X

Fact Check: फिरोज गांधी के पिता का नाम जहांगीर फरदून था न कि युनूस खान, गलत दावे के साथ इंदिरा गांधी की तस्वीर वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: January 6, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी की तस्वीर फर्जी दावे के साथ वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के ससुर युनूस खान मौजूद हैं, जिनके बेटे फिरोज खान से इंदिरा गांधी का विवाह हुआ था।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी निकला। इंदिरा गांधी के पति का नाम फिरोज गांधी था, जो पारसी थे और उनके पिता का नाम जहांगीर फरदून था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर कनक मिश्र ने इंदिरा गांधी की एक पुरानी तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, ”मित्रों बहुत ही खोज करने के बाद यह फोटो प्राप्त हुआ है नेहरू के बिल्कुल दाएं तरफ जो खड़ा है वह है। #यूनुसखान_इंदिरा_का_ससुर जिसके पुत्र फिरोज खान से इंदिरा ने प्रेम विवाह किया था..बाद में कांग्रेस की राजनीति बचाने के लिए नेहरू और मोहनदास गांधी ने मिलकर #फिरोज_खान का नाम #फिरोज_गांधी रख दिया था।”

फेसबुक पर गलत दावे के साथ वायरल हो रही फर्जी पोस्ट

पड़ताल किए जाने तक इस तस्वीर को करीब 1000 लोगों ने शेयर किया है।

पड़ताल

गूगल रिवर्स इमेज करने पर हमें यह तस्वीर फोटो और वीडियो सेवा देने वाली alamy.com की वेबसाइट पर मिली। फोटो के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक इस तस्वीर में जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बगल में खड़े व्यक्ति रूसी आर्टिस्ट निकोलस रोरिक हैं और उनकी दाईं तरफ नजर आ रहे व्यक्ति मोहम्मद युनूस (युनूस खान) हैं।

जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, निकोलस रोरिक और युनूस खान (बाएं से दाएं)-Image Credit-alamy.com

livehistoryindia.com पर दी गई जानकारी के मुताबिक निकोलस 1923 में लंदन से मुंबई (तत्कालीन बॉम्बे) आए और फिर दार्जिलिंग गए। 1928 में वह हिमाचल प्रदेश के कुल्लु गए, जहां उन्होंने एक कॉटेज खरीदा और रहने लगे। यही पर देश के कई विद्वानों, कलाकारों और प्रमुख हस्तियों ने उनसे मुलाकात की, जिसमें जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी भी शामिल थे।

(बाएं से दाएं ) जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, निकोलस रोरिक और युनूस खान (मोहम्मद युनूस)

जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के साथ उनकी मुलाकात की यह तस्वीर 1944 की है। वरिष्ठ पत्रकार भी रशीद किदवई इसकी पुष्टि करते हैं। विश्वास न्यूज के साथ बातचीत में उन्होंने बताया, ‘रूसी कलाकार निकोलस के साथ नेहरू, इंदिरा गांधी और युनूस खान की यह तस्वीर 1944 के आस-पास की है।’

वायरल पोस्ट में तस्वीर में सबसे दाईं तरफ नजर आ रहे व्यक्ति के इंदिरा गांधी के ससुर युनूस खान होने का दावा किया जा रहा है, जो गलत है। तस्वीर में जिनके युनूस खान होने का दावा किया जा रहा है, वह युनूस खान ही है लेकिन वह इंदिरा गांधी के ससुर नहीं थे। ‘द ट्रिब्यून’ में जून 2017 में छपी रिपोर्ट में युनूस खान (मोहम्मद युनूस) की मृत्यु का जिक्र है। युनूस भारतीय विदेश सेवा के नौकरशाह थे, जो तुर्की, इंडोनेशिया, ईरान और स्पेन में भारत के राजदूत रहें।

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘युनूस जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के करीबी सहयोगी थे और इस वजह से वह उनके पारिवारिक दोस्त भी रहे।’ युनूस के बेटे आदिल शहरयार थे, जो इंदिरा गांधी के बेटे और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के दोस्त भी थे। मोहम्मद युनूस की मृत्यु 2001 में दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में हुई।

संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, इंदिरा गांधी की शादी फिरोज गांधी से हुई, जिनकी धार्मिक पहचान को लेकर अक्सर सोशल मीडिया पर प्रोपेगेंडा मैसेज फैलाया जाता रहा है।

रशीद किदवई ने बताया, ‘वास्तव में फिरोज गांधी पारसी थे, न कि मुस्लिम। जो तस्वीर वायरल हो रही है वह 1944 की है, जबकि इंदिरा गांधी की शादी 1942 में फिरोज गांधी से हो गई थी। फिरोज के पिता का नाम जहांगीर फरदून था।’

”Selected Works of Jawaharlal Nehru” में प्रकाशित नेहरू की एक चिट्ठी से भी इसकी पुष्टि होती है। इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी की शादी के मामले में नेहरू की यह कोशिश थी कि शादी के बाद उनकी बेटी हिंदू रहे और दूल्हा पारसी। 16 मार्च 1942 को ‘लक्ष्मी धर’ को लिखी चिट्ठी में नेहरू अपनी बेटी इंदिरा गांधी की शादी के दौरान हो रही इन्हीं जटिलताओं का जिक्र करते हैं।

‘फिरोज गांधी: ए पॉलिटिकल बायोग्राफी’ में दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘फिरोज गांधी का जन्म 12 सितंबर 1912 को पारसी परिवार में हुआ था और उनके पिता का नाम जहांगीर फरदून और माता का नाम रतिमाई था।’

यानी इंदिरा गांधी के ससुर का नाम जहांगीर फरदून था न कि युनूस खान, जैसा कि वायरल पोस्ट में दावा किया गया है।

विश्वास न्यूज ने इससे पहले नेहरू खानदान को लेकर जारी दुष्प्रचार की पड़ताल की थी, जिसे यहां पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: युनूस खान के इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी के पिता होने के दावे के साथ वायरल हो रही पोस्ट गलत है। युनूस खान नेहरू परिवार के करीबी थे, जबकि इंदिरा के पति फिरोज गांधी पारसी थे और उनके पिता का नाम जहांगीर फरदून था।

  • Claim Review : युनूस खान थे पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के ससुर
  • Claimed By : FB User- कनक मिश्र
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later