X

Fact Check: मुंबई हमले में शहीद तुकाराम ओंबले के नाम से वायरल हो रहा वीडियो एक फिल्म का सीन है

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। मुंबई पर हुए आतंकी हमले को लेकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में एक जख्मी पुलिसवाला नजर आ रहा है। दावा किया जा रहा है कि घायल पुलिसकर्मी तुकाराम ओंबले हैं, जो मुंबई हमले के दौरान मारे गए थे। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह पोस्ट भ्रामक निकला। दिवंगत तुकाराम ओंबले के नाम से जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह एक फिल्म का सीन है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर (Adv Manish Bhati) मनीष भाटी ने फेसबुक प्रोफाइल पर एक वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा है, ”The hero of 26/11

Even are being hit with 23 bullets, he captured Terrorist Kasab

A salute to this warrior Tukaram Omble

#MumbaiTerrorAttack

This vedio 😢❤️”

हिंदी में इसे ऐसे पढ़ा जा सकता है, ’23 गोली लगने के बावजूद उन्होंने आतंकी कसाब को पकड़ा। योद्धा तुकाराम ओंबले को नमन।’

पड़ताल

26 नवंबर 2008 को मुंबई पर आतंकी हमला हुआ था और हाल ही में इसकी पुण्यतिथि पर कई रिपोर्ट्स प्रकाशित हुई थीं। हमले के दौरान आतंकियों ने मुंबई के अलग-अलग इलाकों को निशाना बनाया था, जिसमें 174 लोग मारे गए थे। हमले की पुण्यतिथि पर प्रकाशित कई रिपोर्ट्स में इसका जिक्र किया गया है।

वायरल वीडियो के की-फ्रेम्स को रिवर्स इमेज करने पर हमें ‘’Eros Now Movies Preview’’ यू-ट्यूब चैनल पर 4 अगस्त 2016 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला, जिसमें इस सीन को देखा जा सकता है।

वीडियो के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक, ‘यह मूवी द अटैक्स ऑफ 26/11 का सीन है, जिसमें पुलिस स्कोडा कार में भाग रहे एक आतंकी को पकड़ने के लिए बैरिकेड लगाते हैं।‘

Erosnow.com की आधिकारिक वेबसाइट पर इस फिल्म को देखा जा सकता है। फिल्म के 11.20 मिनट से 12.53 तक के फ्रेम में वायरल वीडियो के क्लिप को देखा जा सकता है।

2013 में रिलीज हुई मूवी द अटैक्स ऑफ 26/11 का एक सीन

मुंबई हमले पर बनी फिल्म ”द अटैक्स ऑफ 26/11” 2013 में रिलीज हुई थी, जिसमें मुख्य कलाकार नाना पाटेकर थे।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण (एंटरटेनमेंट) के एडिटर पराग छापेकर ने बताया कि अक्सर लोग इस फिल्म के वीडियो को असली समझकर शेयर कर देते हैं। वास्तव में यह सुनील जाधव हैं, जिन्होंने इस फिल्म में तुकाराम का रोल प्ले किया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, तुकाराम गोपाल ओंबले मुंबई पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। वह मुंबई पुलिस में आने से पहले सेना में अपनी सेवा दे चुके थे। ओंबले ने अजमल कसाब को जिंदा पकड़ने में अपनी जान गंवा दी थी। कसाब, मुंबई आतंकी हमले में पकड़ा गया एकमात्र जिंदा आतंकी था, जिसे बाद में फांसी की सजा दी गई।

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र सरकार ने हमले में शहीद सभी 16 पुलिसकर्मियों को अशोक चक्र दिए जाने की सिफारिश की थी, लेकिन केंद्र ने इनमें से दो अधिकारियों हेमंत करकरे और तुकाराम ओंबले को मरणोपरांत अशोक चक्र देने का फैसला किया।

निष्कर्ष: मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए तुकाराम ओंबले के दावे के साथ वायरल हो रही वीडियो क्लिप असली नहीं, बल्कि इस घटना पर बनी फिल्म का एक सीन है।

  • Claim Review : 23 गोली लगने के बाद आतंकी कसाब को पकड़ने वाले शहीद तुकाराम ओंबले को नमन
  • Claimed By : FB user-Adv Manish Bhati
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later