X

Fact Check: औघड़ साधु की पिटाई के दावे के साथ वायरल हो रहे वीडियो में पिट रहा व्यक्ति बहुरूपिया है

  • By Vishvas News
  • Updated: May 22, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में कुछ लोगों को एक ‘साधु’ को पीटते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि कुछ लोगों ने इस ‘साधु’ को इसलिए पीटा, क्योंकि वह ‘औघड़’ था और उसने कुछ कपड़े नहीं पहन रखे थे।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। वीडियो में नजर आ रहा व्यक्ति साधु के वेश में बहुरूपिया था, जिसकी पोल खुलने पर पिटाई हुई थी और इस मामले में पुलिस केस भी दर्ज हुआ था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पेज ‘Nishad Party News’ ने वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”एक अघोडी के निर्वस्त्र घूमने पर एक युवक ने की मानवता को सर्मसर, क्या उसे ये भी न पता कि अघोडी निर्वस्त्र ही रहते है, युवक ने बत्तमीजी का नाम देकर उसे बालो से पकड़ कर और डंडो से पीटा।”

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को करीब नौ हजार से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं और इसे अब तक करीब 45 लाख से अधिक व्यूज मिल चुके हैं।

पड़ताल

गूगल न्यूज सर्च में हमें 3 सितंबर 2018 को प्रकाशित एक न्यूज रिपोर्ट मिली, जिसमें इस घटना का विवरण है। सोशल मीडिया सर्च में हमें देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) की तरफ से पोस्ट किए गए एक पुराने ट्विटर पोस्ट का लिंक मिला, जिसमें इस घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

2 सितंबर 2018 को किए गए इस ट्वीट के मुताबिक, ‘सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति को नागा साधु बताते हुए कुछ लोगों द्वारा पीटने का एक वीडियो विभिन्न भ्रामक संदेशों के साथ वायरल किया जा रहा है। वास्तव में पकड़ा गया व्यक्ति बहुरूपिया है, जिसने एक युवती के साथ अशोभनीय हरकत की थी और इसके बाद युवती के भाई और स्थानीय लोगों ने उसे पकड़कर पटेलनगर थाने को सौंप दिया।’

देहरादून पुलिस की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, ’24 अप्रैल 2018 को वीडियो में नजर आ रहा साधु वेशधारी व्यक्ति सुशील नाथ छद्मवेश धारण कर भिक्षा मांगने का काम करता है और यह नशे का भी आदी है। यह व्यक्ति पूर्व में भी इस तरह की घटनाओं में संलिप्त रहा है।’

पुलिस के मुताबिक, ’24 अप्रैल 2018 को सुशीलनाथ पटेलनगर क्षेत्र के एक घर में घुसकर युवती से अशोभनीय हरकत करने लगा। इसके बाद युवती के भाई शुभम एवं स्थानीय लोगों ने उसे पकड़कर पटेलनगर थाने को सौंप दिया, जहां उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की गई।’

हमें 30 अगस्त 2018 को देहरादून वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की तरफ से किया गया एक और ट्वीट मिला, जिसमें वायरल वीडियो के स्क्रीन शॉट के साथ लोगों से इस वीडियो के साथ प्रचारित हो रहे फर्जी संदेश से सावधान रहने की अपील की गई है।

विश्वास न्यूज ने इस मामले को लेकर देहरादून के पटेल नगर के थाना प्रभारी से फोन पर बात की। थाना प्रभारी सूर्यभूषण नेगी ने बताया, ‘यह घटना काफी पुरानी है। औघड़ के वेश में घूम रहे व्यक्ति ने छेड़खानी की, जिसके बाद लोगों ने उसकी पिटाई कर उसे पुलिस को सौंप दिया था।’

नेगी ने बताया, ‘इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी कर उसे जेल भेजा गया था। वह फिलहाल जमानत पर बाहर है।’

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले फेसबुक पेज को करीब पांच हजार लोग फॉलो करते हैं।

Disclaimer- फेसबुक पेज ‘Nishad Party News’ की तरफ से पोस्ट किए गए एक वीडियो की जांच विश्वास न्यूज ने की थी, जिसमें दावा किया गया था कि लोगों ने एक नागा साधु को इसलिए पीटा क्योंकि उसने कोई कपड़े नहीं पहन रखे थ। फैक्ट चेक में यह दावा गलत निकला। 22 मई को फाइल की गई फैक्ट चेक की स्टोरी के बाद हमें 26 मई को पेज के एडमिन की तरफ से एक माफीनामा का ई-मेल मिला, जिसमें उन्होंने अपनी गलती मानते हुए वीडियो के साथ दी गई जानकारी में सुधार करते हुए रेटिंग में बदलाव किए जाने का आग्रह किया।  हमने अपनी जांच में पाया कि उनकी तरफ से दी गई जानकारी सही है। करेक्शन को लेकर तय SoP का पालन करते हुए हमारी तरफ से रेटिंग में बदलाव कर दिया गया है।

निष्कर्ष: औघड़ साधु की पिटाई के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो देहरादून में हुई 2 साल से अधिक पुरानी घटना से संबंधित है। वीडियो में जिस व्यक्ति के औघड़ साधु होने का दावा करते हुए उसकी पिटाई की बात की जा रही है, वह वास्तव में एक बहुरूपिया था और छेड़खानी के मामले में उसकी पिटाई हुई थी।

  • Claim Review : अघोड़ी के निर्वस्त्र घूमने पर लोगों ने की उसकी पिटाई
  • Claimed By : FB Page-Nishad Party News
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later