X

Fact Check : श्‍मशान घाट की यह तस्‍वीर भोपाल की है, इसे गुजरात का बताकर किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 21, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव भले ही अपने अंतिम चरण में पहुंच गया हो, लेकिन अभी भी भ्रामक पोस्‍टों के वायरल होने का स‍िलस‍िला जारी है। मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल के श्‍मशान घाट की एक तस्‍वीर को गुजरात की बताकर वायरल किया जा रहा है। यूजर्स इस तस्‍वीर को वायरल करते हुए कह रहे हैं कि यह तस्‍वीर गुजरात की है, जहां भाजपा का राज है। क्‍या बंगाल में भी ऐसा राज चाहते हैं।

विश्‍वास न्‍यूज ने जब वायरल पोस्‍ट की जांच की तो यह भ्रामक साबित हुई। भोपाल के भदभदा श्‍मशान घाट की तस्‍वीर को गुजरात की बताकर सोशल मीडिया में फैलाया जा रहा है। हालांकि, पूरे देश से कोरोना वायरस के कारण ऐसी तस्‍वीरें आ रही हैं।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर मोहसिन अहमद खान ने 13 अप्रैल को एक पोस्‍ट को अपलोड करते हुए अंग्रेजी में दावा किया : ‘Dear People of Bengal…This is Gujarat ruled by bjp for last 25 years, Do you want bjp’s ‘Sonar Bangla’?’

यही लाइन तस्‍वीर के साथ भी लिखी हुई थी। दावा किया जा रहा है कि अंतिम संस्‍कार की यह तस्‍वीर गुजरात की है।

फेसबुक पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन यहां देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल की शुरुआत गूगल रिवर्स इमेज टूल से की। सबसे पहले वायरल ग्राफिक्स में इस्‍तेमाल तस्‍वीर को खोजना शुरू किया। सर्च से हमें ओरिजनल तस्‍वीर एक वेबसाइट पर मिली। stackumbrella.in नाम की इस वेबसाइट पर 12 अप्रैल को पब्लिश खबर में इस तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया था। खबर भोपाल में बेकाबू कोरोना को लेकर थी। पूरी खबर यहां पढ़ें। खबर में इस्‍तेमाल की गई तस्‍वीर में हमें 12 अप्रैल की तारीख भी नजर आई।

तस्‍वीर की तारीख के आधार पर हमने भोपाल से पब्लिश अखबारों के डिजिटल संस्‍करणों को खंगालना शुरू किया। चूंकि तस्‍वीर के ऊपर 12 अप्रैल की तारीख थी, तो हमने 13 अप्रैल के अखबारों को स्‍कैन करना शुरू किया। हमें वायरल तस्‍वीर भोपाल से प्रकाशित अखबार दैनिक भास्‍कर में मिली। तस्‍वीर को भदभदा विश्राम घाट की बताया गया है।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्‍वास न्‍यूज ने नईदुनिया भोपाल के फोटो जर्नलिस्‍ट अबरार अहमद से संपर्क किया। उनके साथ वायरल पोस्‍ट को वॉट्सऐप के माध्‍यम से शेयर किया। उन्‍होंने बताया कि यह भोपाल के भदभदा विश्राम घाट की तस्‍वीर है।

पड़ताल में पता चला कि देश के कोने-कोने से ऐसी खबरें आ रही हैं, जहां कोरोना के कारण मारे गए लोगों का इतने बड़े पैमाने पर अंतिम संस्‍कार हो रहा है। गुजरात के नाम पर वायरल तस्‍वीर भोपाल की है। इसका गुजरात से कोई संबंध नहीं है।

पड़ताल के अंत में फेसबुक यूजर मोहसिन अहमद खान की सोशल स्‍कैनिंग की गई। पता चला कि यूजर के 144 फ्रेंड हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में गुजरात के नाम पर वायरल श्‍मशान घाट की तस्‍वीर मप्र के भोपाल की निकली।

  • Claim Review : गुजरात की तस्‍वीर
  • Claimed By : Mohsin Ahmad Khan
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later