ता चरणजीत सिंह बराड़ से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये पोस्ट फर्जी है। प्रकाश सिंह बादल पूरी तरह स्वस्थ हैं। उनकी सेहत को लेकर गलत अफवाह फैलाई जा रही है। प्रकाश सिंह बादल को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।

अंत में हमने फर्जी पोस्ट करने वाले यूजर की जांच की। हमें पता चला कि फेसबुक पर यूजर के 1.3K दोस्त हैं और यूजर कलसियां गांव का रहने वाला है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट फर्जी साबित हुई। विश्वास न्यूज की पड़ताल में सामने आया कि प्रकाश सिंह बादल को गैस्ट्राइटिस और ब्रोन्कियल अस्थमा की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अभी उनकी हालत स्थिर है।

  • Claim Review : पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल का निधन हो गया है।
  • Claimed By : Kulwinder Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later