X

Fact Check: कपिल देव ने किसान आंदोलन के समर्थन में यह बयान नहीं दिया, फर्जी पोस्‍ट हुई वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: February 10, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। पूर्व क्रिकेटर कपिल देव के नाम पर किसानों के आंदोलन से जुड़ा एक फर्जी बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि कपिल देव ने किसानों का समर्थन करते हुए कहा कि पिछले दिनों हिंदुस्तानी क्रिकेटरों ने किसानों से जुड़ा जो ट्वीट किया था, वह जय शाह के दबाव डालने पर किया गया था।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में हमने पाया कि कपिल देव ने किसानों के समर्थन में ऐसा कोई बयान नहीं दिया, जिसमें वह दावा कर रहे हों कि जय शाह के दबाव के कारण खिलाडियों ने किसान आंदोलन से जुड़े ट्वीट किये हैं। वायरल पोस्ट फर्जी है। कपिल देव के दफ्तर ने भी वायरल बयान को फ़र्ज़ी बताया है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

ट्विटर यूजर आलिम खान ने 7 फरवरी को एक पोस्ट ट्वीट करते हुए लिखा, “जय शाह के दबाव में किसानों के ख़िलाफ़ ट्वीट कर रहे हैं भारतीय खिलाड़ी : कपिल देव।”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले हमने कपिल देव के किसान आंदोलन से जुड़े बयान को सर्च किया। सर्च में हमें 4 फरवरी 2021 को इंडिया टीवी में पब्लिश हुई खबर में कपिल देव के ट्वीट के हवाले से बताया गया, ‘में उम्मीद करता हूँ की किसानों और सरकार के बीच चल रहा विवाद जल्द खत्म हो जाये। एक्सपर्ट्स को फैसला लेने दें।’ पूरी खबर में कहीं भी कपिल देव का किसान आंदोलन से जुड़ा वायरल फ़र्ज़ी बयान जैसा कुछ नहीं मिला।

हमें यह खबर 5 फरवरी को नवभारत टाइम्स में भी प्रकाशित हुई मिली, लेकिन यहाँ भी वायरल बयान जैसा कुछ नज़र नहीं आया।

किसानों के मुद्दे पर 4 फरवरी, 2021 कपिल देव की तरफ से किया गया मूल ट्वीट भी मिला, जिसमें लिखा है, “मैं भारत से प्यार करता हूं, मुझे उम्मीद है कि किसानों और सरकार के बीच चल रहे मसले जल्द से जल्द हल हो जाएंगे। विशेषज्ञों को तय करने दें। भारत निश्चित रूप से सुप्रीम है।”

https://twitter.com/therealkapildev/status/1357331786360102914

कपिल देव के ट्विटर स्कैनिंग में, हमें वायरल फर्जी बयान जैसा कोई ट्वीट नहीं मिला।

पोस्ट की पुष्टि करने के लिए, विश्वास न्यूज ने हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के खेल संपादक अभिषेक त्रिपाठी से संपर्क किया और उनके साथ वायरल पोस्ट को साझा किया। कपिल देव के दफ्तर के हवाले से उन्होंने कहा, “यह बयान फर्जी है। कपिल देव ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है।

फ़र्ज़ी बयान को शेयर करने वाले ट्विटर यूजर आलिम खान की सोशल स्कैनिंग से पता चला कि यूजर को 6174 लोग फॉलो करते हैं। यूजर के ट्विटर बायो के अनुसार, वह एक सियासी पार्टी से जुड़े हुए हैं। इसके अलावा मार्च 2019 में ट्विटर ज्वाइन किया है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में हमने पाया कि कपिल देव ने किसानों के समर्थन में बयान देते हुए यह नहीं कहा कि जय शाह के दबाव की वजह से खिलाडियों ने किसानों को लेकर ट्वीट किया था। वायरल हो रहा बयान फर्जी है। कपिल देव ने किसानों और सरकार के बीच चल रहे मसले को खत्म करने की कामना करते हुए ट्वीट किया था।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later